scriptNow what will happen to the remaining BJP leaders? | MP CM Mohan Yadav: मोहन यादव के सीएम बनने के बाद अब बाकी दिग्गजों का क्या होगा? | Patrika News

MP CM Mohan Yadav: मोहन यादव के सीएम बनने के बाद अब बाकी दिग्गजों का क्या होगा?

locationभोपालPublished: Dec 12, 2023 08:06:02 am

Submitted by:

Manish Gite

मोहन यादव के सीएम बनने के बाद अब दिग्गज नेताओं का भविष्य अब क्या होगा! इस पर सवाल है। मोहन कैबिनेट में ये नेता जगह पाएंगे या फिर वापस लोकसभा की ओर का रूख करेंगे, ये अभी तय नहीं है।

bjp-leader.png

मोहन यादव के सीएम बनने के बाद अब दिग्गज नेताओं का भविष्य अब क्या होगा! इस पर सवाल है। मोहन कैबिनेट में ये नेता जगह पाएंगे या फिर वापस लोकसभा की ओर का रूख करेंगे, ये अभी तय नहीं है। शीर्ष नेतृत्व की लाइन पर ही आगे काम होगा। इसलिए मोहन की कैबिनेट नए चेहरों से भरी हो सकती है, लेकिन उसमें यदि किसी दिग्गज को मौका दिया गया तो वो भी शीर्ष नेतृत्व के स्तर पर ही तय होगा। इसके चलते ही सोमवार को देर शाम कुछ दिग्गज दिल्ली रवाना हो गए।

जानिए... किसकी क्या भूमिका संभव

1. प्रहलाद पटेल, विधायक: केंद्रीय मंत्री पद से विधायक बनने के बाद इस्तीफा दिया है। पहले उमा भारती के करीबी थे, अब पीएम मोदी की टीम में रहे हैं। आगे क्या- मोहन यादव की कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं, लेकिन ये आसान नहीं, क्योंकि खुद सीएम व डिप्टी सीएम पद के दावेदार थे। तीन-चार दिनों से बेहद सक्रिय थे। कैबिनेट में जगह न मिलने पर वापस लोकसभा का रूख हो सकता है।

2. वीडी शर्मा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष: फरवरी 2020 में प्रदेश अध्यक्ष बने थे। इनके आने के बाद सत्ता आई तो शुभंकर माना जाता है। एबीवीवी कॉडर के नेता हैं। प्रदेश में संघर्ष करके सत्ता तक आने वाले नेता हैं। आगे क्या- इनका कोई नुकसान नहीं हुआ है। प्रदेश अध्यक्ष के रूप में ही जिम्मेदारी संभालेंगे। लोकसभा चुनाव का मिशन सामने है। लोकसभा चुनाव के बाद आगे शीर्ष नेतृत्व के स्तर से फैसले होंगे।

3. कैलाश विजयवर्गीय, विधायक: वर्तमान में पार्टी के महासचिव हैं। यह भी बड़ा पद है। पश्चिम बंगाल प्रभारी रहे हैं। मालवा की राजनीति से आते हैं, दबंग छवि। मुश्किल सीटों पर जीतने वाले। शाह के करीबी, लेकिन सर्वमान्य चेहरा नहीं है।

4. राव उदयप्रताप सिंह, विधायक: होशंगाबाद सीट से सांसद थे। अब गाडरवाड़ा से विधायक हैं। ये सीएम या डिप्टी सीएम की दौड़ में नहीं थे। इसका फायदा मिलेगा। आगे क्या- मोहन यादव की कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं। कोई बड़ा विभाग इनको मिल सकता है।

5. रीति पाठक, विधायक: सीधी सीट से सांसद थीं। विधायक बनने के बाद इस्तीफा दिया है। दो बार की सांसद हैं। सीएम की बजाए डिप्टी सीएम पद की अहम दावेदार हैं। युवा चेहरा हैं। मोदी टीम का हिस्सा हैं और भविष्य का चेहरा हैं। आगे क्या- मोहन यादव की कैबिनेट में बड़ा प्रोफाइल मिल सकता है। बड़े विभाग की मंत्री बन सकती हैं।

6. राकेश सिंह, विधायक: प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष हैं। विधायक बनने के बाद सांसद पद से इस्तीफा दिया है। दूरगामी राजनीति के चेहरा हैं। आगे क्या- मोहन यादव की कैबिनेट में जगह मिल सकती है। लेकिन, इसका फैसला शीर्ष स्तर से ही होगा। खुद भी सीएम पद के दावेदार थे। इसके अलावा लोकसभा के लिए भी दावेदार हैं। शीर्ष के फैसले से आगे कदम तय हेांगे।

आगे क्या- मोहन यादव की कैबिनेट में आने की उम्मीद कम है। कैबिनेट में जगह नहीं पाते है तो लोकसभा चुनाव में ही कोई भूमिका निभाएंगे या वापस लोकसभा भी लड़ सकते हैं। कैबिनेट में आते हैं तो कोई अहम विभाग मिलेगा।

cartoon.jpg

ट्रेंडिंग वीडियो