scriptArticle 370 based 4 films list shah rukh khan pathaan mudda 370 jam | Article 370: आर्टिकल 370 से जुड़ी हैं ये 4 फिल्में, क्रूरता की कहानी देख कांप जाएगी रूह | Patrika News

Article 370: आर्टिकल 370 से जुड़ी हैं ये 4 फिल्में, क्रूरता की कहानी देख कांप जाएगी रूह

Published: Dec 12, 2023 01:02:55 pm

Submitted by:

Kirti Soni

Article 370: सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के फैसले को बरकरार रखा है। मोदी सरकार ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाया और राज्य को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटा था। आइए जानते हैं मनोरंजन जगत में आर्टिकल 370 से जुड़ी फिल्मों के बारे में।

article_370_movie.jpg
मनोरंजन जगत में आर्टिकल 370 से जुड़ी फिल्मों के बारे में
Article 370: 2019 में हुए आर्टिकल 370 के हटने के बाद, जिसमें जम्मू और कश्मीर को विशेष स्थिति प्रदान की गई थी, उस पर सुप्रीम कोर्ट ने अब फैसला सुनाया है। कोर्ट ने मोदी सरकार के आर्टिकल 370 को हटाने के फैसले को वैध माना है और इससे संबंधित कई अर्जियां दर्ज की गई हैं। आइये जानते हैं उन फिल्मों के बारे में जो इस विवाद से जुड़ी हुई हैं।
'पठान'
शाहरुख़ ख़ान की 'पठान' एक ऐसी फ़िल्म है जो आर्टिकल 370 के हटने के बाद की गई उत्तराधिकारी राजनीति पर केंद्रित है। इसमें एक आदमी का मिशन है जो अशांति, नफ़रत, प्रतिशोध, और देश को बचाने के लिए उठता है। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिटी का परिचय दिया है और दर्शकों को एक महत्वपूर्ण संदेश से समर्थन करती है।
'विधी'
'विधी' एक कन्नड़ फ़िल्म है जो भी आर्टिकल 370 के समय में घटित होने वाली घटनाओं पर आधारित है। इसमें रवि शंकर, शिवराम, रमेश भट, और गणेश राव जैसे प्रमुख कलाकार हैं, जो इस समय के दौरान घटित घटनाओं को दिखाने के लिए अपनी श्रमिकता दिखा रहे हैं।

'मुद्दा 370 J&K'
'मुद्दा 370 J&K' राकेश सवंत द्वारा निर्देशित एक फ़िल्म है जो 1990 में हुई कश्मीरी पंडितों के अखिरकार अपने गाँवों से बाहर निकाले जाने की कठिनाईयों पर आधारित है। यह एक दुखद इतिहास को दर्शाने वाली एक रूपांतरित फ़िल्म है जो दर्शकों को उस समय के दर्दभरे पलों की याद दिलाती है।

यह भी पढ़ें

'एनिमल' की दहाड़ से ‘गदर 2’ का थमा तूफान, 11 दिनों में रणबीर की फिल्म ने दिया धोबी-पछाड़

'आर्टिकल 370'
'आर्टिकल 370' इब्राहीम बलोच की निर्देशित एक छोटी फ़िल्म है जिसमें कश्मीरी कन्या गुल-ए-राना की कहानी है, जो अपने पति के वापसी का इंतज़ार करती है और कश्मीर में हो रहे आतंकवाद का सामना करती है। यह फ़िल्म दर्शकों को एक गहरे समाजशास्त्रीय और राजनीतिक दृष्टिकोण से सोचने पर मजबूर करती है।

ट्रेंडिंग वीडियो