देश के सबसे अमीर नहीं बल्कि सबसे ज्यादा कर्जदार भी हैं मुकेश अंबानी

देश के सबसे अमीर नहीं बल्कि सबसे ज्यादा कर्जदार भी हैं मुकेश अंबानी

Saurabh Sharma | Publish: Apr, 21 2019 07:30:01 AM (IST) | Updated: Apr, 21 2019 07:51:53 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • दुनिया के 13वें सबसे अमीर इंसान हैं मुकेश अंबानी
  • 2019 वित्तीय वर्ष में मुकेश अंबानी पर कर्ज 2,87,505 करोड़ रुपए हुआ
  • मौजूदा समय में मुकेश अंबानी के पास कुल संपत्ति है 3.83 लाख करोड़ रुपए

नई दिल्ली। देश के सबसे अमीर इंसान रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी , एशिया में भी उनसे ज्यादा दौलत भी किसी के पास नहीं है। दुनिया में मुकेश अंबानी 13 वें सबसे अमीर आदमी है। उनकी दौलत और लाइफ स्टाइल की हमेशा चर्चा होती है। अगर हम हम कहें कि वो भारत के सबसे ज्यादा कर्जदार आदमी हैं तो आप क्या सोचेंगे या कहेंगे? जी हां, यह बात पूरी तरह से सही है। ब्लूमबर्ग क्वींट की रिपोर्ट की रिपोर्ट के अनुसार मुकेश अंबानी देश के सबसे ज्यादा कर्जदार आदमी भी है। उनका इंपायर इतना बड़ा फैला हुआ है कि कर्ज लिए बिना वो अपना व्यापार कर ही नहीं सकते हैं। ताज्जुब की बात तो ये है कि बीते दस सालों में उनपर कर्ज साढ़े चार गुना तक बढ़ गया है। आइए आपको भी बताते हैं कि उनके पर कितना कर्ज है अपनी स्पेशल रिपोर्ट में...

यह भी पढ़ेंः- एक दिन की बढ़ोतरी के बाद सोने के दाम में मामूली गिरावट, चांदी 100 रुपए चमकी

दस साल में करीब साढ़े गुना बढ़ा कर्ज
एशिया के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबनी पर बीते दस वित्तीय वर्षों में साढ़े गुना कर्ज बढ़ गया है। अगर बात आंकड़ों की बात करें तो मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 2010 में कर्ज 64,606 करोड़ रुपए कर्ज था। जो 2018 में बढ़कर 2,87,505 करोड़ रुपए हो गया। जानकारों की मानें तो पूरे देश में किसी भी कंपनी पर इतना कर्ज नहीं है कि जितना मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर है। लेकिन इस कर्ज के माध्यम से देश में नई-नई इंडस्ट्रीज की स्थापना हुई है। जिसकी वजह से देश में रोजगार पैदा हुए हैं। ऐसे में बैंक और सरकार दोनों मुकेश अंबानी की कंपनी पर भारोसा दिखा रही हैं।

यह भी पढ़ेंः- आखिर रिफाइनरी क्यों बेचना चाहते हैं मुकेश अंबानी, जानते हैं अंदर की कहानी

2010 से 2014 तक इस तरह से बढ़ा मुकेश अंबानी पर कर्ज
अगर बात साल दर साल के हिसाब से मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर बढे कर्ज की बात करें तो वित्तीय वर्ष 2010 में रिलायंस पर 64,606 करोड़ रुपए था। अगले वित्तीय वर्ष में मुकेश अंबानी के कर्ज में 20 हजार करोड़ रुपए के इजाफे के साथ कर्ज 84,152 करोड़ रुपए हो गया। उसके अगले वित्तीय वर्ष में करीब 8 हजार करोड़ रुपए के इजाफे के साथ कर्ज 92,447 करोड़ रुपए हो गया। इसी तरह से 2014 तक रिलायंस इंडस्ट्री का कर्ज 1,38,758 करोड़ रुपए हो गया। इसका मतलब ये हुआ कि 2010 के बाद के पांच सालों में मुकेश अंबानी के कर्ज में 2 गुना से ज्यादा का इजाफा हुआ है।

Mukesh ambani

यह भी पढ़ेंः- साप्ताहिक समीक्षाः मौसम विभाग की मेहरबानी से सिर्फ तीन दिनों में निवेशकों ने की 1.40 लाख करोड़ की कमार्इ

2015 से 2019 तक इस तरह से बढ़ा मुकेश अंबानी पर कर्ज
वहीं बात आखिरी पांच सालों की बात करें तो 2015 में 2014 के मुकाबले करीब 22 हजार करोड़ रुपए कर्ज का इजाफा हुआ जो बढ़कर 1,60,863 करोड़ रुपए हो गया। उसके बाद कर्ज में 20 हजार करोड़ रुपए का आैर ज्यादा इजाफा हुआ। वित्तीय वर्ष 2019 में मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 2,87,505 करोड़ रुपए कर्ज हो चुका है। 2015 में यह कर्ज 1.78 गुना की वृद्घि हुर्इ है।

यह भी पढ़ेंः- ट्रेड वाॅर से कारोबार को लगा झटका तो चुनावी मैदान में उतरे तीसरे सबसे अमीर शख्स

मौजूदा समय में मुकेश अंबानी के पास है इतनी है दौलत
मौजूदा समय में रिलायंस इंडस्ट्रीज को छोड़ दें तो मुकेश अंबानी के पास ही 55.3 बिलियन डाॅलर (3.83 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति है। खास बात ये है कि मुकेश अंबानी की संपत्ति में 2010 से लेकर 2014 तक गिरावट के देखने को मिली थी। उसके बाद 2015 से लेकर 2019 तक मुकेश अंबानी की संपत्ति में बेतहाशा वृद्घि देखने को मिली है। आने वाले दिनों में मुकेश अंबानी र्इ-काॅमर्स सेक्टर में कदम रखने जा रहे हैं। एेसे में उनकी संपत्ति में तो इजाफा होने की उम्मीद लगार्इ जा रही है। वहीं कर्ज में भी बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned