थोड़ा सा हंसने से शरीर को होंगे बहुत सारे फायदे, जानें इनके बारे में

जरा सोचिए कि हंसने से आपका जीवन कितना खूबसूरत हो सकता है। हंसी को सबसे बढिय़ा दवा माना गया है, फिर भी हम जिंदगी की आपाधापी में हंसना भूल जाते हैं।

By: विकास गुप्ता

Published: 08 Sep 2020, 10:19 PM IST

एक स्माइल आपकी फोटो में चार चांद लगा देती है, तो जरा सोचिए कि हंसने से आपका जीवन कितना खूबसूरत हो सकता है। हंसी को सबसे बढिय़ा दवा माना गया है, फिर भी हम जिंदगी की आपाधापी में हंसना भूल जाते हैं।
जर्मन वैज्ञानिकों द्वारा की गई रिसर्च के मुताबिक गुस्सा निकालना भी जरूरी होता है क्योंकि इससे कई जानलेवा बीमारियों का खतरा कम हो सकता है। गुस्से को दबा लेने या मन ही मन घुटने वाले लोगों में स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टीसोल का स्तर बढ़ जाता है और उन्हें हार्ट अटैक, कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां होने का खतरा 37 प्रतिशत तक बढ़ सकता है, इसलिए अपने गुस्से को इस तरह निकाल दें।
शेयर करें: किसी व्यक्ति से नाराज हैं व इसे उसके समक्ष व्यक्त करना आपको भारी पड़ सकता है, तो किसी मित्र या साथी से शेयर करें।
स्पष्ट कहें: अगर किसी व्यक्ति की बात बुरी लगे तो उसे स्पष्ट कह दें कि मैं आपकी अमुक बात से नाराज हूं। अपनी बात तर्कपूर्ण तरीके से रखें और अच्छे शब्दों का प्रयोग करें।
नोट लिखें:
साथी से अनबन होने पर नोट लिखकर नाराजगी का इजहार करें।
तनाव को करें फुर्र -
तनाव, दर्द और झगड़े आदि को खत्म करने की शक्ति हंसी से ज्यादा किसी में नहीं है। आपके दिमाग और शरीर को कंट्रोल करने का जो काम हंसी कर सकती है, वह दुनिया की कोई दवा नहीं कर सकती। विशेषज्ञों के अनुसार हंसना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इससे आप सामाजिक बने रहते हैं और लोगों के साथ जुड़े रहने पर आपको तनाव या अवसाद जैसी समस्या नहीं सताती हैं।
सकारात्मक ऊर्जा: हंसी मजाक से आप अपने दिल व दिमाग के बोझ को कम करते हैं। खुश रहने से आपके भीतर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और आप इसे अपने इर्द-गिर्द भी फैलाते हैं। आप जो काम करते हैं, उस पर अच्छे से फोकस कर पाते हैं। हंसने से आपकी बॉडी रिलेक्स होती है। कुछ देर तक खुलकर हंसने से मांसपेशियां कम से कम 45 मिनट तक रिलेक्स महसूस करती हैं। इसके अलावा आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।
झुर्रियां नहीं सताएंगी-
जो लोग अधिक हंसते हैं वे लंबे समय तक युवा दिखते हैं। हंसने से चेहरे की मांसपेशियों की एक्सरसाइज होती है, जिससे चेहरे पर जल्दी झुर्रियां नहीं पड़तीं। हंसने से दिल तक पहुंचने वाली धमनियों में खून का प्रवाह सुचारू रूप से होता है, जिससे हृदय रोगों की समस्या नहीं होती।
झूठी हंसी भी काम की-
झूठी हंसी भी आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद हैं। कई शोधों में साबित हुआ है कि नकली हंसी में भी आपकी कई मसल्स काम करती हैं और रिलेक्स महसूस करती हैं। साथ ही हंसने से शरीर में प्लेजर हार्मोंस का स्राव होता है, जिससे व्यक्ति का मूड ठीक रहता है।
फिटनेस भी मुस्कुराएगी-
खुश रहने से आप ज्यादा फिट व हैल्दी रह सकते हैं। जो लोग जिंदगी को खुलकर जीते हैं, वे बुढ़ापे में तेजी से चलते हैं और ज्यादा एक्टिव रहते हैं। साथ ही खुश रहने वाले बुजुर्ग लोगों को बिस्तर से उठने में, कपड़े पहनने में या नहाने में कोई दिक्कत नहीं होती।
दर्द में भी राहत-
कई शोधों में यह पाया गया है कि स्पोंडेलाइटिस या कमर के दर्द जैसे असहनीय दर्द में आराम के लिए हंसना एक प्रभावी विकल्प है। डॉक्टर लाफिंग थैरेपी की मदद से इन रोगियों को आराम पहुंचाने का प्रयास करते हैं।
मजबूत शरीर
इम्युनिटी पावर बढ़ती है
स्ट्रेस हार्मांस कम होते हैं
दर्द से छुटकारा मिलता है
मसल्स रिलेक्स होती हैं
हृदय रोग दूर रहते हैं
दिमाग भी तेज-
टेंशन और डर दूर होता है
मूड अच्छा रहता है
हंसने के ढूंढें बहाने
कॉमेडी फिल्म-टीवी शो देखें
कॉमेडी क्लब जॉइन करें
अच्छी किताबें पढ़ें
दोस्तों के साथ वक्तबिताएं
लाफ्टर योगा क्लास लें
बच्चों के साथ मस्ती करें
अपनी मर्जी की एक्टिविटी के लिए समय निकालें

Show More
विकास गुप्ता Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned