script रण में जाने से पहले बताए आखिर गुर, मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण के बाद रवानगी | Rajasthan Election: Departure of polling parties after final training | Patrika News

रण में जाने से पहले बताए आखिर गुर, मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण के बाद रवानगी

locationदौसाPublished: Nov 24, 2023 09:51:59 pm

Submitted by:

gaurav khandelwal

पीजी कॉलेज में लगा के कार्मिकों का मेला, रिटर्निंग अधिकारियों ने कार्मिकों की शंकाओं का समाधान किया एवं सभी जरूरी प्रक्रियाओं के बारे में बारीकी से जानकारी दी

रण में जाने से पहले बताए आखिर गुर, मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण के बाद रवानगी
रण में जाने से पहले बताए आखिर गुर, मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण के बाद रवानगी
चुनावी रण में जाने से पहले मतदान दलों को शुक्रवार को प्रशिक्षण के दौरान आखिरी बार गुर सिखाए गए। प्रशिक्षण के बाद ईवीएम, वीवीपैट, कंट्रोल यूनिट एवं अन्य सामग्री सौंपी गई। इस दौरान रिटर्निंग अधिकारियों ने कार्मिकों की शंकाओं का समाधान किया एवं सभी जरूरी प्रक्रियाओं के बारे में बारीकी से जानकारी दी।

उन्होंने मतदान शुरू होने से पहले मॉक पोल सही तरीके से सम्पन्न कराने पर जोर दिया। इस दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी कमर चौधरी, पुलिस अधीक्षक वंदिता राणा, अतिरिक्त जिला कलक्टर राजकुमार कस्वा, एडीएम लालसोट भावना शर्मा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी धारा सिंह मीना, जिले के पांचों रिटर्निंग अधिकारी व केन्द्रीय पर्यवेक्षकों ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इसके बाद 400 छोटी-बड़ी बसों से पार्टियां पोलिंग बूथ के लिए रवाना हुई। प्रत्येक पोलिंग बूथ पर एक पीआरओ सहित चार कर्मचारियों को लगाया गया है। इसके लिए इन्हें तीन चरणों में प्रशिक्षण भी दिया गया है। कुल मतदान के कार्य में जिले में करीब 5500 कर्मचारी नियुक्त हैं।
डाक मतपत्र से डाले वोट


विधानसभा चुनाव में अधिग्रहण किए गए वाहन चालक, परिचालक एवं खलासी पोलिंग बूथ पर ही रहेंगे। ऐसे में ये लोग मतदान से वंचित नहीं रहे। इसके लिए डाक मतपत्र की व्यवस्था की गई थी। ऐसे में इन्होंने कॉलेज में रखी गई डाक मतपेटी में वोट डाले। हालांकि बहुत सारे चालक-परिचालकों ने फार्म नंबर 12 नहीं भरा था, ऐसे में ये मतदान नहीं कर सके। इसके अलावा पुलिसकर्मियों एवं अन्य कर्मचारियों के लिए भी डाक मतपत्र डालने के लिए सुविधा केन्द्र स्थापित किए गए।
बूथ पर पहुंचकर की रिपोर्टिंग


प्रत्येक पोलिंग पार्टी की ओर से अपने लिए निर्धारित बूथ पर पहुचंने के बाद सुरक्षित पहुचने की जानकारी निर्वाचन विभाग को दी। मतदान दिवस को मॉक पोल, प्रत्येक दो घण्टे में होने वाले मतदान की स्थिति एवं शाम को 5 बजे केन्द्र के अन्दर कतार में लगे मतदाताओं की संख्या भी अपडेट होगी।
कार्मिकों को मिलेगी पूरी सुविधा


पहले मतदान के दौरान गोपनीयता बनाए रखने के लिए ईवीएम मशीन के तीन ओर लगाने के लिए निर्वाचन विभाग की ओर से शीट उपलब्ध कराई गई है। इसके अलावा बिस्तर सहित अन्य इंतजाम भी संबंधित बूथों पर की गई है। इससे मतदान दलों में गए कार्मिको इस बार कम सामान ले जाना पड़ा तथा सुविधा महसूस हुई।
प्रशिक्षण टेबल पर ही दी सामग्री


अंतिम प्रशिक्षण के दौरान मतदान दलों को उनकी प्रशिक्षण टेबल पर ही ईवीएम सहित अन्य सामग्री उपलब्ध करा दी गई। कार्मिकों को भटकना नहीं पड़ा। इसके अलावा कई जगह कर्मचारियों का भुगतान भी ऑनलाइन खाते में जमा कराने की व्यवस्था की है। इससे उन्हें कतार में लगना नहीं पड़ेगा।

8-8 बूथ महिला व युवा तथा 1 बूथ दिव्यांग प्रबंधित


जिला निर्वाचन अधिकारी कमर चौधरी ने बताया कि जिले में महिला कार्मिकों, युवा कार्मिकों, पीडब्ल्यूडी कार्मिकों द्वारा प्रबन्धित कुल मतदान केन्द्र की संख्या 85 है। प्रति विधानसभावार 8-8 मतदान केन्द्र युवा एवं महिला तथा एक-एक पीडब्ल्यूडी कार्मिकों द्वारा प्रबन्धित मतदान केन्द्र गठित किया गया है। इन बूथों पर कई जगह सजावट की गई है। महिला बूथों पर गुलाबी रंग पुतवाकर गुब्बारे भी लगवाए हैं। मतदाताओं के लिए कारपेट बिछाकर स्वागत की तैयारी है।

ट्रेंडिंग वीडियो