scriptUnited Nations Security Council was held on this day in 1946 | संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पहली बैठक 1946 में आज ही के दिन हुई थी | Patrika News

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पहली बैठक 1946 में आज ही के दिन हुई थी

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संयुक्त राष्ट्र के 6 प्रमुख अंगों में से एक अंग है, जिसका उत्तरदायित्व है अन्तरराष्ट्रीय शान्ति और सुरक्षा बनाए रखना।

Updated: January 17, 2022 11:53:13 am

साल के 365 दिनों को देखें तो हर दिन कोई न कोई इतिहास छुपा है। ठीक वैसे ही आज साल का 17 वां दिन भी इतिहास के पन्ने में दर्ज है। इस दिन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की पहली बैठक 1946 में हुई थी। 17 जनवरी, 1946 को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पहली बैठक लंदन के चर्च हाउस में हुई थी। UNSC वैश्विक शांति और सुरक्षा जैसे अंतरराष्ट्रीय मामलों को देखता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 1\5 स्थाई और 10 अस्थाई सदस्य होते हैं।
United Nation
United Nation
क्या करता है संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद?

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संयुक्त राष्ट्र के 6 प्रमुख अंगों में से एक अंग है, जिसका उत्तरदायित्व है अन्तरराष्ट्रीय शान्ति और सुरक्षा बनाए रखना।

कितने सदस्यों से बना है UNSC?

सुरक्षा परिषद में 15 सदस्य है जिनमें 5 स्थायी और 10 अस्थायी (प्रत्येक 2 वर्ष के लिए)। चीन, फ्रांस, रूस, ग्रेट ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका इसके 5 स्थायी सदस्य हैं। बाकी 10 सदस्य क्षेत्रीय आधार के अनुसार दो साल की अवधि के लिए समसनी सभा द्वारा चुने जाते हैं। इन पाँच देशो को कार्यविधि मामलों में तो नहीं पर विधिवत मामलों में प्रतिनिषेध शक्ति है। इसका अर्थ है कि सुरक्षा परिषद के बहुमत द्वारा स्वीकृत कोई भी प्रस्ताव इन 5 में से किसी भी एक देश के असहमत होने पर उस प्रस्ताव का पारण रोका जा सक्ता है।

यह भी पढ़ें

UN ने चेताया- Corona से भारत में दूसरी लहर जैसी तबाही की आशंका, मौतों को लेकर कही चौंकाने वाली बात

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद बनाने का उद्देश्य

पहले विश्व युद्ध से पहले अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शांति बनाए रखने के प्रयासों के तहत पेरिस पीस कॉन्फ्रेंस के साथ लीग ऑफ नेशन की स्थापना हुई थी। हालांकि, कई युद्ध के बीच ये निकाय अंतरराष्ट्रीय विवादों को हल करने में विफल रहा। 1 जनवरी 1942 को अमेरिका, सोवियत संघ और चीन ने अटलांटिक चार्टर का समर्थन करने वाले एक पत्र हस्ताक्षर किया जिसे बाद में संयुक्त राष्ट्र घोषित कर दिया गया। मार्च, 1945 तक कुल 47 सरकारों ने भी हस्ताक्षर किए थे। अंतर्राष्ट्रीय संगठन पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन उसी वर्ष हुआ था और UN स्वयं 24 अक्टूबर, 1945 को अस्तित्व में आया था। हालाँकि, UNSC की पहली बैठक अगले वर्ष 17 जनवरी को हुई थी।

UNSC की भूमिका यूएन चार्टर में निर्धारित की गई है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पास वैश्विक शांति को भंग करने वाले किसी भी तरह के खतरे की जांच करने का अधिकार है। इसके साथ ये किसी भी समस्या शांतिपूर्ण समाधान के लिए न केवल सिफारिश करता है बल्कि किसी भी देश को आर्थिक नाकेबंदी, डिप्लोमेटिक संबंधों को तोड़ने या सैन्य बल का इस्तेमाल करने की अनुमति दे सकता है।

यह भी पढ़ें

भारत अगस्त माह में संयुक्‍त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की संभालेगा कमान



सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: हैदराबाद ने पंजाब को जीत के लिए दिया 158 रनों का लक्ष्यकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.