College: कॉलेज छात्रों को मिली राहत, प्रायोगिक परीक्षा को लेकर आए यह निर्देश

अब स्नातक, स्नातकोत्तर के लिखित परीक्षा के बाद होंगी।

By: ashish mishra

Published: 09 Apr 2021, 09:52 PM IST

छिंदवाड़ा. कॉलेजों में सत्र 2020-21 की प्रायोगिक परीक्षाएं अब स्नातक, स्नातकोत्तर के लिखित परीक्षा के बाद होंगी। उच्च शिक्षा विभाग ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया है। विभाग के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी डॉ. धीरेन्द्र शुक्ल ने विस्तृत निर्देश विश्वविद्यालय कुलसचिव एवं विवि प्राचार्य को दिए हैं। जिसमें कहा गया है कि सत्र 2020-21 की विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं के अंतर्गत स्नातक स्तर पर समस्त प्रायोगिक परीक्षा मार्च-2021 तक आयोजित कराने के निर्देश जारी किए गए थे, लेकिन अधिकतर कॉलेज में प्रायोगिक परीक्षा संपन्न नहीं हुई है। विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी ने कहा है कि वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए प्रायोगिक परीक्षाओं का आयोजन स्थगित रखा जाए। निर्देश में कहा गया है कि प्राचार्य स्नातक, स्नातकोत्तर की परीक्षाओं के आयोजन के पश्चात शेष प्रायोगिक परीक्षा का शीघ्र आयोजन कर निर्धारित समय-सीमा में विश्वविद्यालयों को अंक प्रेषित करना सुनिश्चित करेंगे। गौरतलब है कि उच्च शिक्षा विभाग ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अप्रैल माह में आयोजित होने वाली सभी प्रकार की परीक्षाओं को मई माह में कराने के निर्देश दिए हैं। स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं नियमित एवं स्वास्थायी परीक्षार्थियों की भौतिक रूप से परीक्षा केन्द्रों में उपस्थिति के साथ मई 2021 में आयोजित होंगी। स्नातकप्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं ओपन बुक पद्धति से जून 2021 में आयोजित की जाएंगी। इन परीक्षाओं में नियमित एवं स्वाध्यायी परीक्षार्थी अपने निवास में ही रहकर परीक्षा देंगे तथा निकट के निर्धारित संग्रहण केन्द्र में उत्तर पुस्तिकाएं जमा करेंगे।
्र

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned