MP Board 12th Result 2020ः रीवा की खुशी ने कला में 486 और नीमच के मुफद्दल वाणिज्य में 487 अंक के साथ टॉपर, यहां देखें टॉपर्स की लिस्ट

MP Board 12th Result 2020 में अगल संकाय के कुल 121 छात्रों ने बनाई स्टेट मेरिट में जगह, कला संकाय में रीवा की खुशी सिंह 486 नंबर के साथ टॉपर रहीं। उनको 97.2% अंक मिले है। विज्ञान-गणित समूह मंदसौर की प्रिया और रिंकू के 495-495 अंक और कामर्स में नीमच के मुफद्दल ने 487 अंक पाये हैं।

By: Hitendra Sharma

Published: 27 Jul 2020, 03:46 PM IST

भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल (MPBSE) की 12वीं का रिजल्ट घोषित हो गया है। इस बार कोरोना के चलते परीक्षाओं में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा पर फिर भी 121 छात्रों ने बनाई स्टेट मेरिट में जगह बनाई है। प्रावीण्य सूची में कला (मानविकी संकाय) 19 परीक्षार्थी, विज्ञान (गणित) संकाय 37 परीक्षार्थी, विज्ञान (जीवविज्ञान) संकाय 19 परीक्षार्थी , वाणिज्य संकाय 34 परीक्षार्थी , कृषि संकाय 07 परीक्षार्थी , ललितकला - गृहविज्ञान 05 परीक्षार्थी द्वारा प्रदेश स्तर की प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त किया है। यह प्रावीण्य सूची प्राविधिक है। कला संकाय में रीवा की खुशी सिंह 486 नंबर के साथ टॉपर रहीं। उनको 97.2% अंक मिले है। विज्ञान-गणित समूह मंदसौर की प्रिया और रिंकू के 495-495 अंक और कामर्स में नीमच के मुफद्दल ने 487 अंक पाये हैं।
देखें टॉपर्स की लिस्ट...

 

 

 

 

1_8.jpg2_5.jpg3_5.jpg4_4.jpg5_3.jpg6_4.jpg

हायर सेकण्डरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिये इस वर्ष नियमित एवं स्वाध्यायी परीक्षार्थियों के लिये प्रदेश में कुल 3657 परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षायें आयोजित की गई थी। हायर सेकण्डरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा में इस वर्ष नियमित परीक्षार्थियाों के रूप में 660574 परीक्षार्थी तथा स्वाध्यायी परीक्षार्थियों के रूप में 124282 परीक्षार्थी शामिल हुये। संपूर्ण परीक्षाओं में केवल नकल 276 प्रकरण बने, जो विगत अनेक वर्षों में न्यूनतम है।

आज 659729 नियमित परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिये गये। इनमें 277750 परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 161544 परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में, 14704 परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी एवं 10 परीक्षार्थी उत्तीर्ण श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। इस प्रकार कुल 454008 परीक्षार्थी परीक्षा में सफल हुये हैं जिनका परीक्षाफल 68.81% रहा है। 97960 नियमित परीक्षार्थियाों ने पूरक की पात्रता प्राप्त की है। 835 नियमित छात्रों के परीक्षाफल अंकों की पुष्टि न हो पाने के कारण बाद में घोषित किये जायेंगे।

 

मध्य प्रदेश में 3,682 परीक्षा केंद्रों पर कुल साढ़े आठ लाख बच्चे उपस्थित हुए थे। यह परीक्षा 9 जून से 16 जून तक आयोजित की गई थी। इससे पहले 10वीं बोर्ड के रिजल्ट पहले ही जारी हो चुके हैं। 2020 की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में लगभग 19 लाख छात्र छात्राएं शामिल हुए थे। पिछले 30 सालों में यह पहला मौका है जब दसवीं और 12वीं के रिजल्ट अलग-अलग जारी करने पड़े हैं। यह पिछले 30 सालों में पहली बार है जब 10वीं और 12वीं का रिजल्ट अलग-अलग घोषित किया गया। इस बार साढ़े आठ लाख स्टूडेंट्स ने 12वीं की परीक्षा दी थी।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned