सिंगोली चारभुजा के मंद‍िर में पूर्व विधायक की जेब पर कर रही थी हाथ साफ, रंगे हाथों धरी गई

माण्डलगढ़ के पूर्व विधायक प्रदीप कुमार सिंह की जेब तराशी करते एक महिला को रंगे हाथों पकड़ कर पुलिस को सौंपा

By: tej narayan

Published: 16 May 2018, 12:31 AM IST

बरून्दनी।

मेवाड़ के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल सिंगोली चारभुजा के मंदिर में मंगलवार को दर्शन कर रहे माण्डलगढ़ के पूर्व विधायक प्रदीप कुमार सिंह की जेब तराशी करते एक महिला को रंगे हाथों पकड़ कर पुलिस को सौंपा। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

 

READ: वाहन की सर्विस कराने के बाद तीन किलोमीटर भी नहीं चले कि डीजल के मीटर का कांटा गिरा देख उडे होश

बरून्दनी चौकी प्रभारी नरेश कुमार शर्मा ने बताया कि पूर्व विधायक सिंह मन्दिर में दर्शन करने आए थे। दर्शन करते समय उनका मोबाइल नीचे गिर गया। सिंह नीचे गिर मोबाइल को उठाने लगे, उसी समय कुवाड़ा खान क्षेत्र की शान्ति ओड़(45) ने उनकी जेब से रुपए निकालने का प्रयास किया। महिला को उन्होंने रोक लिया और वह वारदात नहीं कर सकी। पुलिस उससे अन्य साथियों के बारे में जानकारी जुटा रही है।

 

READ: गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर राजस्‍थान में यहां बनी गुप्त रणनीति, 21 सदस्यों की कोर कमेटी गठित

काका का शव परिजनों को सौंपा

गंगापुर क्षेत्र के पोटलां गांव में काका व भतीजे के बीच जमीनी विवाद में काका की मौत के बाद मंगलवार को पुलिस ने काका डालू कीर के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सुपुर्द किया। पुलिस ने बताया कि मृतक के पुत्र पारस कीर की रिपोर्ट पर इस मामले में संदिग्ध लोगों से पूछताछ कर रही है। ज्ञात रहे पोटलां निवासी डालू कीर व उसके भतीजे रतन कीर के बीच सोमवार शाम जमीनी विवाद हो गया था। इसमें डालू कीर मौत हो गई थी।

 

दो बाड़ों में आग लगने से लकडिय़ां, चारा व मेड़ जली

बागोर. क्षेत्र के गुंदली गांव में मंगलवार शाम अचानक लगी दो बाड़ों में आग से लकडिय़ां, चारा, खाखला व मेड़ जलकर राख हो गई। दमकल के पहुंचने तक ग्रामीण महिलाएं सिर पर पानी से भरे मटके लाकर आग बुझाने के लिए डटी रही। गुंदली उपसरपंच श्याम लाल सुथार ने बताया कि गांव के बाहर स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के पास स्थित नारायण पिता ऊंकार गुर्जर व शम्भू पिता रामलाल गुर्जर के दो बाड़ों में मंगलवार शाम सात बजे अचानक आग लग गई।

दमकल आने तक ग्रामीणों की सहायता से बुजाने में लोग प्रयासरत थे। इधर आग की सूचना बागोर पुलिस को व भीलवाड़ा अग्निशमन विभाग को दी गई। भीलवाड़ा से दमकल मौके पर पहुंचने तक ग्रामीणों ने अपने स्तर पर ही खेतों से पानी की मोटरें चलाकर और टैंकर मंगवाकर आग पर काबू पाने का जुगाड़ कर आग बुझाने के प्रयास किए। मौके पर आए बागोर थानाधिकारी कानसिंह राठौड़ ने बताया कि आग लगने के कारणों का पता नही चल पाया है जबकि ग्रामीणों की सहायता से तीन घण्टे में आग पर काबू पा लिया गया।

tej narayan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned