वचन-पत्र को 5 वर्षों में पूरा करने का किया वादा, CM बोले - गरीबी, बेरोजगारी से मुक्ति दिलाना सरकार का लक्ष्य

वचन-पत्र को 5 वर्षों में पूरा करने का किया वादा, CM बोले - गरीबी, बेरोजगारी से मुक्ति दिलाना सरकार का लक्ष्य

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Aug, 15 2019 05:18:50 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

Independence Day 2019- मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, प्रदेश के विकास की राह चुनौतियों से भरी है। जनता को दिए गए वचन-पत्र के वादों को पांच वर्षों में पूरा करेंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के नए हाईटेक पुलिस कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया।

भोपाल. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लाल परेड ग्राउंड में ध्वजारोहण कर, परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, प्रदेश के विकास की राह चुनौतियों से भरी पड़ी है। जनता को दिए गए वचन-पत्र के वादों को 5 वर्षों में पूरा करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के नए हाईटेक पुलिस कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया।

MUST READ : रिमझिम बारिश का सिलसिला जारी, 48 घटों तक मौसम का मिजाज सक्रिय, डैम का जल स्तर बढ़ा

 

गरीबी, बेरोजगारी से मुक्ति दिलाना मेरा लक्ष्य

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्य के नागरिकों को ही सरकार की शक्ति बताते हुए कहा कि सरकार और लोगों के बीच की दूरियां कम की जा रही हैं। आम नागरिकों के प्रति अपने संदेश में सीएम कमलनाथ ने कहा कि यही नागरिक शक्ति राज्य को गरीबी, बेरोजगारी से मुक्त, विकसित और ऊर्जावान प्रदेश बनाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार और लोगों के बीच की दूरी कम की जा रही है। हमारा प्रयास है कि बदलाव लोग स्वयं महसूस करें।

 

20 लाख से ज्यादा किसानों के डिफाल्टर ऋण माफ़

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि 20 लाख से ज्यादा किसानों के डिफाल्टर ऋण माफ़ हो गए हैं। बड़ी संख्या में किसानों ने एक ही जमीन पर कई बैंकों से ऋण ले रखा था। छानबीन पूरी होने पर उनका भी ऋण माफ़ कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि रबी 2018-19 में उत्पादित गेहूं विक्रय पर 160 रुपये प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि उनके खातों में जमा कराई जाएगी।

 

MUST READ : मुख्यमंत्री कमलनाथ के बड़े फैसले का इंतजार, भनक लगते ही सीएम हॉउस पहुंचे IAS अफसर

 

 

KAMAL NATH

गरीबों को 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली

सहकारी बैंकों में पूंजी की तरलता बढ़ाने के लिये तीन हजार करोड़ रुपए की योजना बनाई गई है। इसमें से एक हजार करोड़ रुपये जारी किये जा चुके हैं। किसानों को आधी दरों पर और गरीबों को 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली दी जा रही है। किसानों के लिए बनाई गई इंदिरा किसान ज्योति योजना में 10 हार्स पावर तक के स्थाई कृषि पंप कनेक्शनों को 1400 की जगह 700 रुपये प्रति हार्स पावर प्रतिवर्ष के फ़्लैट रेट से बिजली दी जा रही है। इसका लाभ 18 लाख किसानों को मिल रहा है।

 

MUST READ : Heavy rain alert : 36 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बाढ़ में बहे 5 की मौत

 

मैग्नीफिशेंट मध्य प्रदेश से आएगा निवेश

कमलनाथ ने कहा कि हमारी सरकार की योजना हर जिले में कम से कम एक औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने की है। निवेश आकर्षित करने के लिये 18 से 20 अक्टूबर तक इंदौर में 'मेग्नीफिशेंट मध्यप्रदेश' कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। हम कानून बनाने जा रहे हैं कि प्रदेश की औद्योगिक ईकाइयों को 70 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के लोगों को ही देना पड़ेगा।

KAMAL NATH 2

 

आदिवासियों को वन भूमि पट्टे दिए जाएंगे

मुख्यमंत्री ने कहा आदिवासी भाइयों को आर्थिक रूप से सम्पन्न बनाने के लिये सरकार औषधीय खेती योजना लेकर आ रही है। हमारे आदिवासी भाइयों को जिनका वन भूमि पर पुराना कब्जा है, वन अधिकार देने का काम पहले हुआ है, लेकिन कई आदिवासी भाइयों को पात्र होने के बावजूद छोड़ दिया गया।

 

MUST READ : पत्नी की बेवफाई से परेशान पति ने की आत्महत्या! वायरल सुसाइड नोट में लिखा हैरान कर देने वाला सच

 

इंदौर-भोपाल के साथ ग्वालियर होंगे मेट्रोपॉलिटन रीजन

भोपाल और इंदौर शहरों पर बढ़ते दबाव को कम करने के लिए राज्य सरकार एक महत्वाकांक्षी एकीकृत प्रोजेक्ट इंदौर-भोपाल एक्सप्रेस-वे पर काम कर रही है। भोपाल और इंदौर की लगातार बढ़ती आबादी मूलभूत सुविधाओं को प्रभावित कर रही हैं। इससे बचने के लिए उपनगरों की स्थापना जरूरी है। इसलिए भोपाल और इंदौर के साथ ही ग्वालियर को मेट्रोपॉलिटन रीजन बनाई जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned