ईद उल फित्र आज : चांद के दीदार के साथ ही ईद की तस्दीक, घर पर होगी नमाज

चांद के दीदार के साथ ही ईद की तस्दीक हो गई है। सोमवार ईद उल फित्र मनाई जाएगी। कोरोना संक्रमण के इस दौर में ईदुल फित्र को देखते हुए शहर की तमाम ईदगाह, मस्जिद-कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी ने अपनी आंशिक तैयारियां पूरी कर ली हैं।

By: Satya Narayan Shukla

Updated: 24 May 2020, 11:55 PM IST

भिलाई@Patrika.चांद के दीदार के साथ ही ईद की तस्दीक हो गई है। सोमवार ईद उल फित्र मनाई जाएगी। कोरोना संक्रमण के इस दौर में ईदुल फित्र को देखते हुए शहर की तमाम ईदगाह, मस्जिद-कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी ने अपनी आंशिक तैयारियां पूरी कर ली हैं। @Patrika. जामा मस्जिद सेक्टर-6 सहित तमाम मस्जिदों में शासन के निर्देशानुसार सुबह 7 बजे तक सिर्फ 5 लोगों की जमाअत के साथ नमाज अदा करेंगे। इसके बाद लोग अपने-अपने घरों में सुबह 11 बजे के पहले तक व्यक्तिगत तौर पर चाश्त या नफ्ल नमाज पड़ कर दुआएं करेंगे।

कब्रिस्तान में तीन दिन लगा रहेगा ताला
शहर के कब्रिस्तान हैदरगंज कैम्प-1 में भी ईद के मौके पर तीन दिन तक ताला लगा रहेगा। कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी के मुहम्मद शमशीर ने बताया ईद पर परंपरा अनुसार लोग ईदगाह/मस्जिदों में नमाज के बाद सबसे पहले कब्रिस्तान जाकर अपने दिवंगत परिजनों की कब्र पर दुआएं करते हैं। @Patrika. इसके अलावा भिलाई में हर साल ईद के तीसरे दिन कब्रिस्तान में हजरत अफजलुद्दीन हैदर साहब का उर्स मुबारक होता है। जिसमें हमेशा छत्तीसगढ़ के अलावा अन्य राज्यों से भी बड़ी तादाद में अकीदतमंद कब्रिस्तान पहुंचते हैं। इन दिनों चूंकि कोरोना संक्रमण का खतरा है, ऐसे में शासन के आदेश अनुसार सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की आवाजाही पर रोक है। @Patrika. इसे देखते हुए कब्रिस्तान में 25, 26 व 27 मई को ताला लगा रहेगा, जिससे यहां सार्वजनिक रूप से कोई भी इक_ा न हो सके। हालांकि इस बार उर्स का आयोजन भी स्थगित कर दिया गया है।

Read More : घर में पढऩी होगी ईद की नमाज : घरों में पढ़ा अलविदा जुमा, ईदगाह में नहीं होगी नमाज, आज हो सकता है चांद का दीदार

ईदगाह नहीं आ सकें तो मायूस न होएं लोग
मुसलमानों के दरमियान बेचैनी है कि वो ईद की नमाज पढऩे के लिए ईदगाह नहीं आ पाएं चूंकि लॉक डाउन का सिलसिला जारी है लेकिन इस्लाम मुसलमानों को तालीम देता है कि मजबूरी की हालत में अगर नेक काम न कर पाएं तो भी खुदा उस नेक काम का बदला देता है। @Patrika. लिहाजा मुसलमान को खुदा की रहमत से मायूस नहीं होना चाहिए। लोग सब्र रखें और दुआएं करें।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned