विधानसभा में गूंज : सोचो, आइएएस ब्लैकमेल हो रहीं तो आम महिला का क्या होगा ....

भदेल ने सदन में उठाई मांग, सरकार कोर्ट में टंडन के खिलाफ अपील करे

सरकार पर लगाया टंडन को समय देने का आरोप

Preeti Bhatt

February, 1503:45 PM

अजमेर/जयपुर. सोशल मीडिया पर चार महिला आइएएस अफसरों को लेकर अश्लील पोस्ट करने के आरोप से घिरे अधिवक्ता एवं कांग्रेस नेता राजेश टंडन के खिलाफ अब भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री अनिता भदेल ने भी मोर्चा खोल दिया है। भदेल ने शुक्रवार को स्थगन प्रस्ताव के जरिए विधानसभा में यह मामला उठाया।

Read More अब एसपी के समक्ष हाजिर हुए वकील टंडन

भदेल ने कहा कि राज्य में अब ब्यूरोक्रेसी में उच्च पदों पर कार्यरत महिलाओं को भी ब्लैकमेल किया जा रहा है, ताकि लोग अपने काम करवा सके। भदेल ने सरकार से टंडन को कोर्ट से मिले स्टे के खिलाफ अपील करने की मांग की। साथ ही आरोप लगाया कि गिरफ्तारी में देरी करवाकर खुद सरकार ने टंडन को कोर्ट से स्टे लेने का समय दिया है। भदेल ने कहा कि आइएएस सेवा गरिमापूर्ण है।

Read More: KURKEE: मासूम को मिली मां-बाप के ऋण नहीं चुकाने की सजा, आठ घंटे कैद रही कुर्क

राज्य में यदि महिला आईएएस अफसरों को ब्लैकमेल किया जाएगा तो यह कहां तक उचित है। उन्होंने आरोप लगाया कि आइएएस अधिकारियों ने टंडन के खिलाफ कोतवाली और सिविल लाइंस थाने में मुकदमे भी दर्ज कराए लेकिन उनकी तत्काल गिरफ्तारी की बजाय उन्हें कोर्ट से स्टे लेने का समय दिया गया।

Read More CBSE: केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं आज से

भदेल ने कहा कि अगर कोई आम आदमी ऐसा करता तो उसे हाथों-हाथ गिरफ्तार कर लिया गया होता। इस मामले से यह कल्पना भी की जा सकती है कि राज्य में महिला आइएएस ही इस तरह मजबूर हैं तो आम महिला की क्या हिम्मत होगी। ऐसे हालात में तो महिलाओं का सरकारी नौकरी करना मुश्किल हो जाएगा। यह महिलाओं के आत्म सम्मान और सुरक्षा का विषय है, ऐसे में सरकार आधी आबादी का ध्यान रखे।

Read More: हाईकोर्ट आदेश लेकर पहुंचे टंडन, सवालों के नहीं दिए जवाब

Preeti Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned