भाकियू ने कृषि कानून की प्रतियां जलाकर जताया गुस्सा, बोले- सुप्रीम कोर्ट ने भी बहकाया

Highlights

- भाकियू नेता गजेंद्र सिंह टिकैत की अगुवाई में प्रदर्शन

- किसानों ने जलाईं कृषि कानून की प्रतियां

- कृषि कानून को पूर्ण रूप से खत्म करने की मांग

By: lokesh verma

Published: 13 Jan 2021, 04:29 PM IST

बिजनौर. नए कृषि कानून का देशभर में विरोध हो रहा है। लंबे समय से देशभर के किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं, जिनको हर वर्ग का समर्थन भी लगातार मिल रहा है। इसी कड़ी में बुधवार को भाकियू ब्लाॅक अध्यक्ष गजेंद्र सिंह टिकैत की अगुवाई में भाकियू ने इस कृषि कानून को काले कानून की संज्ञा देते हुए प्रतियां जलाईं और अपना रोष प्रकट किया। किसानों का कहना है कि ये कानून किसान हित में नहीं है और जब तक केंद्र सरकार इस काले कानून को वापस नहीं लिया जाएगा, किसानों का प्रदर्शन जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें- Farmers Protest: किसानों ने सरकार को दी चेतावनी, अब रणनीति बनाकर राज्यपाल का भी करेंगे घेराव

किसानों ने कृषि कानून की प्रतियां जलाते हुए कहा कि सरकार के इस काले कानून की हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं और इसको पूर्ण रूप से खत्म करने की मांग करते हैं। जब तक कानून वापस नहीं होगा, किसानों का ये आंदोलन भी तब तक खत्म नही होगा। वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने भी मामले को होल्ड पर रख कर किसानों को बहकाने का काम किया है। लगभग 45 दिन बाद आंदोलन से लौटे गजेंद्र सिंह ने कहा कि हाईकमान के आदेश के बाद अब हम यहां किसानों को जागरूक करते हुए 26 जनवरी को होने वाले बड़े आंदोलन की तैयारी करेंगे।

यह भी पढ़ें- पंचायतीराज मंत्री ने किया यूपी में पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान, जानिये कब होंगे

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned