Career Courses: 10वीं के बाद ये कोर्सेज हैं अच्छे कॅरियर की गारंटी, ऐसे चुने सही सब्जेक्टस

Career Courses: 10वीं पास करने के बाद मुख्य रूप से चार स्ट्रीम स्टूडेंट के सामने आती है। कॉमर्स, ह्यूमैनिटीज, साइंस-मैथेमेटिक्स...

By: Deovrat Singh

Updated: 23 Apr 2020, 01:26 PM IST

10वीं पास करने के बाद मुख्य रूप से चार स्ट्रीम स्टूडेंट के सामने आती है। कॉमर्स, ह्यूमैनिटीज, साइंस-मैथेमेटिक्स या साइंस बायोलॉजी। इनमें चुनाव करना इतना मुश्किल नहीं है जितना मुश्किल अपनी पसंद नापसंद को शॉर्टलिस्ट करना। स्टूडेंट्स के जेहन में पसंद को लेकर वैसे तो कई रास्ते होते हैं लेकिन जब बात कॅरियर की आती है तो वे दुविधा में पड़ जाते हैं। इसलिए सबसे पहले अपने हुनर की पहचान कर अपनी पसंद को समझने की कोशिश करनी चाहिए।

कॉमर्स
यदि आपका इंटरेस्ट बिजनेस और ट्रेड में ज्यादा है तो कॉमर्स या वाणिज्य बेहतरीन विकल्प हो सकता है। मुख्य रूप से इसमें इकोनॉमिक्स, अकाउंट्स और बिजनेस स्टडीज जैसे विषयों की पढ़ाई कराई जाती है। रुपयों के लेनदेन से लेकर अर्थव्यवस्था पर नजर रखना इस स्ट्रीम के तहत सीखने को मिलता है।

कॅरियर के विकल्प
इस संकाय में शिक्षा प्राप्त कर इसमें बैचलर्स और मास्टर्स कर कई पदों पर कार्य कर सकते हैं। जैसे चार्टर्ड अकाउंटेंट, चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट, कंपनी सचिव, लोन एग्जीक्यूटिव, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर, सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर, इकोनॉमिस्ट, वेन्चर कैपिटलिस्ट, एग्रीकल्चर इकोनॉमिस्ट, स्टॉक एक्सचेंज एडवाइजर आदि विकल्प हैं जिसमें करियर बना सकते हैं।

ह्यूमैनिटीज
सामाजिक दृष्टिकोण को मजबूत करना हो तो कला संकाय के तहत ह्यूमैनिटीज काफी विस्तृत क्षेत्र है। साथ ही कला संकाय के तहत कला और संस्कृति में रुचि रखने वालों के लिए भविष्य में अपार संभावनाएं हैं। इसमें मुख्य रूप से इतिहास, ज्योग्राफी, पॉलिटिकल साइंस, साइकोलॉजी, पत्रकारिता, फिल्म व टीवी इंडस्ट्री, संगीत आदि की शिक्षा भी प्राप्त की जा सकती है।

कॅरियर के विकल्प
अक्सर सुनने में आता है कि कला संकाय वाले स्टूडेंट के पास हुनर के दम पर कॅरियर के कई विकल्प मौजूद होते हैं। जैसे कि शिक्षक बनने के अलावा पत्रकार, नेता, इतिहासकार, लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता, आर्टिस्ट, संगीतकार, फैशन डिजाइनर, ग्राफिक डिजाइनर आदि के रूप में अपनी पहचान बना सकते हैं।

साइंस (मैथेमेटिक्स और बायोलॉजी)
जीवाणुओं के अलावा नेचुरल साइंस, प्रकृति में होने वाले बदलावों और वायुमंडल की प्रकृति के बारे में जानने के अलावा समझने के विज्ञान को इस स्ट्रीम में जान सकते हैं। अवलोकन के अलावा इस संकाय में परीक्षण किया जाता है। साइंस बायोलॉजी के तहत मेडिकल और नॉन मेडिकल फील्ड में अपना भविष्य बना सकते हैं। वहीं साइंस मैथेमेटिक्स चुनकर इंजीनियरिंग बेहतर ऑप्शन है।

कॅरियर के विकल्प
माना जाता है कि इस स्ट्रीम में पढ़ाई काफी कठिन होती है। लेकिन ऐसा नहीं है। इस फील्ड में BE/ B.Tech./ MBBS/ BDS करने के बाद मुख्य रूप से डॉक्टर या इंजीनियर बन सकते हैं। इसके अलावा एग्रीकल्चर, एक्वा साइंस, एस्ट्रोनॉमी, बायोकेमिस्ट्री, इलेक्ट्रॉनिक्स, हॉर्टिकल्चर, होम साइंस, फोटोनिक्स, फॉरेंसिक साइंस, अर्थ साइंस जैसे क्षेत्रों में अपना कॅरियर बना सकते हैं।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned