बर्लिन में मिले द्वितीय विश्व युद्ध के बम को किया गया निष्क्रिय

  • जर्मनी की राजधानी बर्लिन में मिला द्वितीय विश्व युद्ध बम।
  • बम का वजन 100 किलो का है।
  • एहतियातन 3000 लोगों को वहां से निकाला गया।

By: Anil Kumar

Published: 15 Jun 2019, 06:56 PM IST

बर्लिन। द्वितीय विश्व युद्ध ( second world war ) को समाप्त हुए कई दशक बीत गए हैं, लेकिन आज भी युद्ध से जुड़े कई सामान व उपकरण जहां-तहां मिल जाते हैं। युद्ध से जुड़े ऐसे सामान के मिलने से अफरा-तफरी का माहौल बन जाता है और लोगों में फिर से एक भय का वातावरण बन जाता है।

दरअसल ऐसा ही कुछ मामला जर्मनी की राजधानी बर्लिन ( Berlin ) से आया है। शनिवार को बम निरोधक दस्ते ने द्वितीय विश्व युद्ध के 100 किलोग्राम वजनी एक बम ( bomb ) को निष्क्रिय किया है। पुलिस ने देर रात एक बजे यह यह घोषणा की कि उसने बम को निष्क्रिय कर दिया गया है।

दुनिया का एक ऐसा गांव जो पर्यटन स्थल से बन गया मिसाइल की फैक्ट्री, जानें इसके बारे में सब कुछ

बर्लिन अलेक्जेंडरप्लैट्ज स्क्वेयर में मिला बम

यह बम बर्लिन अलेक्जेंडरप्लैट्ज स्क्वेयर में शुक्रवार की शाम को मिला था। राजधानी के पूर्वी हिस्से के मध्य अलेक्जेंडरप्लैट्ज में स्थित व्यावसायिक क्षेत्र के पास एक निर्माण स्थल पर मिला था।

बम मिलने की सूचना के बाद एहतियातन शहर के मुख्य पर्यटन आकर्षणों में से एक दूरसंचार टॉवर को जनता के लिए बंद कर दिया गया। सुरक्षा की दृष्टि से पूरे इलाके को घेर लिया गया था और फिर 3000 लोगों को वहां से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

इथियोपिया: बच्चे को जन्म देने के महज 30 मिनट बाद महिला ने दी स्कूल की परीक्षा

10 फीट नीचे मिला बम

यह बम 10 फीट की गहराई में जमीन के नीचे मिला। बर्लिन पुलिस ने ट्वीट करते हुए एक इलाके का एक नक्शा जारी किया था, जिसमें यह दर्शाया गया था कि कहां-कहां बम मिलने की संभावना है। बम को निष्क्रिय करने की प्रक्रिया के दौरान उस इलाके से गुजरने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया।

बम को निष्क्रिय करने के बाद अधिकारियों ने एक ट्वीट किया और इसकी जानकारी दी।

ब्रिटेन: UK के अगले PM के लिए 10 उम्मीदवारों के नाम फाइनल, ये हैं रेस में आगे

3000 से अधिक विस्फोट हो सकते हैं दफन

बता दें कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मित्र राष्ट्रों द्वारा गिराए गए बमों को निष्क्रिय करने के लिए जर्मनी में अक्सर अभियान चलाया जाता है और कुछ अवसरों पर बड़े पैमाने पर निकासी के संकेत मिलते हैं।

2017 में जारी किए गए पुलिस आंकड़ों के अनुसार, ऐसा माना जाता है कि अभी भी बर्लिन में 3,000 से अधिक विस्फोटक उपकरण, हथगोले या प्रोजेक्टाइल दफन हैं।

2016 में ऑग्सबर्ग में अब तक का सबसे बड़ा बम-निष्क्रिय ऑपरेशन चलाया गया था। उस वक्त 54 हजार स्थानीय लोगों को अस्थायी रूप से अपने घरों को छोड़ना पड़ा था, ताकि पुलिस मिले ब्रिटिश बम को निष्क्रिय कर सके।

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned