scriptCareless Administration, dirty factory water is creating trouble for workers | प्रशासन लापरवाह, श्रमिकों के लिए मुसीबत बना फैक्ट्री का गंदा पानी | Patrika News

प्रशासन लापरवाह, श्रमिकों के लिए मुसीबत बना फैक्ट्री का गंदा पानी

locationभिवाड़ीPublished: Jan 22, 2024 04:55:31 pm

Submitted by:

Anant awdichya

रीको ने औद्योगिक क्षेत्र के फेज दो में फैक्ट्रियों से निकलने वाला गन्दा पानी सड़कों व नालों में नही भरे इसके लिए विद्युत निगम के अधिशासी अभियंता कार्यालय के पास लाखों रुपए खर्च कर एसटीपी प्लांट लगाया था।

factory_water_is_creating_trouble.jpg

बहरोड़। रीको ने औद्योगिक क्षेत्र के फेज दो में फैक्ट्रियों से निकलने वाला गन्दा पानी सड़कों व नालों में नही भरे इसके लिए विद्युत निगम के अधिशासी अभियंता कार्यालय के पास लाखों रुपए खर्च कर एसटीपी प्लांट लगाया था। ताकि गंदे पानी का शोधन किया जा सके लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों की अनदेखी के कारण रीको औद्योगिक क्षेत्र में बना एसटीपी प्लांट लम्बे समय से खराब पड़ा हुआ है। जोकि अब अनदेखी का शिकार हो चुका है। एसटीपी प्लांट के बन्द होने से फेज दो स्थित फैक्ट्रियों से निकलने वाला गन्दा पानी नालों व बीच सड़क पर जमा हो रहा है। जिसके कारण श्रमिकों के साथ ही वाहन चालकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

उद्यमियों ने बताया कि फेज दो में स्थित एसटीपी प्लांट को दुबारा से शुरू करने के लिए कई बार रीको नीमराणा के उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया लेकिन उसके बाद भी कोई सुध नहीं ली जा रही है। रीको ने औद्योगिक क्षेत्र फेज दो की स्थापना के साथ ही यां एसटीपी प्लांट लगाया था। ताकि फैक्ट्रियों से निकलने वाले गंदे पानी का निस्तारण किया जा सके, लेकिन पिछले करीब दो दशक से रीको अधिकारियों की अनदेखी के कारण एसटीपी प्लांट बन्द पड़ा है। एसटीपी प्लांट बन्द होने के कारण अब उद्यमी यहाँ पर उद्योगों से निकलने वाले कूड़े कचरे को डाल रहे है।

ट्रेंडिंग वीडियो