32 बरस के हुए रवींद्र जडेजा, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इन मैचों में बने संकटमोचक

-टीम इंडिया के रवींद्र जडेजा ने पूरे किए 32 बसंत। 1988 में गुजरात के जामनगर में जन्में।
-न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया के संकटमोचक बने रवींद्र जडेजा।
-जडेजा ने वर्ष 2009 में टीम इंडिया की ओर से किया क्रिकेट में डेब्यू।

By: भूप सिंह

Updated: 06 Dec 2020, 01:31 PM IST

 

नई दिल्ली। टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा(Ravindra Jadeja) रविवार को 32 साल के हो गए हैं। उनका जन्म 6 दिसंबर, 1988 को गुजरात (Gujarat) के जामनगर (Jamnagar) में हुआ था। फिलहाल वह सिर में चोट लगने की वजह से ऑस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ टी-20 सीरीज से बाहर हो गए हैं। जडेजा (Ravindra Jadeja) ने वर्ष 2009 में टीम इंडिया (Team India) की ओर से डेब्यू किया था, तबसे वह टीम इंडिया के लिए ऑलराउंड प्रदर्शन कर रहे हैं। कई वो टीम इंडिया के संकटमोचक भी साबित हुए हैं। आइए जानते हैं उन चुनिंदा मैचों के बारे में जिनमें जडेजा ने संकटमोचक का रोल अदा किया है।

वीरेंद्र सहवाग ने ऐसे दी जन्मदिन की बधाई, जीते जी नहीं भूल पाएंगे शिखर धवन

वर्ष 2014 न्यूजीलैंड के खिलाफ
वर्ष 2014 में ऑकलैंड के खिलाफ खेले गए वनडे मैच में भारत को जीत के लिए 315 रन बनाने थे। लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम इंडिया के 6 बल्लेबाज केवल 184 रन के स्कोर पर पेवेलियन लौट चुके थे। इस मैच में जडेजा ने 66 रन की शानदार पारी खेली थी और रविचंद्रन अश्विन के साथ मिलकर 85 रन की अहम पार्टनरशिप की थी। भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया यह मैच ड्रा हो गया और जडेजा को 'मैन ऑफ द मैच' अवॉर्ड से नवाजा गया।

भारत के टेस्ट विशेषज्ञों को लंबे अरसे बाद मिलेगा प्रतिस्पर्धी क्रिकेट का अनुभव
वर्ष 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ
वर्ष 2016 में मोहाली टेस्ट में जब भारत और इंग्लैंड की टीम आमने-सामने थी। टीम इंडिया के पहली पारी में 6 विकेट गिर चुके थे। उस वह भारत, इंग्लैंड से 77 रन पीछे था। तब रवीन्द्र जडेजा ने शानदान 90 रन की पारी खेली और रविचंद्रन अश्विन के साथ मिलकर टीम के स्कोर केा 417 रन पर पहुंचा दिया। इस तरह भारत को 134 रन की लीड हासिल हुई। जडेजा को इस मैच में 'मैन ऑफ द मैच' अवॉर्ड दिया गया। भारत ने ये मैच 8 विकेट से जीत लिया था।

लारा की इस युग के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों की सूची में कोहली और बुमराह

वर्ष 2020 में ऑस्ट्रेलिया
हाल ही 4 दिसंबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए वनडे मैच में टीम इंडिया के 5 विकेट 92 रन के स्कोर पर गिर चुके थे। ऐसे में जडेजा ने मोर्चा संभाला और 23 गेंदों पर 5 चौके और 1 छक्के की मदद से 44 रन बनाए। इस तरह से टीम इंडिया ने निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 161 रन का स्कोर बनाया। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम ओवर में केवल 150 रन ही बना सकी। भारत ने इस मैच में ऑस्ट्रेलिया को 11 रनों से करारी शिकस्त दी। इस कामयाबी में जडेजा ने अहम योगदान दिया, हालांकि अब वह सिर में चोट लगने की वजह से टी20 सीरीज से बाहर हो चुके हैं।

सिडनी टी-20 : चोटों से परेशान आस्ट्रेलिया के लिए मुश्किल होगी वापसी, हिसाब चुकता करने उतरेगा भारत

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned