Locust Attack : कोरोना के बाद जयपुर में टिड्डी की दस्तक, लोग लेकर भागे थालियां-ढोल और बर्तन

आई नई आफत, लोगों में हड़कंप, बजाय थालियां-ढोल और बर्तन

By: vinod sharma

Updated: 24 May 2020, 05:41 PM IST

जयपुर। जयपुर सहित प्रदेश के अन्य जिलों में पहुंचे टिड्डी दलों ( Locust Attack in Rajastha ) ने किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी है। लेकिन अच्छी बात यह रही कि जिस तरह लाखों की संख्या में टिड्डी दल जयपुर जिले ( Locust Attack in Jaipur ) के गांवों में पहुंचा था उसके अनुसार ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा पाया। वहीं आज सुबह जयपुर जिलें के अधिकत्तर गांवों में टिड्डी दल नजर नहीं आया। बता दें कि किशनगढ़ रेनवाल की तरफ से आया टिड्डी दल शनिवार को राजधानी तक पहुंच गया। टिड्डियों ने हस्तेड़ा, जालसू, जाहोता, रामपुरा डाबडी, राजावास, जयरामपुरा, हरमाड़ा, अचरोल, जमवारामगढ़, बस्सी, नायला होते हुए धामस्या से पोतली में कहर मचा दिया। इससे एक बार तो ऐसा लगा जैसे टिड्डियों के बादल से छा गया हो। इस दौरान किसानों और लोगों ने थालिया, ढोल, पटाखे और बर्तन बजाकर टिड्डियों के दल का भगाया।

हवा ने साथ दिया...
कृ़षि विभाग और किसान अलर्ट मोड पर जयपुर के गांवों में टिड्डियों के दल के पहुंचने के साथ ही कृ़षि विभाग और किसान अलर्ट मोड़ पर आ गए। वहीं हवा ने भी किसानों का साथ दिया और टिड्डी दल एक स्थान से दूसरे स्थान पर होते हुए लगातार दूसरी ओर बढ़ती गया। लेकिन जहां जहां टिडि्डयां बैठी वहां वहां खेतों में चरी का बाजरा, रंजका, पेड़ों की पत्तियां चट कर गई।

चंद घंटे में कई बीघा फसल चट...
आगरा की ओर तेजी से बढ़ रहा दल टिड्डी दल जयपुर से दौसा और अब आगरा की ओर बढ़ रहा है। रास्ते में जहां जहां से यह गुजरेगा वहां वहां चंद घंटे में कई बीघा फसल को चट कर देगा। ऐसे में कृषि विभाग पूरी तरह से इनके मूवमेंट को लेकर अलर्ट मोड पर है और जिस जिले की ओर यह दल बढ़ रहा है वहां भी सूचना दे रहा है। कृषि विभाग ने छिड़काव के लिए किटनाशक और ट्रैक्टरों की व्यवस्था पहले ही कर ली है।

35 से 40 करोड़ टिड्डियां होने का अनुमान...
कृषि अधिकारी डॉ. रामप्रवेश के अनुसार इस दल में लगभग 35 से 40 करोड़ टिड्डियां होने का अनुमान है। जो हवा के साथ रुख करती है। यहीं कारण है कि सीमावर्ती इलाकों से जयपुर की ओर आ गई। वहीं कृषि विभाग ने इनसे निपटने की पूरी तैयारी कर ली है और किसानों को भी अलर्ट कर दिया है कि टिड्डियों के क्षेत्र में आते ही खेतों में ढोल, थाली, परात, पीपा आदि बजाने शुरू कर दे। जिससे टिड्डी दल रुक नहीं पाए।

खतरा अभी टला नहीं ....
अभी जयपुर में टला नहीं खतरा आज सुबह जयपुर में टिड्डी दल नजर नहीं आए। लेकिन खतरा अभी टला नहीं हैं। पाकिस्तान से आने वाले टिड्डी दल हवा के रुख के साथ सीमावर्ती जिलों से फिर जयपुर की ओर रुख कर सकते है। कृषि विभाग के अनुसार टिड्डियाें ने अब तक जिले के 2500 हैक्टेयर में नुकसान पहुंचाया है। अभी भी पाकिस्तान से कुछ दल ओर आ रहे है। यह हवा के रुख के साथ अपना रास्ता बनाते है इसलिए अभी जयपुर पर टिड्डी दल ओर हमला कर सकते हैं। हालांकि यह दल जयपुर में ज्यादा देर तक ठहरेगा नहीं लेकिन घंटों भी रुका तो बीघा की बीघा जमीन में उगी फसल, सब्ज्यिां और पेड़ों की पत्तियां चट कर देगा।

vinod sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned