scriptIsrael-Hamas War: इजरायली महिला के नग्न शव की परेड निकालते हमास के आतंकियों की तस्वीर ने जीता अवॉर्ड, लोगों का फूटा गुस्सा | Photo of Hamas terrorists parading naked Israeli woman won Award | Patrika News
विदेश

Israel-Hamas War: इजरायली महिला के नग्न शव की परेड निकालते हमास के आतंकियों की तस्वीर ने जीता अवॉर्ड, लोगों का फूटा गुस्सा

Israel-Hamas War: हमास के आतंकियों ने इजरायल की इस महिला के साथ बर्बरता के साथ गैंगरेप किया था इसके बाद उसे कई गंभीर यातनाएं देने के बाद उसके नग्न शव की परेड निकाली, जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर तो वायरल हुई ही थी साथ ही इस तस्वीर ने हमास की अमानवीयता और बर्बरता को पूरी दुनिया के सामने लाकर झकझोर दिया था।

Mar 29, 2024 / 04:30 pm

Jyoti Sharma

Hamas parading naked body of israeli woman

Hamas parading naked body of israeli woman

7 अक्टूबर को इजरायल पर हमास (Hamas Attack on Israel) ने अचानक हवाई और जमीनी हमला किया था। दो से तीन दिनों तक इजरायल में हमास के आतंकियों ने जो दहशतगर्दी मचाई थी उसे देख-सुनकर हर किसी के रोंगटे खड़े हो गए थे। इसमें सबसे ज्यादा झकझोर देने वाली घटनाएं महिलाओं और बच्चों के साथ घटित हुई थीं (Israel Hamas War) जिन्हें हमास ने अंजाम दिया था। ऐसी ही एक घटना को दिखाती तस्वीर ने सर्वश्रेष्ठ तस्वीर का पुरस्कार जीता है Hamas parading naked body of Israeli woman) लेकिन इस तस्वीर के पुरस्कार जीतने की खबर भी अब दो धड़ों में बंट गई है। समाज के एक बड़ा वर्ग इस तस्वीर को पुरस्कार देने की घोर निंदा कर रहा है।

https://twitter.com/persianjewess/status/1773220532982538426?ref_src=twsrc%5Etfw

गैंगरेप के बाद महिला के नग्न शव की निकाली थी परेड

जिस महिला के नग्न शव की हमास के आतंकियों ने परेड निकाली उसकी उम्र 23 साल थी। उसका नाम सनि लौक था। हमास के आतंकियों ने इस महिला का पहले गैंगरेप किया फिर उसे कई शारीरिक और यौन यातनाएं दी जिससे उसकी मौत हो गई। हमास के आतंकियों का इससे भी नहीं भरा तो उन्होंने बेहद शर्मनाक और अपमानजनक तौर पर महिला के नग्न शव को खुली जीप (Hamas parading naked body of Israeli woman) में रखकर परेड निकाली। जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर तो वायरल हुई ही साथ ही इसने हमास की अमानवीयता और बर्बरता को पूरी दुनिया के सामने लाकर झकझोर दिया था। ये तस्वीर उन (Israel Hamas War) 20 फोटो में से थी जिसने अंतर्राष्ट्रीय न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस को पिक्चर्स ऑफ द ईयर जैसे अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार श्रेणियों में से एक में पहला पुरस्कार जीतने में मदद की थी।

https://twitter.com/RJI?ref_src=twsrc%5Etfw

लोगों ने कहा पत्रकारिता के लिए आज काला दिन

ये अवॉर्ड मिसौरी स्कूल ऑफ जर्नलिज्म में डोनाल्ड डब्ल्यू रेनॉल्ड्स पत्रकारिता संस्थान की तरफ से दिया जाता है। इस तस्वीर को ये अवॉर्ड मिला है जैसे ही ये खबर (Hamas Attack on Israel) सोशल मीडिया पर आई तो ये आग की तरह फैल गई। बड़ी संख्या में लोग इस अवॉर्ड पर बिफर गए हैं। कई यूजर्स ने कहा है कि ये बेहद शर्मनाक और अपमानजनक है। ये एक बीमार होती मानसिकता को दिखाता है और ये पत्रकारिता के लिए एक ब्लैक डे की तरह है। किसी ने तो इसे नग्नता को प्रचारित करने वाली मानसिकता तक करार दिया।

https://twitter.com/ADOGEB_LTD/status/1773637627813515492?ref_src=twsrc%5Etfw
https://twitter.com/hashtag/October7?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw

इंस्टाग्राम पर फोटो तक किया था पोस्ट

इस मामले की संवेदनशीलता को इसी से समझा जा सकता है कि जब आयोजकों ने इस पुरस्कार का ऐलान किया था तो उन्होंने उसी तस्वीर को धंधुला कर अपने-अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट की थी लेकिन विवाद के बाद फिर से उसे हटा लिया गया था।

टैटू आर्टिस्ट थीं सनी लौक

बता दें कि सनी लौक के पास जर्मन और इजरायली नागरिकता थी। वो इज़राइल में रहती थीं उन्होंने अपना बचपन पोर्टलैंड, ओरेगॉन में भी बिताया था। यहां उन्होंने यहूदी पोर्टलैंड अकादमी में किंडरगार्टन में पढ़ाई की थी इसके बाद वो एक टैटू आर्टिस्ट के तौर पर काम कर रही थीं। 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमले के दौरान हमास के आतंकियों ने उन्हें गाज़ा पट्टी के पास से बंधक बना लिया था।

Hindi News/ world / Israel-Hamas War: इजरायली महिला के नग्न शव की परेड निकालते हमास के आतंकियों की तस्वीर ने जीता अवॉर्ड, लोगों का फूटा गुस्सा

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो