script MP Election 2023: हाई अलर्ट पर क्यों है भाजपा और कांग्रेस, जानिए अपडेट | BJP-Congress on high alert regarding vote counting mp election 2023 | Patrika News

MP Election 2023: हाई अलर्ट पर क्यों है भाजपा और कांग्रेस, जानिए अपडेट

locationभोपालPublished: Nov 25, 2023 02:01:12 pm

Submitted by:

Manish Gite

mp election 2023- भाजपा की वर्चुअल व आडियो ब्रिज से ट्रेनिंग, कांग्रेस ने 26 को बुलाया

bjp-congress.png

मतगणना को लेकर भाजपा-कांग्रेस हाईअलर्ट पर हैं। दोनों पार्टियों ने मतगणना में बूथ स्तर तक एजेंटों को अलर्ट कर दिया है। भाजपा ने दो दौर की वर्चुअल-ऑडियो ट्रेनिंग पूरी कर ली है तो वहीं कांग्रेस ने 26 नवंबर को सभी प्रत्याशियों को ट्रेनिंग के लिए भोपाल बुलाया है।

यहां ज्यादा सतर्कता

भाजपा ने 64600 बूथ के नेटवर्क को मतगणना के लिए हाईअलर्ट पर कर दिया है। हर बूथ के एजेंट को वर्चुअल और ऑडियो ब्रिज के जरिए ट्रेनिंग दी गई है कि मतगणना वाले दिन क्या करना है और क्या नहीं। इसके दो दौर हो चुके हैं। मतगणना के पहले फिर से प्रशिक्षण होगा। इसके अलावा भोपाल मुख्यालय से सभी सीटों पर नजर रखी जाएगी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने संवेदनशील सीटों के बूथों को लेकर विशेष तौर पर सतर्कता बरतने के लिए कहा है। अध्यक्ष एक दौर में बूथ एजेंटों व प्रभारियों को मतगणना को लेकर टिप्स भी दे चुके हैं। मतगणना के एक दिन पहले भी बैठक करेंगे।


वोटिंग प्रतिशत को लेकर स्टडी

भाजपा ने हर बूथ के लिए वोटिंग प्रतिशत का लक्ष्य तय किया था। हर सीट व बूथ का अध्ययन हो रहा है। भाजपा इस बार 51 फीसदी वोट शेयर का लक्ष्य लेकर काम कर रही है। जहां वोटिंग प्रतिशत कम है, वहां से विशेष तौर पर कारण सहित जानकारी मांगी गई है। अब मतगणना वाले दिन इन सीटों को लेकर भी विशेष सतर्कता के लिए कहा गया है। भाजपा ने हर सीट के लिए मतगणना को लेकर पार्टी समर्थक अधिवक्ताओं से लेकर स्थानीय नेताओं तक की टीम तैयार की है। मुख्यालय स्तर पर भी टीम बनाई गई है। मतगणना के एक दिन पहले ही पूरा रोडमैप तैयार होगा। इसके अलावा सुबह से ही बूथ व काउंटर प्रभारियों से बात करके अलर्ट किया जाएगा।


दिनभर प्रशिक्षण

कांग्रेस ने ईवीएम पर निगरानी के साथ ही स्ट्रॉन्ग रूम पर नजर लगाई है। 26 नवंबर को अपने प्रत्याशियों को विशेष प्रशिक्षण के लिए भोपाल बुलाया है। प्रशिक्षण दिनभर चलेगा। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष जेपी धनोपिया ने बताया कि पहले चरण में रीवा, शहडोल, जबलपुर, ग्वालियर, चंबल संभाग के प्रतिनिधि शामिल होंगे। दूसरे चरण के प्रशिक्षण में इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम, भोपाल, सागर संभाग के प्रतिनिधि सम्मिलित होंगे।

ट्रेंडिंग वीडियो