बड़ा फरमान: डीजल की बसों पर लगी रोक, नियम पालन न करने पर होगी ये बड़ी कार्रवाई

बड़ा फरमान: डीजल की बसों पर लगी रोक, नियम पालन न करने पर होगी ये बड़ी कार्रवाई

Nitin Sharma | Updated: 06 Oct 2019, 12:39:54 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • इन बसों को जिले में नहीं दी जाएगी एंट्री
  • आदेश का पालन न करा पाने पर अधिकारियों को दी कार्रवाई की चेतावनी
  • इस वजह से महानगर में नहीं घुस सकेंगी डीजल बसें

गाजियाबाद। अगर आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Public Transport) यानि बस (Bus) से ऑफिस या फिर कहीं भी आने जाने का सफर तय करते हैं तो यह खबर आप के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। इसकी वजह प्रदेश के महानगर गाजियाबाद में डीजल बसों (Diesel Bus) पर रोक लगाना है। यह निर्देश शनिवार को ईपीसीए (पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण) (Environment pollution control authority) के चेयरमैन भूरेलाल ने दिया।

 

रेल मंत्री का संबंधी बता रिटायर्ड एयरफोर्स अधिकारी से इस काम के लिए लाखों रुपये, अब थाने के चक्कर लगा रहा पीड़ित

इस वजह से जारी किया गया ऐसा आदेश

UPSRTC (उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम) के अधिकारियों ने कहा कि अब तक हरियाणा, राजस्थान, और उत्तराखंड समेत आसपास के राज्यों की (Diesel) डीजल बसों को गाजियाबाद में प्रवेश मिल रहा है। जिसकी वजह से (Air Pollution) वायु प्रदूषण बढ़ रहा है। अब इसे कंट्रोल (Control) में लाने के लिए इन बसों को जिले में घुसने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि बहुत मुश्किल से यहां (Air Pollution Control) वायु प्रदूषण कंट्रोल में आया है। जिसे बनाये रखना है। इसके लिए डीजल बसों पर रोक लगाना बहुत ही जरूरी है।

 

दोस्तों ने कैब में बैठकर पी Cold drink तो पड़ गये लेने के देने, थाने पहुंचकर लगाई ऐसी गुहार

अगर नहीं लागू हुआ नियम तो अधिकारियों पर होगी कार्रवाई

 

इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा कि अगर रोक के बाद भी जिले में इस तरह की डीजल बसें और वायु प्रदूषण फैलाने वाले तत्व दिखें तो अधिकारियों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं उन्होंने सभी विभागों को (Industry) इंडस्ट्री के अलावा सड़कों पर धूल कण फैलने से रोकने के लिए एक्शन प्लान तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी है।

 

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन का चलते ही हुआ ऐसा हाल, आनन फानन में रोकी गई Tejas Express Train

बसों के रोक लगने पर इन लोगों को हो सकती है परेशानी

वही लोगों की माने तो डीजल बसों पर रोक लगने से महानगर में रहने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। महानगर में सैंकड़ों लोग दूसरे राज्यों के रहने वाले है। जो यहां आकर नौकरी और काम करते है। ऐसे में उन्हें अब अपने मूल निवास यानि राजस्थान, उत्तराखंड या हरियाणा समेत दूसरे राज्यों में जाने के लिए दूसरों जिलों से बस लेनी होगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned