scriptKnow about Kashi s Ram Ramapati Bank why is it famous | काशी में एक अनोखा बैंक जहां राम नाम का मिलता है कर्ज, पूरी होती है मनोकामना | Patrika News

काशी में एक अनोखा बैंक जहां राम नाम का मिलता है कर्ज, पूरी होती है मनोकामना

काशी में एक कहावत प्रचलित है सात वार नौ त्योहार, तो यहां हर समय कोई न कोई त्योहार, मनाया ही जाता है। फिर अगर भगवान शंकर के भी पूज्य भगवान श्री राम की बात हो तो पूछना ही क्या? तो काशी में रामनवमी का पर्व भी बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है। अलबत्ता काशी में एक ऐसा अनोखा बैंक है जहां रुपये-पैसे का लेन-देन नहीं बल्कि राम नाम का कर्ज मिलता है। तो जानते हैं ये अनोखा बैंक क्या है, कैसे चलता है इसका काम-काज...

वाराणसी

Updated: March 28, 2022 02:16:22 pm

डॉ अजय कृष्ण चतुर्वेदी

वाराणसी. अवढर दानी भगवान शंकर की नगरी काशी के बारे में मान्यता है कि यहां समूचा ब्राह्मांड बसता है। त्रैलोक्य से न्यारी काशी के कण-कण में भोलेनाथ विद्यमान हैं। यहीं बाबा विश्वनाथ के पूज्य मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के बाल स्वरूप का विग्रह भी विद्यमान है। यहां श्रीकृष्ण जन्माष्टमी भी मनाई जाती है। उसके लिए गोपाल मंदिर भी है। फिर प्रभु श्री राम जो खुद भोलेनाथ के पूज्य हैं उनका जन्म और उनकी आराधना भला कैसे न हो। अरे यहां तो प्रभु श्री राम के नाम एक ऐसा मंदिर है जहां एक बैंक है भी है जहां खुलता है रामनाम का खाता। जमा होता है राम नाम का पुण्य। रामनवमी को यहां उमड़ते हैं लाखों राम भक्त। इस बार 10 अप्रैल को रामनमवमी है जिसके लिए इस मंदिर और बैंक में तैयारी शुरू हो चुकी है।
राम रमापति बैक स्थित भगवान श्री राम का विग्रह
राम रमापति बैक स्थित भगवान श्री राम का विग्रह
राम रमापति बैंक में जमा राम नाम की पर्चीकाशी के राम रमापति बैंक में जमा होती है रामनाम की पर्ची

काशी में शक्ति स्वरूपा मां दुर्गा के नौ विग्रह हैं जिनका शारदीय नवरात्र में दर्शन होता है तो नौ गौरियों का विग्रह भी है जिनका दर्शन वासंतिक नवरात्र में किया जाता है। नौ दिनों तक शक्ति की आराधना में लीन काशीवासी नवमी के दिन राम नवमी मनाते हैं। महा रामनवमी। ठीक उसी तरह जैसे शारदीय नवरात्र के बाद दशहरा मनाया जाता है। रामनवमी को राम जन्म का उत्सव भी पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन श्री काशी विश्वनविश्वनाथ गली में स्थित राम रमापति बैंक में लगती है राम भक्तों की कतार। इस मंदिर में जहां प्रभु राम के बाल स्वरूप प्रतिमा का दर्शन होता है वहीं बैंक में रामनाम की पर्ची जमा की जाती है।
राम रमापति बैंक में जमा राम नाम की पर्चीराम रमापति बैंक में खाता खोलते वक्त लिखाना पड़ता है मनोरथ

96 साल पुराना है यह मंदिर बताता जाता है कि तकरीबन 96 साल पहले 1926 में राम नाम का खाता खोलने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। लेकिन यहां हर किसी के लिखे राम नाम को जमा नहीं किया जाता। इसके लिए बाकायदा खाता खुलता है। खाता खोलने के लिए ठीक बैंक खाते के समान ही बैंक का फार्म भरा जाता है। इस फार्म पर अपना नाम-पता दर्ज करारने के साथ मनोरथ भी लिखना होता है। यह सब रिकार्ड बैंक की नियमावली की तरह गोपनीय होता है।
आसान नहीं खाता खुलवाना यहां खाता खुलवाना

यहां खाता खुलवाना आसान नहीं है। इसके लिए बैंक की अपनी नियमावली है। इसके तहत खाता धारक के आचार-विचार, मन, वचन और कर्म के साथ आहार-व्यवहार पर भी ध्यान दिया जाता है। इन सभी बंदिशों को पूरा करने की शपथ लेने वाला ही यहां खाता खोल सकता है। खाता खोलने के लिए बैंक से बाकायदा राम नाम लिखनने का कागज मिलता है। उस कागज पर राम नाम लिखना होता है। राम रमापति बैंक के महंत सुमित मेहरोत्रा बताते हैं कि राम नाम का कर्ज लेने वालों के लिए कुछ नियम हैं, जिसके तहत वह मदिरा, मांस, मछली, प्याज, लहसुन आदि का पूर्णतया परित्याग करना होता है।
बैंक से कर्ज लेकर पूरा भरने वाले भक्तों की मनोकामना जरूर पूर्ण होती है

ऐसा माना जाता है कि इस बैंक से कर्ज लेकर पूरा भरने वाले भक्तों की मनोकामना जरूर पूर्ण होती है। भक्त यहां से सवा लाख राम नाम का कर्ज रामनवमी के मौके पर लेता है और आठ महीने दस दिन यानी 250 दिन राम नाम लिख कर इसी बैंक में जमा करना पड़ता है। इस क्रिया को लखौरी कहते हैं। इस तरह सवा लाख बार राम का नाम लिखना होता है जिसके लिए राम बैंक की मुहर लगे कागज, लकड़ी की कलम और लाल स्याही बैंक की तरफ से मुफ्त में दी जाती है। इस अनोखे बैंक के बारे में बताया जाता है कि इस बैंक की शुरूआत में की गई थी। तब इस मबैंक में महज दो खातेदार थे। लेकिन आज यहां पूरे देश के एक लाख से ज्यादा लोग जुड़ चुके है। लोगों का विश्वास है कि यहां से जुड़ने के बाद उनके साथ सब कुछ अच्छा ही होता है। यहां अब तक 19 अरब के करीब श्रीराम नाम का कर्ज जमा हो चुका है।
ये है विश्वास, ये है प्रक्रिया

इस बैंक से जुड़े भक्तों का विश्वास है कि जिस राम नाम की पूंजी को वो यहां जमा करते हैं उससे उनका इह व पर लोक दोनों सुधर जाएगा। बैंक में जमा राम नाम की पूंजी का ब्याज संबंधित राम भक्त खाताधारक का परलोक बेहतर कर देगा। यह बैंक 24 घंटे खुला रहता है ताकि भक्त कभी भी आकर राम नाम का डिपाजिट कर सकें। श्री काशी विश्वनाथ गली स्थित इस राम रमापति बैंक में लगती है प्रभु राम के भक्तों की भीड़। मंदिर में जहां प्रभु राम के बाल रूप की प्रतिमा के दर्शन होते हैं वहीं रामनाम की पर्ची बैंक में जमा होती है। इस बैंक में भक्त अपनी आस्था का खजाना जमा करते हैं। आस्था के इस बैंक में जमा धन को न चोर चुरा सकता है न ही डकैत लूट सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

वाराणसी कोर्ट में सर्वे रिपोर्ट पर फैसला सुरक्षित, एडवोकेट कमिशनर ने 2 दिन का मांगा समय, SC में ज्ञानवापी का फैसला सुरक्षितAssam Flood: असम में बारिश और बाढ़ से भीषण तबाही, स्टेशन डूबे, पानी के बहाव में ट्रेन तक पलटीWest Bengal Coal Scam: SC ने ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक और रुजिरा की गिरफ्तारी पर रोक लगाई, दिल्ली की बजाय कोलकाता में पूछताछ करेगी EDराजस्थान BJP में सियासी रार तेज: वसुंधरा ने शायरी से साधा निशाना... जिन पत्थरों को हमने दी थीं धड़कनें, वो आज हम पर बरस...कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीक्रिकेट इतिहास के 5 सबसे लंबे गेंदबाज, नंबर 1 की लंबाई है The Great Khali के बराबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.