script अयोध्या एयरपोर्ट अब हुआ "महर्षि वाल्मीकि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा ", PM देंगे सौगात | ayodhya news, ayodhya airport name changed | Patrika News

अयोध्या एयरपोर्ट अब हुआ "महर्षि वाल्मीकि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा ", PM देंगे सौगात

locationअयोध्याPublished: Dec 28, 2023 10:18:36 pm

Submitted by:

anoop shukla

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को महर्षि वाल्मीकि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अयोध्या धाम, हाईवे, रेलवे स्टेशन व रेलवे लाइन दोहरीकरण के साथ कई बड़ी परियोजनाओं की सौगात अयोध्या को देंगे। पीएम के लोकार्पण और शिलान्यास की सूची में लगभग 16 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं शामिल हैं।

अयोध्या एयरपोर्ट अब हुआ
अयोध्या एयरपोर्ट अब हुआ

अयोध्या एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अयोध्या धाम कर दिया गया है। रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में 22 जनवरी को बड़ी संख्या में विशिष्ट मेहमान चार्टर्ड प्लेन से आएंगे। इस दिन 100 से ज्यादा विमान अयोध्या धाम में आने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में यहां मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे और अब तक बनाए गए तीन हेलीपैड पर इन्हें उतारे जाने में समस्या आ सकती है। इसके लिए प्रशासन ने वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर में भी वैकल्पिक इंतजाम करने शुरू कर दिए हैं।
मेहमानों को सड़क मार्ग से भी लाया जा सकता है

चार्टर्ड प्लेन की संख्या बढ़ी तो उन्हें इन तीन शहरों के हेलीपैड पर उतरवाने का बंदोबस्त कर मेहमानों को सड़क मार्ग से रामजन्मभूमि तक लाने का प्रबंध किया जाएगा। कमिश्नर गौरव दयाल ने शनिवार को बताया कि इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी से समन्वय कर आवश्यक इंतजाम किए जा रहे हैं। वैसे भी पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां समीक्षा बैठक में बताया था कि करीब 100 विमान 22 जनवरी को आ सकते हैं। ऐसे में प्रशासन सभी संभावनाओं पर विचार कर रहा है।
30 दिसंबर को PM देंगे 16 हजार करोड़ की सौगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को महर्षि वाल्मीकि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अयोध्या धाम, हाईवे, रेलवे स्टेशन व रेलवे लाइन दोहरीकरण के साथ कई बड़ी परियोजनाओं की सौगात अयोध्या को देंगे। पीएम के लोकार्पण और शिलान्यास की सूची में लगभग 16 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं शामिल हैं। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर से जुड़ी महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर खासतौर से फोकस है। चार प्रमुख पथों का भी लोकार्पण होगा। प्रदेश के अन्य जिलों की कुछ परियोजनाएं भी शामिल की गई हैं।
अयोध्या धाम की खोई विरासत लौटाई जायेगी

प्रधानमंत्री मोदी का दृष्टिकोण है कि अयोध्या में आधुनिक विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे का विकास हो, संपर्क में सुधार हो और शहर के समृद्ध इतिहास और विरासत के अनुरूप यहां नागरिक सुविधाएं उपलब्ध हो। इसी को ध्यान में रखते हुए शहर में एक नया हवाई अड्डा, पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन, नई सड़कें और अन्य नागरिक बुनियादी ढांचे का उद्घाटन किया जा रहा है. कई नई परियोजनाओं की आधारशिला रखी जाएगी जो अयोध्या और उसके आसपास नागरिक सुविधाओं के सौंदर्यीकरण और सुधार में योगदान देंगी।
स्थापत्य का बेजोड़ अक्श दिखेगा

बयान में बताया गया कि अयोध्या के अत्याधुनिक हवाई अड्डे का पहला चरण 1,450 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित किया गया है।हवाई अड्डे के टर्मिनल भवन का क्षेत्रफल 6500 वर्गमीटर होगा, जो सालाना लगभग 10 लाख यात्रियों की सेवा करने के लिए तैयार रहेगा।टर्मिनल भवन का अगला हिस्सा अयोध्या के आगामी श्रीराम मंदिर की मंदिर वास्तुकला को दर्शाता है।
टर्मिनल भवन के अंदरूनी हिस्सों को भगवान श्रीराम के जीवन को दर्शाते हुए स्थानीय कला, चित्रों और भित्ति चित्रों से सजाया गया है।अयोध्या हवाई अड्डे का टर्मिनल भवन विभिन्न सुविधाओं से लैस है जिनमें इंसुलेटेड रूफिंग सिस्टम, एलईडी लाइटिंग, वर्षा जल संचयन, फव्वारे के साथ भूनिर्माण, जल उपचार संयंत्र, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, सौर ऊर्जा संयंत्र शामिल हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो