भोपाल गैस त्रासदीः 35वीं बरसी पर एकत्र हुए हजारों लोग, अपनो को किया याद

भोपाल गैस त्रासदी की 35वीं बरसीं पर अनेक स्थानों पर श्रद्धांजलि सभा कर अपनो को याद किया...।

By: Manish Gite

Updated: 03 Dec 2019, 01:54 PM IST

भोपाल। दुनिया की भीषणतम गैस त्रासदी के 35 साल हो गए हैं। हर साल की तरह तीन दिसंबर को फिर मृतकों को याद किया गया। उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। राज्यपाल लालजी टंडन और मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी भीषण हादसे में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। वहीं कई जगह श्रद्धांजलि सभा का आयोजन हुआ, जिसमें लोगों ने अपनो को याद किया।

भोपाल के सेंट्रल लाइब्रेरी में हुए कार्यक्रम में राज्यपाल लालजी टंडन सर्वधर्म श्रद्धांजलि सभा में पहुंचे। यहां जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा, गैस राहत मंत्री आरिफ अकील समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

VIDEO- राजीव गांधी के कहने पर छोड़ा गया था 15 हजार मौतों का आरोपी !

 

bpl.jpg

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दी श्रद्धांजलि
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने ट्वीटर संदेश में कहा है कि भोपाल गैस त्रासदी में असमय अलविदा हुए निर्दोष लोगों को श्रद्धांजलि, त्रासदी की 35वीं बरसी पर मेरी आप सभी से अपील है कि पर्यावरण प्रदूषण के प्रति हमेशा सतर्क और सजग रहें। ऐसा दर्दनाक हादसा फिर कभी न हो, इसके लिए नागरिकों को सतर्क रखना जरूरी है। विश्व की सबसे भीषणतम औद्योगिक त्रासदी में हमने जो भयानक दुष्परिणाम देखे हैं वह सभी के लिए एक सबक है। पर्यावरण की अनदेखी से आगे ऐसी कोई दुर्घटना न हो, जो निर्दोष लोगों के लिए जानलेवा बने। गैस हादसे ने भोपाल के रहवासियों को गहरे जख्म दिए हैं। राहत-पुनर्वास ेक साथ बेहतर इलाज प्रभावितों को मिले यह सरकार की जिम्मेदारी है। गैस त्रासदी की बरसी पर भोपाल गैस पीड़ित महिला उद्योग संगठन के संयोजक स्व अब्दुल जब्बार गैस पीड़ितों, विशेषकर महिलाओं के राहत-पुनर्वास और इलाज के लिए जीवन पर्यंत संघर्ष किया। आज के दिन बरबस ही उनकी याद आती है। हादसे में अपना जीवन गंवाने वाले सभी लोगों और जब्बार भाई को विन्मर श्रद्धांजलि।

 

2-3 दिसंबर की काली रात
भोपाल में दो और तीन दिसंबर 1084 की दरमियानी रात लाखों लोगों पर कहर बनकर टूटी थी। यूनियन कार्बाइड से निकली जहरीली मिथाइल आइसोसाइनाइट गैस ने हजारों लोगों की जान ले ली थी। इनके परिवारों को बीमारी के रूप में जिंदगीभर का दर्द दिया। इस घटना की याद करते हुए लोग आज भी सिहर जाते हैं। कई लोग बेघर हो गए, कई लोग अपनों से भीड़ में बिछड़ गए थे।

यहां भी हुए कार्यक्रम
भोपाल के शाहजहांनी पार्क में लोग एकत्र हुए और उन्होंने मृतकों को याद किया और श्रद्धांजलि दी।
-कमला पार्क से रैली निकाली, महिलाएं अपने हाथों में पोस्टर लिए चल रही थीं।
-भोपाल ग्रुप फॉर इंफॉरमेशन एंड एक्शन संगठन ने निकाली रैली।
-भोपाल गैस पीड़ित संघर्ष सहयोग समिति यूनियन कार्बाईड के पास स्मारक के सामने एकत्र हुए और श्रद्धांजलि दी।
-शाहजहांनी पार्क में गैस पीड़ित महिला उद्योग संगठन ने भी सभा का आयोजन किया।
-मंगलवारा चौराहे पर भाकपा ने प्रदर्शन किया।
-पुरानी गैस दावा अदालत के सामने जहरीली गैस कांड संघर्ष मोर्चा ने श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि भोपाल गैस त्रासदी में दिवंगत और पीड़ितों के प्रति आत्मीय संवेदनाएं |
प्रदेश सरकार पीड़ितों की हरसंभव मदद के लिए कृत संकल्पित है।

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned