script 'उस पावन हृदय में बसते हैं सियाराम, जो करता रीति-नीति-मर्यादा का मान' श्री राम की शरण में अखिलेश! वीडियो किया शेयर | Akhilesh yadav sp president share bhagwan ram video for pran pratistha | Patrika News

'उस पावन हृदय में बसते हैं सियाराम, जो करता रीति-नीति-मर्यादा का मान' श्री राम की शरण में अखिलेश! वीडियो किया शेयर

locationअयोध्याPublished: Jan 22, 2024 10:45:33 am

Submitted by:

Vikash Singh

समाजवादी अप्रत्य के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अयोध्या में भगवान राम की प्राण प्रतिष्‍ठा से पहले रामलला से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म ‘X’ पर शेयर किया है। सपा अध्यक्ष को को विश्व हिंदू परिषद् ने प्राण-प्रतिष्‍ठा समारोह का न्‍योता भेजा था पर उन्‍होंने कहा कि वे बाद में अपने पुरे परिवार के साथ दर्शन करने अयोध्‍या जरूर जाएंगे। इसपर भाजपा ने उन पर हमला बोला है।

akbhilesh_yadav_ayodhya.jpg
भगवान श्री राम की नगरी यानी अयोध्या में आज दोपहर रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा की जाएगी। देश भर से विशिष्‍ट अतिथियों का लगातार अयोध्‍या आना जारी है। प्राण प्रतिष्‍ठा से पहले सोमवार को सुबह सपा के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव की भी प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर सामने आई है।

सोशल मीडिया ‘X’ पर राम मंदिर से जुड़ा एक वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा है- 'उस पावन हृदय में बसते हैं सियाराम, जो करता रीति-नीति-मर्यादा का मान।'

आपको बता दें कि अखिलेश यादव को भी विश्‍व हिंदू परिषद की तरफ प्राण प्रतिष्‍ठा समारोह का न्‍योता दिया गया था। पहले तो उनकी तरफ से कहा गया कि उन्‍हें न्‍योता नहीं मिला है। इसके बाद विहिप ने अखिलेश को भेजे निमंत्रण पत्र का कूरियर नंबर सार्वजनिक कर दिया। फिर अखिलेश की तरफ से एक पत्र लिखकर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट के महासचिव चंपत राय का आभार जताया। पत्र में अखिलेश ने लिखा कि रामलला का न्‍योता देने के लिए वह ट्रस्‍ट को शुक्रिया कहना चाहते हैं। हालांकि वह समारोह में उपस्थित नहीं होंगे बल्कि बाद में परिवार के साथ रामलला के दर्शन पूजन के लिए आएंगे।


कांग्रेस और सपा के नेताओं को BJP ने बताया 'अधर्मी'

आपको बताते चलें कि विहिप की तरफ से कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेताओं को भी रामलला का निमंत्रण दिया गया था, लेकिन उन्‍होंने अयोध्‍या आने से इन्‍कार कर दिया। कांग्रेस का कहना है कि ये कार्यक्रम पूरी तरह से भाजपा और विहिप का है, इसलिए वे इसमें नहीं शामिल होने आएंगे।

भाजपा ने कांग्रेस और सपा समेत तमाम विपक्षी नेताओं पर निशाना साधा है। भाजपा ने इन नेताओं पर सनातन धर्म को अपमानित करने का आरोप लगाया है। भाजपा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी, द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक)के उदयनिधि स्टालिन और आम आदमी पार्टी (आप)के अरविंद केजरीवाल जैसे नेताओं की विभिन्न पुरानी टिप्पणियां पोस्ट कीं और लोगों से इन 'अधर्मियों' की पहचान करने को कहा है।

ट्रेंडिंग वीडियो