script कूनो नेशनल पार्क की सुरक्षा को धत्ता बता राजस्थान घूमने पहुंचा अफ्रीका का चीता, अफसरों का दांव हुआ कारगर | Kuno National Park security Defying African cheetah agni reached Rajasthan Baran Kelwara Range to visit | Patrika News

कूनो नेशनल पार्क की सुरक्षा को धत्ता बता राजस्थान घूमने पहुंचा अफ्रीका का चीता, अफसरों का दांव हुआ कारगर

locationबारांPublished: Dec 26, 2023 04:25:53 pm

कूनो नेशनल पार्क का भगोड़ा चीता ‘अग्नि’ राजस्थान के बारां की केलवाड़ा रेंज में घूमते हुए मिला। कूनो नेशनल पार्क के अफसर परेशान हैं।

african_cheetah.jpg
African cheetah agni
मध्यप्रदेश के श्योपुर स्थित कूनो नेशनल पार्क की सीमा से बाहर निकला नर चीता अग्नि भटकते हुए सोमवार सुबह बारां जिले की सीमा में पहुंच गया। इसकी सूचना पर कूनो नेशनल पार्क ओर बारां जिले के वन विभाग की टीम के साथ मिलकर संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया गया। इस दौरान जिले के केलवाड़ा वन रेंज में उसका मूमेंट मिला। मौके पर पहुंची कूनो नेशनल पार्क की 20 सदस्यीय टीम ने बारां की वन विभाग की टीम के सहयोग से चीता को ट्रेंक्युलाइज किया गया। इसके बाद नेशनल पार्क की टीम उसे वापस कूनो ले गई।

तीन दिन पहले पार्क से बाहर निकला था

चीता अग्नि कूनो नेशनल पार्क की सीमा से निकलकर बीते 3 दिनों से जंगल में घूम रहा था। इस दौरान रविवार की शाम आगे निकलकर श्योपुर जिले के सूंसवाड़ा के जंगल में होता हुआ बारां जिले की सीमा में पहुंच गया था। सोमवार सुबह मप्र-राजस्थान की सीमा से 15 किलोमीटर आगे बारां वनमंडल के केलवाड़ा रेंज के जैतपुरा-माधोपुरा के जंगल में चीता की लोकेशन मिली। इसकी सूचना बारां डीएफओ दीपक गुप्ता अपने अमले के साथ मौके पर पहुंचे। वहीं कूनो से भी 20 सदस्यीय टीम केलवाड़ा वन रेंज पहुंची। इसके बाद काफी मशक्कत कर चीता को ट्रेंक्युलाइज किया गया।

यह भी पढ़ें

राजस्थान में उपचुनाव पर अपडेट, 8 सीटों पर अधिसूचना जारी नामांकन आज से शुरू, 10 जनवरी को पड़ेंगे वोट

अग्नि बाड़े में शिफ्ट, वायु खुले में रहेगा

सूत्रों के मुताबिक 17 दिसंबर को नर चीते भाईयों वायु और अग्नि को बाड़े से पारोंद वन क्षेत्र के खुले जंगल में छोड़ा गया था। तीन दिन पहले दोनों चीते आपस में बिछड़ गए और चीता अग्नि कूनो की सीमा लांधकर बाहर निकल गया था। सोमवार को इसे बारां जिले से ट्रेंक्युलाइज कर वापस ले जाया गया। अब फिर से अग्नि को बाड़े में शिफ्ट कर दिया गया है। इसका भाई वायु अभी कूनो पार्क के खुले जंगल में ही है।

शाम को चीते को लिया कब्जे में - डीएफओ

डीएफओ, बारां दीपक गुप्ता ने कहा कि कूनो से चीता निकलकर बारां जिले की सीमा में आ गया था। सुबह करीब 9 बजे इसकी सूचना मिली तो टीम के साथ मौके पर पहुंचे। शाम करीब साढ़े छह बजे के आस-पास कूनो की टीम चीते को ट्रेंक्युलाइज कर रवाना कर दिया था।

यह भी पढ़ें

... तो मिर्जा इस्माइल रोड का नाम बदल कर होगा महाराजा सूरजमल रोड! जानें क्यों होने लगी ऐसी चर्चा?

ट्रेंडिंग वीडियो