scriptpolitics shivraj singh chouhan bjp president jp nadda meets in delhi | चुनाव परिणामों के बाद पहली बार भाजपा अध्यक्ष से मिले पूर्व सीएम शिवराज, मिलने वाली है बड़ी जिम्मेदारी | Patrika News

चुनाव परिणामों के बाद पहली बार भाजपा अध्यक्ष से मिले पूर्व सीएम शिवराज, मिलने वाली है बड़ी जिम्मेदारी

locationभोपालPublished: Dec 19, 2023 01:49:48 pm

Submitted by:

Manish Gite

सभी की निगाहें शिवराज और जेपी नड्डा की मुलाकात पर...। क्या शिवराज को मिलने वाली है बड़ी जिम्मेदारी...।

shivraj-singh.png
भाजपा की जीत के बाद मंगलवार को पहली बार दिल्ली में जेपी नड्डा से मुलाकात करते पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान।

मध्यप्रदेश की राजनीति में चल रही अटकलों के बीच पहली बार मंगलवार को शिवराज सिंह चौहान दिल्ली में थे। चुनाव परिणाम आने के बाद शिवराज की यह पहली मुलाकात थी। इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। सभी की निगाहें भी दिल्ली पर टिकी थी कि शिवराज सिंह को बुलाकर आलाकमान क्या कहने वाला है, क्यां उन्हें मध्यप्रदेश या केंद्र में कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है या उन्हें कोई समझाइश दी जा सकती है। जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद शिवराज सिंह चौहान काफी खुश नजर आए।


मध्यप्रदेश में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद मंगलवार को पहली बार शिवराज सिंह चौहान दिल्ली में थे। शिवराज ने सुबह 12 बजे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। दोनों की तस्वीरें भी जारी हुई हैं, जिसमें इस मुलाकात के बाद शिवराज सिंह चौहान काफी प्रसन्न लग रहे हैं। मध्यप्रदेश में सीएम बदले जाने के बाद शिवराज की भूमिका को लेकर तरह-तरह की अटकलें चल रही थीं। सभी की निगाहें भी इस मुलाकात पर लगी थीं। सभी जानना चाहते थे कि शिवराज सिंह चौहान को मध्यप्रदेश में या केंद्र में कोई नई जिम्मेदारी दी जाएगी, या उन्हें समझाइश देकर भेज दिया जाएगा। मुलाकात में जो भी चर्चा हुई है, इसके परिणाम जल्द ही सामने आ जाएंगे।

नई जिम्मेदारीः दक्षिण के राज्यों का दौरा करेंगे शिवराज

जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद शिवराज ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्हें दक्षिण भारत की यात्रा का दायित्व दिया जा रहा है। चौहान से जब मीडिया ने पूछा कि आपको क्या भूमिका दी जा सकती है तो चौहान ने कहा कि जो पार्टी मुझे जिम्मेदारी देगी मैं निभाउंगा। मैं पार्टी का कार्यकर्ता हूं। चौहान ने कहा कि वे कुछ दौरा करेंगे और दक्षिण के राज्यों में दौरा करेंगे। चौहान से जब पूछा गया कि वे राज्य में रहेंगे या केंद्र में तो चौहान ने कहा कि मैं केंद्र में भी रहूंगा और राज्य में भी। चौहान ने कहा कि जिंदगी मेरा एक मिशन है, मिशन को पूरा करने के लिए पार्टी के कार्यकर्ता के तौर पर कार्य करता रहूंगा। मेरे बारे में पार्टी तय करेगी। मैं अपने बारे में सोचता नहीं हूं। अगर आप एक बड़े मिशन के लिए काम करते हैं तो यह पार्टी तय करती है।

अपनी भूमिका पर क्या कहा था

इससे एक दिन पहले सोमवार को विधानसभा की सदस्यता लेने के बाद मीडिया से शिवराज ने कहा था कि भाजपा में अपनी भूमिका पर शिवराज ने कहा कि आज विधानसभा में नए विधायक शपथ ग्रहण कर रहे हैं और जिस ढंग से नई सरकार ने काम शुरू किया है, वो आने वाले दिनों में सुकून देने वाला है। मैंने हमेशा कहा है कि भारतीय जनता पार्टी एक मिशन है, यह आप और हम तय नहीं कर सकते, जहां पार्टी तय करेगी। चौहान ने बताया कि पर्यावरण मेरा प्रिय मुद्दा है, महिला सशक्तिकरण मेरा विषय है, यह विषय ऐसे हैं जो अंतर्रात्मा से निकलते हैं।

यह नया परिवर्तन है

चौहान ने कहा कि यह नया परिवर्तन हैं। खाससकर पीढ़ी परिवर्तन भी हुआ है। मोहन यादव युवा मुख्यमंत्री हैं, वहीं नेता प्रतिपक्ष भी युवा हैं। इसे हमें सकारात्मक रूप से लेना चाहिए। मुझे पूरा विश्वास है कि मोहन यादवजी के नेतृत्व में प्रदेश प्रगति और विकास की नई ऊंचाइयों को छुएगा।

प्रदेश में ज्यादा होगा विकास

मैंने लगभग 17 साल मुख्यमंत्री के रूप में प्रदेश की जनता की सेवा की और विकास हो या जन कल्याण मुझे आत्म संतोष भी है और गर्व भी है कि अपनी जनता के लिए और प्रदेश के विकास के लिए मैं बहुत काम कर पाया। लेकिन, स्वाभाविक रूप से एक राज्य के नागरिक के नाते मेरी यही इच्छा है कि मोहन यादव के नेतृत्व में इससे भी बेहतर काम हो। सोचने के दो दृष्टिकोण हो सकते हैं एक हो सकता है कि मैंने बहुत अच्छा किया, लेकिन नागरिक और अच्छे व्यक्ति के नाते मैंने जो किया उससे बहुत अच्छा मेरे बाद आने वाला मुख्यमंत्री करें। मैं मोहनजी, जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ल को शुभकामनाएं देता हूं।

यह भी चल रही हैं अटकलें

  • शिवराज की जेपी नड्डा से मुलाकात पर राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि शिवराज सिंह को केंद्रीय कृषि मंत्री का पद ऑफर किया जा सकता है। यह पद नरेंद्र सिंह तोमर के इस्तीफा देने के बाद से खाली हुई है।
  • यह भी कहा जा सकता है कि विदिशा संसदीय सीट से चुनाव लड़ने के लिए तैयार रहें।
  • यह भी कहा जा रहा है कि पार्टी संगठन से जुड़े लोगों ने केंद्रीय नेतृत्व को यह रिपोर्ट दी है कि वर्तमान सीएम मोहन यादव शिवराज सिंह की लोकप्रियता और सक्रियता से सहज महसूस नहीं कर रहे हैं।

 

यह भी पढ़ेंः

ट्रेंडिंग वीडियो