घर में पढऩी होगी ईद की नमाज : घरों में पढ़ा अलविदा जुमा, ईदगाह में नहीं होगी नमाज, आज हो सकता है चांद का दीदार

इस रमजान में कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से लोगों ने अपने घरों को ही इबादतगाह बना लिया। इसके साथ ही शहर मस्जिद ने बताया है कि यदि 29 रमजान का चांद 23 जून को नजर आ गया तो ईदुल फित्र 24 जून को होगी नहीं तो 30 रोजे पूरे होने के बाद 25 जून को ईदुलफितर मनाई जाएगी।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 22 May 2020, 11:43 PM IST

भिलाई@Patrika. मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शुक्रवार को अलविदा जुमा की नमाज अपने घरों में ही अदा की। कोरोना संक्रमण की वजह से मस्जिदें सूनी रहीं। इसके साथ ही अब रमजान अपने आखिरी मकाम पर पहुंच गया है। लोगों को चांद का इंतजार रहेगा। इस रमजान में कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से लोगों ने अपने घरों को ही इबादतगाह बना लिया। इसके साथ ही शहर मस्जिद ने बताया है कि यदि 29 रमजान का चांद 23 जून को नजर आ गया तो ईदुल फित्र 24 जून को होगी नहीं तो 30 रोजे पूरे होने के बाद 25 जून को ईदुलफितर मनाई जाएगी।

चांद नजर आए तो कीजिए इत्तला
ईद के लिए इस बार विशेष इंतजाम किया गया है। मस्जिद कमेटियों ने वॉट्सऐप और फेसबुक के जरिए अपीलें जारी की गई हैं। इस बार 29 वां रोजा 23 जून को रहेगा। अक्सर 29 का चांद नजर आने की संभावनाएं रहती हैं, इसलिए मुस्लिम समुदाय की नजरें 23 जून की शाम को आसमान पर टिकी रहेंगी। मस्जिद कमेटियों की तरफ से भी चांद नजर आने पर सूचना जारी करने तैयारी कर ली गई है। जामा मस्जिद सेक्टर-6 के इमाम हाफिज इकबाल हैदर अंजुम ने बताया कि कमेटी की तरफ से भी चांद देखे जाने की तस्दीक करने इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा
उन्होंने सभी लोगों से अपील की है कि अगर कहीं भी 29 रमजान का चांद नजर आए तो उनके मोबाइल नंबर 8720051418 पर तुरंत कॉल या वॉट्सऐप कर सकते हैं। यदि किसी भी सूरत में 23 जून को चांद नजर नहीं आता है तो फिर 30 रोजे पूरे होने के बाद 25 जून को ईदुल फित्र मनाई जाएगी।

Read More : मियां भाइयों की गजब पहल...सैकड़ों गरीब बच्चे पढ़ सके इसलिए निकाला ऐसा रास्ता की हर कोई है हैरान

इस तरह मनाएं अपनी ईद
हाफिज इकबाल हैदर अंजुम ने नमाजे ईदुल फ्रित्र्त को लेकर कहा कि इस मुश्किल घड़ी में हमारी सबसे बड़ी ईद यह है कि हम गरीबों और मिस्किनों का खयाल रखें। उनकी मदद करें। मोहताजों और जरूरतमंद को खाना खिलाएं। बेवाओं व यतीमों को मरहूमिन के नाम से पैसे दें। हो सके तो अपनी ओर से मुसाफिर को खाने का पैकेट तकसीम करें।

Read More : ऐसा युवा प्रशिक्षक जो हिंदू-मुस्लिम के बीच दे रहा है मानवता का संदेश

घर में पढऩी होगी ईद की नमाज
जामा मस्जिद सेक्टर-6 के ईमाम-खतीब हाफिज इकबाल हैदर अंजुम ने बताया कि लाकडाउन को देखते हुए ईद की नमाज 5 लोगों के साथ मस्जिद या ईदगाह में अदा की जाएगी। इसके ठीक बाद बाकी लोग अपने-अपने घरों में 2 रकअत या 4 रकअत नफ्ल नमाज शुक्रराने या चाश्त की नीयत से अकेले-अकेले अदा करेंगे। इसके लिए लोग अपने घरों में सुबह 7.15 बजे के बाद से सुबह 11.20 से पहले तक नवाफिल नमाज अदा करें। इसके साथ ही कब्रिस्तान जाकर दुआ करने पर भी पाबंदी होगी।

Read More : ईद-उल-जुहा की बिखरी खुशियां, नमाज के बाद बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए दिया योगदान

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Corona virus
Show More
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned