scriptYoung man drowned in Paltan ghat who came from Jharkhand for picnic | झारखंड से पिकनिक मनाने छत्तीसगढ़ आया युवक पलटन घाट में डूबा, नहाने के दौरान फिसला पैर | Patrika News

झारखंड से पिकनिक मनाने छत्तीसगढ़ आया युवक पलटन घाट में डूबा, नहाने के दौरान फिसला पैर

locationबलरामपुरPublished: Dec 24, 2023 06:22:07 pm

Paltan Ghat: गढ़वा का मेडिकल दुकान का संचालक अपने 6 अन्य स्टाफ के साथ आया था पिकनिक मनाने, सभी पलटन घाट में उतरे थे नहाने, डूबने वाला युवक था कंप्यूटर ऑपरेटर

paltan_ghat.jpg
रामानुजगंज. Paltan Ghat: झारखंड के गढ़वा से पिकनिक मनाने रविवार को रामानुजगंज के पलटन घाट आया एक युवक नहाने के दौरान पलटन घाट में डूब गया। साथियों ने उसे डूबते देखा तो बचाने का प्रयास किया लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। घटना के ढाई घंटे बाद नगर सेना की गोताखोर टीम करीब 4.30 बजे पलटन घाट पहुंची। गोताखोरों द्वारा डूबे युवक की खोजबीन की जा रही है। दरअसल युवक दवा दुकान में कंप्यूटर ऑपरेटर था। वह मेडिकल दुकान संचालक सहित अन्य स्टाफ के साथ पिकनिक मनाने आया था।

झारखंड के गढ़वा जिला अंतर्गत सोनपुरवा निवासी गांधी इंटरप्राइजेज दवा दुकान का संचालक अमित केसरी अपने दुकान के 7 स्टाफ को लेकर रविवार को पिकनिक मनाने पलटन घाट आया था। रविवार की दोपहर करीब 2 बजे सभी नहाने के लिए कन्हर नदी में उतरे।
इसी दौरान दुकान में कंप्यूटर ऑपरेटर का काम करने वाले उज्जवल प्रसाद यादव पिता रामजी यादव उम्र 20 वर्ष का पैर फिसल गया और वह गहराई में चला गया। उसे बचाने के लिए तत्काल उसका साथी राज सिंह भी नदी में कूद गया, लेकिन वह भी तैरना नहीं जानता था।
वह भी पानी में डूबने लगा। यह देख पिकनिक मनाने पहुंचे नगर के कुछ लोग दौडक़र वहां पहुंचे और जान बचाने की कोशिश की, लेकिन उज्ज्वल को नहीं बचाया जा सका।

यह भी पढ़ें
Breaking News: शहर के युवा क्रिकेट कोच ने की आत्महत्या, कमरे में फांसी के फंदे पर लटकती मिली लाश


तैरना नहीं आता था तो बनाई मानव श्रृंखला
उज्जवल के डूबने के बाद उनके अन्य साथियों को तैरना नहीं आता था। इसके बाद सभी ने मानव चेन बनाकर उज्जवल को बचाने का काफी प्रयास किया, लेकिन उसमें वे सफल नहीं हुए।
यह भी पढ़ें
सरकारी शराब में मिलावट किए जाने के मामले में कलेक्टर सख्त, दिए जांच के आदेश, वीडियो हुआ था वायरल


10 वर्ष से आ रहे थे यहां पिकनिक मनाने
गांधी इंटरप्राइजेज के संचालक अमित केसरी ने बताया कि वे लोग यहां बीते 10 वर्ष से पिकनिक मनाने आ रहे थे। उज्जवल भी तीन-चार वर्षों से साथ में आता था। हम लोग यहां आकर काफी सतर्क थे, इसके बावजूद यह अनहोनी हो गई।

ट्रेंडिंग वीडियो