माउंट एवरेस्‍ट विजेता IAS Ravindra Kumar बने Bulandshahr के DM, पढ़ें किसान के बेटे की सफलता की कहानी

माउंट एवरेस्‍ट विजेता IAS Ravindra Kumar बने Bulandshahr के DM, पढ़ें किसान के बेटे की सफलता की कहानी

sharad asthana | Updated: 11 Jul 2019, 02:08:27 PM (IST) Bulandshahr, Bulandshahar, Uttar Pradesh, India

  • बुलंदशहर में Abhay Singh की जगह IAS Ravindra Kumar बने नए डीएम
  • 2011 बैच के सिक्किम कैडर के अधिकारी हैं IAS Ravindra Kumar
  • Mount Everest फतह करने वाले देश के पहले IAS अधिकारी हैं रविंद्र कुमार

बुलंदशहर। उत्‍तर प्रदेश के बुलंदशहर में अभय सिंह (Abhay Singh) की जगह आईएएस रविंद्र कुमार ( IAS Ravindra Kumar) को डीएम (DM) बनाया गया है। आईएएस रविंद्र कुमार (IAS Ravindra Kumar) ने 11 जुलाई 2019 (गुरुवार) को सुबह करीब 10 बजे बुलंदशहर डीएम का चार्ज संभाल लिया। ऐसे में आइए हम आपको एक किसान के बेटे की सफलता की कहानी बताते हैं।

IAS Ravindra Kumar

कविताएं लिखने का है शौक

आईएएस रविंद्र कुमार (IAS Ravindra Kumar) 2011 बैच के सिक्किम कैडर के अधिकारी हैं। उनका जन्‍म 1981 में बिहार के बेगूसराय में किसान परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम शिवनंदन प्रसाद सिंह है। रविंद्र कुमार को शुरू से कविताएं लिखने का भी काफी शौक रहा है। उन्‍होंने गरीबी और भ्रष्टाचार पर काफी कविताएं लिखी हैं। रविंद्र कुमार ने 10वीं कक्षा की पढ़ाई बेगूसराय के जवाहर नवोदय से की थी। इसके बाद रांची में डीएवी से 12वीं की और मुंबई में मर्चेंट नेवी की पढ़ाई करने चले गए। उनका सेलेक्‍शन आईआईटी में भी हुआ था, लेकिन वह गए नहीं। उन्‍होंने इटली की एक कंपनी में छह साल तक नौकरी भी की। इस दौरान उन्‍होंने मार्शल आर्ट्स में ब्‍लैक बेल्‍ट और तैराकी में महारत हासिल की।

यह भी पढ़ें: Video: बुलंदशहर के DM abhay singh के घर पर पड़ा CBI का छापा तो शासन ने की यह बड़ी कार्रवाई

IAS Ravindra Kumar

दो बार की है माउंट एवरेस्‍ट पर चढ़ाई

Ravindra Kumar देश के पहले IAS अधिकारी हैं, जिन्‍होंने माउंट एवरेस्‍ट (Mount Everest) फतह किया है। वर्ष 2013 में ही वह पहले प्रयास में एवरेस्ट (Mount Everest) की चोटी पर चढ़ गए थे। एवरेस्‍ट पर फतह का सफर उन्‍होंने 6 अप्रैल से शुरू किया था। 23 मई को गंगा जल लेकर वह चोटी पर पहुंचे। वहां उन्होंने गंगा जल चढ़ाया और गंगा की सफाई का संदेश दिया।

यह भी पढ़ें: इस तेजतर्रार IAS से की थी डीएम Abhay Singh ने पहली शादी, इन विवादों से रहे चर्चा में

तीन मंजिला बिल्डिंग पर चढ़कर की प्रैक्टिस

इससे पहले उन्‍होंने दार्जिलिंग में एक इंस्टीट्यूट से इसके लिए कोर्स भी किया था। कोर्स करने के बाद रविंद्र कुमार ने रोज कम से कम चार घंटे ट्रैकिंग की प्रैक्टिस की थी। यह प्रैक्टिस उन्‍होंने गंगटोक में तीन मंजिला बिल्डिंग पर की। उन्‍होंने माउंट एवरेस्‍ट पर एक नहीं बल्कि दो बार चढ़ाई की है। ऐसा करने वाले चंद भारतीय ही हैं। रविंद्र कुमार चीन और नेपाल के रास्‍ते से माउंट एवरेस्ट फतह कर चुके हैं।

IAS Ravindra Kumar

ये अवार्ड मिले

बुलंदशहर के नए डीएम रविंद्र कुमार को सिक्किम खेल रत्न अवार्ड, बिहार विशेष खेल सम्मान, कुश्ती रत्न सम्मान समेत कई पुरस्कार मिल चुके हैं। वर्ष 2015 में उन्‍होंने एक अभियान के दौरान के भूकंप का सामना किया था। इसमें उन्‍होंने अपनी जान की परवाह किए बिना कई लोगों की जान बचाई थी। रविंद्र कुमार सीडीओ, डीएम और कमिश्‍नर समेत कई पदों पर कार्य कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें: Video: रात में निरीक्षण पर निकले डीएम अभय सिंह, सुबह पड़ गया सीबीआई का छापा

किताब भी लिखी है रविंद्र कुमार ने

इसके अलावा उन्‍होंने एक किताब भी लिखी है। इसमें उन्‍होंने अपनी एवरेस्‍ट पर चढ़ाई का पूरा रोमांच निचोड़ दिया है। 2013 में एवरेस्‍ट पर चढ़ाई के बाद रविंद्र कुमार ने मेनी एवरेस्ट्स नाम से किताब लिखी थी। इसमें उन्‍होंने यात्रा की पूरी जानकारी के साथ ही चुनौतियों को भी सांझा किया।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned