Video : 14 साल के भतीजे के हाथ में थमा दी कार की चाबी, फिर हाईस्पीड में महिला को दे दी दर्दनाक मौत

Video : 14 साल के भतीजे के हाथ में थमा दी कार की चाबी, फिर हाईस्पीड में महिला को दे दी दर्दनाक मौत

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Sep, 04 2018 03:38:30 PM (IST) Ambikapur, Chhattisgarh, India

सास-ससुर के घर से पैदल अपने घर जा रही थी महिला को टक्कर मारकर 4 फिट ऊंची डिवाइडर पर चढ़ गई कार

अंबिकापुर. 14 साल के नाबालिग कार ड्राइवर ने पैदल अपने घर जा रही महिला को सोमवार की शाम तेज रफ्तार में टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि महिला गंभीर रूप से घायल हो गई और कार उसी रफ्तार में 4 फिट ऊंचे डिवाइडर पर चढ़कर अटक गई।

इधर हादसे में गंभीर रूप से घायल महिला ने मेडिकल कॉलेज अस्पताल में थोड़ी ही देर बाद दम तोड़ दिया। पुलिस ने कार को जब्त कर कार मालिक के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है। आरोपी नाबालिग कार मालिक का भतीजा है।

 

शहर के गांधीनगर स्थित पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड क्रमांक-3 निवासी सुधा पांडेय पति जितेंद्र पांडेय 48 वर्ष सोमवार की दोपहर बौरीपारा स्थित अपने सास-ससुर के घर गई थीं। वे शाम करीब 6 बजे वहां से पैदल घर लौट रही थीं।

वे गांधी चौक स्थित जायसवाल होटल के सामने पहुंची ही थीं कि पीछे से हाईस्पीड में आ रही कार क्रमांक सीजी 13 सी-0451 ने उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि महिला उछलकर सड़क पर जा गिरी, वहीं कार 4 फिट ऊंचे डिवाइडर पर चढ़ गया।

हादसे में गंभीर रूप से घायल महिला को ट्रैफिक व पुलिस जवानों द्वारा तत्काल मेडिकल कॉलेज अस्पताल भिजवाया गया। यहां इलाज शुरु होते ही महिला की मौत हो गई। मंगलवार को पुलिस ने पंचनामा व पीएम पश्चात शव उसके परिजन को सौंप दिया। महिला के 3 बेटे हैं। उनकी मौत से उसके घर व परिजन में मातम पसरा है।

 

Car climb on devider

नाबालिग है कार चालक
कार चला रहा ड्राइवर 14 साल का नाबालिग है। पुलिस ने बताया कि नाबालिग के पिता संतोष सिंह धरमजयगढ़ में शिक्षक हैं। वे अपने बेटे को अंबिकापुर के गोधनपुर स्थित बड़े भाई श्रीनिवास सिंह के घर छोड़कर अपने गृहग्राम यूपी चले गए थे। इधर सोमवार की शाम नाबालिग अपने चाचा की कार लेकर घर से निकल गया था।


नाबालिग चालकों पर नहीं हो रही कार्रवाई
शहर में नाबालिग फर्राटे से दोपहिया व चारपहिया वाहन दौड़ाते नजर आते हैं। ऐसा नहीं है कि पुलिस व ट्रैफिक विभाग की नजर इन पर नहीं पड़ती है। इसके बावजूद उनपर कार्रवाई नहीं की जाती है। पुलिस के सामने से नाबालिग वाहन दौड़ाते निकल जाते है लेकिन उनपर ध्यान नहीं दिया जाता है।


कई लोगों की ले चुके हैं जान
शहर में ही ऐसे कई मामले आ चुके हैं जिनमें नाबालिग चालकों ने लोगों की जान ले ली है। वाहन हाथ में आते ही ये फर्राटे से उसे दौड़ाते हैं। ऐसे में पैदल व अन्य वाहन से चलने वाले लोगों की जान आफत में आ जाती है। वहीं अधिकांश नाबालिग बाइक चालक ही शहर के ट्रैफिक सिग्नल पर रेड सिग्नल जलने के बाद भी इसे तोड़कर निकल जाते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned