Women's Day: बदलाव के दौर में इस तरह खुश रह सकती हैं महिलाएं

Women's Day: बदलाव के दाैर में महिलाआें में चिड़चिड़ापन, गुस्सा, तनाव व असंतोष बढ़ने लगता है। नतीजन आए दिन पति या बच्चों के साथ तकरार होने लगती है। इस स्थिति से परिजन ही नहीं खुद महिलाएं भी परेशान रहती हैं...

By: युवराज सिंह

Published: 08 Mar 2020, 05:30 AM IST

Women's Day In Hindi: चालीस साल की उम्र के बाद ज्यादातर महिलाओं के स्वभाव में बदलाव आने लगता है। चिड़चिड़ापन, गुस्सा, तनाव व असंतोष बढ़ने लगता है। नतीजन आए दिन पति या बच्चों के साथ तकरार होने लगती है। इस स्थिति से परिजन ही नहीं खुद महिलाएं भी परेशान रहती हैं। आइए जानते हैं कि महिलाओं में 40 क्या बदलाव आत हैं और उन्हें खुश रहने के लिए क्या करना चाहिए

हार्मोनल बदलाव
यह प्रीमेनोपॉज पीरियड होता है जिसमें मूड स्विंग होने लगते हैं। इससे स्वभाव में बदलाव के साथ-साथ मासिक चक्र में गड़बड़ी, हार्मोन असंतुलन, हॉट फ्लश, एकाग्रता में कमी, नींद न आने की समस्या होने लगती हैं। ऐसा एस्ट्रोजन हार्मोन में गिरावट की कमी से होता है।

सामाजिक बदलाव
बच्चे बड़े हो जाते हैं और पढ़ाई या करियर की वजह से बाहर रहने लगते हैं। वे मां से ज्यादा बातचीत नहीं कर पाते। जिससे मां उपेक्षित महसूस करने लगती है। ऐसे में परिवार के लोगों को महिला को सपोर्ट कर उनकी भावनाओं को समझना चाहिए।

खुश रहने के लिए करें ये काम
सही लाइफस्टाइल चुने
स्ट्रेस फ्री रहने के लिए सही लाइफस्टाइल चुनना भी बहुत जरूरी है। इसलिए अपनी दिनचर्या को सही बनाए और समय पर उठने से लेकर हैल्दी डाइट तक को अपनी रूटीन में शामिल करें। उठने के बाद योग और व्यायाम जरूर करें और पौष्टिक नाश्ता लेना न भूलें। भोजन में पौषक तत्वों को शामिल करे। यदि आपको इसमें परेशानी हो रही है तो किसी एक्सपर्ट या डाइटीशियन की हेल्प लें।

डांस करें
स्ट्रेस को दूर करने के लिए यह सबसे बेस्ट आइडिया है। इसे दूर करने के लिए अपने किसी फेवरेट गाने पर खुलकर डांस करें। ऐसा करने से आपका मूड फ्रेश हो जाएगा और आपको हल्का महसूस होगा। डांस करने से आपके शरीर में स्‍फूर्ति आ जाती है और थोड़ी देर के लिए मन से टेंशन दूर हो जाती है जिससे आप पॉजिटिव सोच पाते हैं। इसके साथ ही इससे शरीर में रक्‍त का संचार भी अच्‍छे से हो जाता है।

खुलकर हंसे
खुलकर हंसने से न सिर्फ आपका स्ट्रैस दूर होता है बल्कि यह आपकी सेहत के लिए भी अच्छा है। एक रिसर्च के अनुसार, खुलकर हंसने से तनाव दूर होता है। इससे कॉर्टिसोल लोअर होता है, जिससे दिमाग में एंडोमॉर्फिन कैमिकल रिलीज होते हैं। इससे आपका तनाव दूर होता है। इससे लिए आप कोई कॉमेडी शो देख सकते हैं या फिर अपने किसी हंसमुख दोस्त से बात कर सकते हैं।

गाने सुनें
रिसर्च के अनुसार, गाने सुनने से ब्‍लड़ प्रेशर कम, हार्ट रेट नॉर्मल और तनाव दूर हो जाता है। इसलिए जब भी आपको टेंशन हो अपने पसंदीदा गानें सुने लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि आप दुखी करने वाले गाने न सुने।

लोगों के साथ समय बिताएं
अक्सर तनाव या स्ट्रेस होने पर आप अकेला रहना पसंद करते है लेकिन इससे आपकी समस्या और भी बढ़ सकती है। इसलिए लोगों से बातचीत करें। अपनी फैमिली और फ्रैंड्स के साथ समय बिताएं। ऐसा करने से आपको हल्‍का महसूस होगा और एक ताकत अंदर से आएगी जो आपको कुछ नया करने या सोचने की शक्ति प्रदान करेगा। इससे आपको अपनी समस्‍या का हल भी मिल सकता है।

Show More
युवराज सिंह Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned