scriptgorakhpur news, SSP action , one HC suspend in the case of bribary | SSP गोरखपुर का सख्त निर्देश, सभी CO फरियादियों की शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराएं....भ्रष्टाचार के आरोप में हेड कांस्टेबल सस्पेंड | Patrika News

SSP गोरखपुर का सख्त निर्देश, सभी CO फरियादियों की शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराएं....भ्रष्टाचार के आरोप में हेड कांस्टेबल सस्पेंड

locationगोरखपुरPublished: Dec 01, 2023 11:11:33 pm

Submitted by:

anoop shukla

जिले के SSP डॉ गौरव ग्रोवर हरकत में आ गए और उन्होंने कार्यालय पहुंचकर सभी से गूगल मीट कर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने सभी क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिया कि स्थान पर पहुंचकर शिकायती पत्रों का अवलोकन करें और जांच कर मामले का त्वरित निस्तारण कराये। उन्होंने कहा कि जमीनी संबंधी मामले में राजस्व विभाग का भी सहयोग लें।

SSP गोरखपुर का सख्त निर्देश, सभी CO फरियादियों की शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराएं....भ्रष्टाचार के आरोप में हेड कांस्टेबल सस्पेंड
SSP गोरखपुर का सख्त निर्देश, सभी CO फरियादियों की शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराएं....भ्रष्टाचार के आरोप में हेड कांस्टेबल सस्पेंड
गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जनता दरबार के दौरान कई थाना क्षेत्र के छोटे-छोटे मामले पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काफी नाराजगी दिखाई है। मुख्यमंत्री के नाराजगी के बाद एसएसपी डॉ गौरव ग्रोवर ने गूगल मीट करके सभी को निर्देश दिए हैं और कार्रवाई करने को कहा है।
बताते चलें कि जनपद में जमीन एवं अन्य कई मामले थाने में पहुंच रहे हैं मगर उन पर कोई कार्रवाई न होने की वजह से शुक्रवार को कई ऐसे पीड़ित मुख्यमंत्री के जनता दरबार में पहुंच गए और अपनी फरियाद की। पुलिस का कई मामले पहुंचने से मुख्यमंत्री वहां मौजूद अधिकारियों के ऊपर नाराजगी दिखाते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसके बाद जिले के SSP डॉ गौरव ग्रोवर हरकत में आ गए और उन्होंने कार्यालय पहुंचकर सभी से गूगल मीट कर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने सभी क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिया कि स्थान पर पहुंचकर शिकायती पत्रों का अवलोकन करें और जांच कर मामले का त्वरित निस्तारण कराये। उन्होंने कहा कि जमीनी संबंधी मामले में राजस्व विभाग का भी सहयोग लें।
भ्रष्टाचार के आरोप में हेड कांस्टेबल सस्पेंड

भ्रष्टाचार के आरोप में शुक्रवार को एसएसपी ने पीपीगंज थाने पर तैनात हेड कांस्टेबल रंजन तिवारी को निलम्बित कर दिया है। साथ ही उसके खिलाफ विभागी जांच भी शुरू करा दी है। आरोप है कि हेड कांस्टेबल ने एक फरियादी से एक हजार रुपये लिए थे। जांच में आरोप सही पाए जाते हैं तो कार्रवाई का दायरा और सख्त हो सकता है। फिलहाल इस कार्रवाई से विभाग में हड़कम्प मचा है।बताते चलें कि पिछले दिनों एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने कैम्पियरगंज, पीपीगंज और चिलुआताल थाने के निरीक्षण के दौरान ही जनसुनवाई रजिस्ट्रर चेक किया और तीनों थानों से कुछ फरियादियों से फोन पर बात कर यह जानने की कोशिश की कि उनके मामले का निस्तारण किया गया है कि नहीं। आरोप है कि पीपीगंज थाने में शिकायत लेकर आए एक फरियादी ने हेड कांस्टेबल पर एक हजार रुपये लेने का आरोप लगाया था। एसएसपी ने इस मामले में सीओ से रिपोर्ट लेकर हेड कांस्टेबल को निलम्बित कर दिया और विभागीय जांच शुरू कर दी है। इसके अलावा अन्य थानों पर भी एसएसपी गोपनीय तरीके से इस तरह के शिकायतों की जांच करा रहे हैं। जांच में जिन पुलिस कर्मियों की शिकायत मिल रही है, उनके अगला खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो