छात्र यश के एक अपहरणकर्ता को पुलिस ने एनकाउंटर में मारी गोली, दूसरा फरार

Highlights

- 13 फरवरी को छात्र यश नागर के अपहरण का मामला

- कर्ज चुकाने के लिए रची थी बच्चे के अपहरण की साजिश

- परिवार के दबाव और फंसने के डर से अगले दिन पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर छोड़ गए थे छात्र को

By: lokesh verma

Published: 22 Feb 2021, 12:19 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
ग्रेटर नोएडा. दनकौर थाना क्षेत्र के औरंगपुर गांव से छात्र यश नागर के अपहरण मामले फरार चल रहे एक आरोपी को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। जबकि दूसरा बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब हो गया। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। पुलिस ने गिरफ्तार घायल आरोपी को अस्पताल में भर्ती कराया है, जिसके कब्जे से एक बाइक और तमंचा, कारतूस बरामद किया है। बता दें कि पुलिस 14 फरवरी को पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के नजदीक पेट्रोल पंप से छात्र यश नागर को पहले ही सकुशल बरामद कर चुकी है।

यह भी पढ़ें- बाहर ताला लगाकर बंद घर में युवती का धर्मांतरण, हिंदू संगठन के नेताओं का हंगामा

एडीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि रविवार देर रात दनकौर पुलिस पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के सर्विस रोड पर वाहनों कि चेकिंग कर रही थी। इसी बीच बाइक पर सवार दो संदिग्ध लोग दिखाई दिए। पुलिस ने जब उन्हें जांच के लिए रोकना चाहा तो उन्होंने बाइक को तेज गति से चलाकर भागने का प्रयास किया। पुलिस ने घेराबंदी की तो उन्होंने पुलिस टीम पर ही फायरिंग करनी शुरू कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से एक बदमाश घायल हो गया, जिसकी पहचान इंतजार के रूप में हुई। जबकि उसका चचेरा भाई नदीम भागने सफल रहा, जिसको पुलिस तलाश रही है।

एडिशनल डीसीपी ने बताया कि बदमाशों से पूछताछ के दौरान पता चला कि 13 फरवरी को औरंगपुर गांव निवासी संदीप नागर के 12 वर्षीय भतीजे यश नागर को इन दोनों बदमाशो ने फिरौती के लिए अगवा किया था। इंतजार और नदीम चचेरे भाई हैं। कुछ समय पहले नदीम के पिता से दो लाख रुपये की ठगी हुई थी। ऐसे में परिवार को कर्ज लेना पड़ा था। कर्ज को चुकाने के लिए दोनों आरोपियों ने बच्चे के अपहरण की साजिश रची थी। बाद में परिजनों के दबाव और फंसने के डर से दोनों आरोपी बच्चे को पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के पास छोड़ गए थे। उसके बाद से ही पुलिस बदमाशों को तलाश रही थी।

यह भी पढ़ें- छह साल की मासूम के साथ दरिंदगी, हत्या करके खेत में शव छिपाया

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned