अजमेर की सड़कों पर प्रेरक संदेश उकेर रहा पेंटर

चौराहों व गलियों में सड़कों पर लिख रहे कोरोना से बचाव के संदेश और स्लोगन

By: mukesh gour

Published: 18 Apr 2020, 08:42 PM IST

अजमेर. कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन में कोई जरूरतमंद को खाना-खिला रहा है तो कोई सड़क, चौराहे पर खड़े पुलिस जवानों को मास्क, सेनेटाइजर देकर सेवा कर रहा है। अलवर गेट थाना क्षेत्र में रहने वाला 65 वर्षीय पेंटर रमेश कुमार अपनी कला के माध्यम से तपती दुपहरी में लोगों को लॉकडाउन की पालना व कोरोना से बचाव का संदेश दे रहे हैं।

read also : डाटा कलेक्शन ना लैब की सुविधा
धोलाभाटा धाननाड़ी क्षेत्र में शुक्रवार दोपहर पत्रिका टीम पहुंची तो रमेश चौराहे पर अपने काम में मशगूल नजर आए। सफेद कलई से रमेश सड़क-चौराहों पर 'कोरोना से बचाव ही उपचार है, कोरोना संक्रमण रोकना है तो लॉकडाउन की करनी होगी पालना, कोरोना संक्रमण से ना है तो सोशयल डिस्टेंसिंग की पालना करनी होगीÓ जैसे स्लोगन लिख चुका है। पत्रिका से बातचीत में रमेश बाबू ने बताया कि वह आम दिनों में दीवारों पर विज्ञापन बनाने का का काम करता है। लॉकडाउन में पुलिस प्रशासन के तमाम प्रयास के बाद भी लोग बाहर निकल रहे हैं। उसने स्वयं प्रेरणा से कोरोना संक्रमण से बचाव के संदेश सड़क, चौराहों और गलियों के मुहाने तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया।

read also : शहर के लिए खतरा न बन जाएं खानाबदोश
कोरोना स्लोगन-चित्र से संदेश
अलवर गेट क्षेत्र की अधिकांश गली-सड़कों पर वह कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए स्लोगन व चित्र बना चुका है। इसमें झलकारी नगर, अशोक नगर भट्टा, अलवर गेट, नगरा, नोनकरण का आहता, धोलाभाटा व धाननाड़ी क्षेत्र शामिल हैं। वह लगातार क्षेत्र में कोरोना तस्वीर बनाकर लोगों को जागरूक करने का काम कर रहा है।

Corona virus COVID-19
Show More
mukesh gour
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned