scriptdifference between the pcod and pcos in hindi | PCOS Vs PCOD: क्या आप भी PCOS और PCOD के बीच रहते हैं कंफ्यूज, जानिए कि इन दोनों के बीच में क्या है अंतर | Patrika News

PCOS Vs PCOD: क्या आप भी PCOS और PCOD के बीच रहते हैं कंफ्यूज, जानिए कि इन दोनों के बीच में क्या है अंतर

PCOS Vs PCOD: ज्यादातर महिलाएं पीसीओएस और पीसीओडी के बीच का डिफरेंस नहीं समझ पाती हैं, इनका यदि सही समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो स्वास्थ्य से जुड़ी कई सारी समस्यायों का सामना महिलाओं को करना पड़ सकता है, इसलिए जानिए इनके बारे में।

 

नई दिल्ली

Updated: May 27, 2022 03:58:30 pm

PCOS Vs PCOD: अक्सर महिलाएं पीसीओडी और पीसीओस के बीच में बहुत ही ज्यादा कन्फ्यूज़ हो जाती हैं, उन्हें लगता है कि ये दोनों समस्या एक ही है, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। इनका आमतौर पर मुख्य कारण होता है कि ये दोनों में हार्मोन्स से जुड़ी हुई होती हैं, लेकिन फिर भी इनके बीच बहुत ही ज्यादा अंतर होता है। इसलिए जानिए कि इन दोनों के बीच के अंतर का मुख्य कारण कौन-कौन से हो सकते हैं।
क्या आप भी PCOS और  PCOD के बीच रहते हैं कंफ्यूज, जानिए कि इन दोनों के बीच में क्या है अंतर
PCOS Vs PCOD
 
सबसे पहले जानिए कि पीसीओडी क्या होता है
पीसीओडी का मतलब होता है पॉलीसिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर, इसमें अंडाशय टाइम से पहले ही एग्स को रिलीज करता है, इसके होने पर अक्सर महिलाओं के ओवरी का साइज का आकार बड़ा हो जाता है, पीसीओडी की बात करें तो ये महिलाओं में एण्ड्रोजन यानि पुरुष हार्मोन के अधिकता होने का विकार है।
 
पीसीओएस क्या होता है
पीसीओएस का मतलब होता है कि पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम, ये एक गंभीर बीमारी होती है। इसकी बात करें तो इसमें मेटाबॉलिक और हार्मोनल इम्बैलेंस ज्यादा होता है, इनके होने का खतरा उन महिलाओं को ज्यादातर होता है जिन्हें समय से पीरियड्स नहीं आते हैं, ये समस्या वहीं अनुवांशिक भी हो सकती है। पीसीओडी की तुलना में वहीं पीसीओएस में ज्यादा तेजी से वजन बढ़ता है।
 
जानिए पीसीओडी और पीसीओएस के लक्षणों के बारे में
- बाल का टूटना व झड़ जाना
-वजन का तेजी से बढ़ना
-पीरियड्स कभी भी सही समय में न होना
-पिम्पल्स या एक्ने की समस्या का होना
-अनियमित ब्लीडिंग पैटर्न होना
 
जानिए पीसीओडी और पीसीओएस के लक्षणों के बारे में
-पीसीओएस एक विकार है, ये वहीं हार्मोनल डिसऑर्डर का कारण भी बन सकता है, जबकि वहीं पीसीओडी इसके शुरुआत के लक्षणों में एक है।
-पीसीओडी एक सामान्य स्थिति है, इसे आमतौर पर लाइफस्टाइल को ठीक करके सही किया जा सकता है, लेकिन पीसीओडी वहीं एक गंभीर बीमारी है।
-पीसीओएस की स्थिति में ज्यादातर कंसीव करने में कई सारी समस्यायों का सामना करना पड़ सकता है, वहीं पीसीओडी में कंसीव किया जा सकता है।
-पीसीओएस का इलाज यदि सही समय पर नहीं किया जाता है तो कैंसर की स्थिति दो गुना ज्यादा बढ़ सकती है, वहीं पीसीओएस में प्रेगनेंसी के दौरान डायबिटीज होने का खतरा बना रहता है।
-डाइट टिप्स को सही तरीके से फॉलो करके पीसीओडी को सही किया जा सकता है, वहीं पीसीओएस एक मेटाबॉलिक डिसऑर्डर है, इसमें खान-पान, लाइफस्टाइल के साथ दवाइयों के सेवन की भी जरूरत होती है।

यह भी पढ़ें: इन वजहों से होती है टीबी की बीमारी, जानें इस संक्रामक रोग से खुद का कैसे करें बचाव
इन दोनों समस्यायों को कैसे ठीक किया जा सकता है
इन दोनों ही परिस्थितियों में डाइट और लाइफस्टाइल के ऊपर खासतौर पर ध्यान रख के, डाइट रूटीन, रोजाना व्यायाम करके सही किया जा सकता है। लेकिन फिर भी यदि आपको समस्यायों का सामना करना पड़ रहा है तो डॉक्टर्स से भी जरूर संपर्क करना चाहिए, कोशिश करें कि जरूरत से ज्यादा स्ट्रेस न लें वरना समस्याएं कम होने के बजाय और भी ज्यादा बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें: अधिक समय तक बिस्तर पर लेटे रहने से और एक्सरसाइज न करने से हो सकते हैं ये जानलेवा रोग, जानिए कैसे करें बचाव
डिस्क्लेमर- आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल सामान्य जानकारी प्रदान करते हैं। इन्हें आजमाने से पहले किसी विशेषज्ञ अथवा चिकित्सक से सलाह जरूर लें। 'पत्रिका' इसके लिए उत्तरदायी नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूममनी लॉन्ड्रिंग मामले में सत्येंद्र जैन को बड़ी राहत, कोर्ट ने हिरासत अवधि बढ़ाने से किया इनकार, जानिए क्या बताई वजहRajasthan Invest Summit : कांग्रेस शासित राजस्थान में 1.68 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी में Rahul Gandhi के 'Double A'Ram Nath Kovind Vrindavan Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन पहुंचे, सीएम योगी ने किया स्वागत, जानें पूरा कार्यक्रमExclusive Interview: राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को किस आधार पर जीत की उम्मीद और क्या बोले आदिवासी महिला के खिलाफ उम्मीदवारी परकभी सीएम नीतीश कुमार के खास माने जाने वाले RCP सिंह ने क्यों कहा- 'मैं किसी का हनुमान नहीं'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.