सेहत के लिए बुरी नहीं, अच्छी होती है दोपहर की झपकी

सेहत के लिए बुरी नहीं, अच्छी होती है दोपहर की झपकी

Yuvraj Singh Jadon | Updated: 10 Aug 2019, 09:48:21 AM (IST) तन-मन

दोपहर में सोने वाले लोगों का दिमाग दूसरे लोगों के मुकाबले ज्यादा तेज चलता है

दोपहर में ली जाने वाली नींद कई तरह के रोगों से बचा सकती है। दोपहर में सोने वाले लोगों का दिमाग दूसरे लोगों के मुकाबले ज्यादा तेज चलता है। अमरीका के हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हैल्थ के मुताबिक जो लोग दोपहर में कुछ देर के लिए सो पाते हैं उनमें हार्ट अटैक का खतरा 33 प्रतिशत कम हो जाता है। विंस्टन चर्चिल ने दोपहर की नींद को 'पॉवर नैप' ( power nap ) कहा था। मार्गरेट थेचर ( Margaret Thatcher ) ने कर्मचारियों को कह रखा था कि उन्हें दोपहर में रोजाना 2.30 से 3.30 बजे तक डिस्टर्ब न करें। बिल गेट्स ( bill gates ) भी इसी नियम का पालन करते हैं। जानते हैं क्या हैं दोपहर की नींद के फायदे-

ये हैं फायदे
- रोजाना दोपहर को 10-30 मिनट की झपकी से याद्दाश्त बढ़ती है।
- जर्नल ऑफ एप्लाइड फिजियोलॉजी में प्रकाशित एक शोध के अनुसार इससे हृदयघात की आशंका 37 प्रतिशत कम हो जाती है क्योंकि यह बीपी को नियमित करती है।
- बर्कले यूनिवर्सिटी के एक शोध के अनुसार किसी व्यक्ति के गुस्से और चिड़चिड़े व्यवहार से परेशान हैं और ये लक्षण शाम तक बढ़ जाते हैं, ऐसा व्यक्तियदि दोपहर को डेढ़़ घंटे की नींद ले तो लक्षणों में सकारात्मक बदलाव दिखता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned