श्रीलंका: मस्जिदों पर हमले के बाद देशभर में कर्फ्यू, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लगा बैन

श्रीलंका: मस्जिदों पर हमले के बाद देशभर में कर्फ्यू, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लगा बैन

Mohit Saxena | Publish: May, 13 2019 08:12:12 AM (IST) | Updated: May, 13 2019 09:46:40 PM (IST) एशिया

  • उत्तरी पश्चिमी प्रांत में कुछ स्थानों पर भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस छोड़ी गई
  • कांचियामा शहर में अबरार मस्जिद पर रात भर हमला किया गया
  • झीलों और कुओं का इस्तेमाल हथियारों को छिपाने के लिए किया जा रहा है

कोलंबो। श्रीलंकाई पुलिस ने सोमवार को मुसलमानों के स्वामित्व वाली मस्जिदों और दुकानों पर हमला करने वाले भीड़ पर आंसू गैस की गोलियां चलाईं। आतंकवादियों द्वारा ईस्टर बम विस्फोट के बाद से देश सांप्रदायिक हिंसा के सबसे खराब दौर से गुजर रहा है। उसके बाद श्रीलंका में देशव्यापी कर्फ्यू लगा दिया। आपको बता दें कि आतंकवादियों ने चर्चों और होटलों को निशाना बनाया था। इस्लामिक स्टेट द्वारा किए गए हमले में 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई। हमले के बाद द्वीप राष्ट्र में अल्पसंख्यक मुसलमानों के खिलाफ संघर्ष भड़क उठा।

उत्तरी पश्चिमी प्रांत के मुस्लिम हिस्सों में निवासियों ने कहा कि भीड़ ने मस्जिदों पर हमला किया और दूसरे दिन मुसलमानों के स्वामित्व वाली दुकानों और व्यवसायों को नुकसान पहुंचाया। उसके बाद पुलिस ने देश में रात 9 बजे से देशव्यापी कर्फ्यू लगा दिया।

श्रीलंका में हालात बेकाबू

श्रीलंका में बीते माह ईस्टर पर चर्च और होटलों पर हुए सीरियल बम ब्लास्ट होने के बाद से अब तक स्थिति सामान्य नहीं हो पाई है। रविवार को एक फेसबुक पोस्ट ने श्रीलंका के पश्चिमी तटीय शहर चिला में तनाव बढ़ा दिया। पोस्ट पर मचे बवाल के बाद शहर में कई मस्जिदों और मुस्लिम समुदाय की दुकानों पर जमकर पथराव किया। इस पर काबू पाने के लिए प्रशासन ने इलाके में कर्फ्यू तक लगा दिया है।वहीं कुछ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बैन लगा दिया गया है। पुलिस के अनुसार अब हालात काबू में है, मगर चिला इलाके में सोमवार सुबह चार बजे तक कर्फ्यू लगा। सोशल मीडिया पर फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट डाल दिया गया है। इसमें एक फेसबुक यूजर ने लिखा कि हमें रुलाना काफी मुश्किल है। यह पोस्ट स्थानीय भाषा में लिखा गया है। इसके बाद मुस्लिम नाम के इस यूजर ने धमकी भरे लहजे लिखा,' ज्यादा हंसो मत, एक दिन तुम रोने वाले हो।'

पाकिस्तान व अफगानिस्तान को मिलने वाला धन मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने में खर्च कर रहा है अमरीका

 

आरोपी की जमकर पिटाई

प्रशासन के अनुसार उसने फेसबुक यूजर को गिरफ्तार कर लिया है, जिसकी पहचान 38 साल के अब्दुल हमीद मोहम्मद हसमार के रूप में हुई है। वह चिला के उस इलाके का रहने वाला है। इस क्षेत्र में ईसाई समुदाय के लोगों की संख्या अधिक है। खफा भीड़ ने आरोपी की जमकर पिटाई की है। कुछ लोगों ने बताया कि फेसबुक पोस्ट को लेकर कई मस्जिदों और दुकान पर पथराव किया गया। अब स्थिति नियंत्रण में है। इसके बावजूद उन्हें रात में डर लगता है। युवक के मुताबिक, एक मस्जिद में काफी तोड़फोड़ हुई है। एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, इसमें कुछ लोग मुस्लिमों की दुकानों पर पथराव कर रहे हैं।

भारत ही नहीं, इन देशों का चुनाव भी बदल सकता है दुनिया की तस्वीर

भारी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात

सिलसिलेवार बम धमाकों के बाद रविवार को कैथोलिक गिरजाघरों में पहली बार सामूहिक प्रार्थना सभा आयोजन किया गया। इस दौरान गिरजाघरों के आसपास भारी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई। इतना ही नहीं, गिरजाघरों में जाने वाले हर व्यक्ति का पहचान पत्र देखा जा रहा था। उनकी तलाशी भी ली जा रही थी। 21 अप्रैल को तीन चर्चों और तीन होटलों पर हुए हमलों में 11 भारतीयों समेत 253 लोग मारे गए। इस दौरान पांच सौ से ज्यादा लोग घायल हो गए। इन हमलों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली थी।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook .com/patrikahindinews">Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned