बड़ी खबर : भोपाल से वर्दी खरीद कर बना फर्जी आईपीएस, टीआई को लगाई फटकार, देखें वीडियो

बड़ी खबर : भोपाल से वर्दी खरीद कर बना फर्जी आईपीएस, टीआई को लगाई फटकार, देखें वीडियो

monu sahu | Publish: Sep, 03 2018 02:27:27 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

बड़ी खबर : भोपाल से वर्दी खरीद कर बना फर्जी आईपीएस, टीआई को लगाई फटकार, देखें वीडियो

ग्वालियर/भिण्ड । पुलिस अधिकारी कर्मचारियों से सैल्यूट करवाकर फर्जी आइपीएस अफसर संजय कुमार सोनी खुद को गदगद महसूस करता था। वह लालबत्ती तथा सायरनयुक्त कार को सड़क पर लगाकर धन-उगाही करने के बजाए सीधे पुलिस थाने पहुंचकर थाना प्रभारियों को हड़काकर अपराधिक मामलों में फंसे लोगों की सिफारिशें करता था। टीआई अखिलेशपुरी गोस्वामी के अनुसार बीते तीन माह से एसके सोनी फर्जी आइपीएस अफसर बनकर प्रदेश के विभिन्न जिलों के थानों में पहुंचकर ठगी कर रहा था। बताया गया था कि आरोपी ने ग्वालियर एमआईटीएस से इंजीनियरिंग की है और भोपाल में रहकर सिविल सर्विस की तैयारी कर रहा था ।

 

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : शहर व अंचल में झमाझम बारिश, सिंध सहित कई नदी उफान पर, मौसम वैज्ञानिक ने भी की बड़ी भविष्यवाणी, देखें वीडियो

 

सीएसपी आलोक शर्मा के मुताबिक भोपाल के दानिश नगर के रहने वाले संजय कुमार सोनी ने अपनी कथित गुंडा स्क्वाड में अपने ***** आकाश सोनी पुत्र सीताराम सोनी निवासी अनूपगंज सेंवढ़ा दतिया एवं साड़ूभाई दीपक सोनी पुत्र सुरेश सोनी निवासी डिरोलीपार जिला दतिया के अलावा अरशद खान पुत्र अहमद खान, सोनू खान पुत्र गफ्फार खान निवासी शंकर कॉलोनी दतिया, अशफाक खान पुत्र बहीद खान अंगद कॉलोनी दतिया एवं दीपू सोनी पुत्र माता प्रसाद सोनी निवासी राधा कॉलोनी भिण्ड को शामिल कर लिया था। टीम के साथ वह कहीं फर्जी तरीके से दबिश देने के बजाए पुलिस थानों में पहुंचकर अपने ओहदे का ग्लैमर दिखाते हुए न केवल थाना प्रभारियों से शेल्यूट करवाता बल्कि सहज तरीके से सिफारिशें कर काम निकलवा लेता था। अभी तक आरोपी संजय कुमार सोनी ग्वालियर, दतिया एवं भिण्ड के देहात तथा मेहगांव थाना सहित दो दर्जन से अधिक थानों में आइपीएस का रौब दिखा चुका है। बदकिस्मती से भिण्ड के देहात थाने में टीआई अखिलेशपुरी गोस्वामी ने उसे धर लिया ।

 

यह भी पढ़ें : VIDEO : सीतासागर में मिली लाश, देखें पूरी खबर.....

 

आइपीएस बनकर कहां-कहां ठगी की ये जानने के लिए रखा है पीआर पर: आरोपी संजय कुमार ने फर्जी आइपीएस अफसर बनकर कहां-कहां ठगी को अंजाम दिया है यह जानने के लिए उसे न्यायालय से दो दिन की पीआर पर मांगा गया है। पुलिस उसे लेकर उन सभी थानों में जाएगी जहां वह सिफारिशों के लिए पहुंचा था। इसके साथ ही जहां से वर्दी, अशोक व आइपीएस के बिल्ले खरीदे वहां भी जाएगी ताकि यह पता लग सके कि आखिर ये कब से आइपीएस बना घूम रहा था ।

 

यह भी पढ़ें : देखें वीडियो : कोतवाल, पिलुआ डैम ओवरफ्लो, गेट खोले

 

आरोपी संजय कुमार सोनी एमआईटीएस ग्वालियर का छात्र था जिसने इंजीनियर की डिग्री लेने के बाद भोपाल में रहकर सिविल सर्विस की तैयारी कर रहा था। आरोपी ने कहा-कहां पर ठगी की है उन स्थानों पर लेजाकर मामले की जांच की जाएगी ।
आलोक शर्मा, सीएसपी, भिण्ड

 

ऐसे पकड़ा गया फर्जी आइपीएस एसके सोनी

शनिवार रात अचानक लालबत्ती की एडिशनल एसपी लिखी कार के साथ एसके सोनी यूनिफॉर्म में देहात थाने पहुंचा। टीआई अखिलेशपुरी को आइपीएस के आने की खबर मिली तो वे दौड़कर थाने पहुंचे जहां उसे शेल्यूट करने के बाद अपनी कुर्सी पर बैठने के लिए इशरा किया। इस्तकबाल में चाय-नाश्ता कराने के दौरान आइपीएस ने बताया कि वह सरकारी काम से भिण्ड आया हुआ है। उसके एक रिश्तेदार दीपू सोनी के खिलाफ आपके थाने में मारपीट का केस दर्ज है जो जांच में है। उसे अपराध से निकालना है। टीआई अखिलेशपुरी ने पूछा सर आपका बैच क्या है और कहां पदस्थ हैं। जवाब में फर्जी आइपीएस ने २०१४ बैच बताते हुए १३वीं बटालियन में पदस्थ होने की बात कही। टीआई ने २०१४ बैच की सूची देखी तो संजय कुमार सोनी का कहीं नाम नहीं था वहीं १३वीं बटालियन में कॉल करने पर भी इस नाम का कोई व्यक्ति पदस्थ नहीं होने की जानकारी मिली ।

 

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : SC/ST एक्ट का विरोध, एसपी की गाड़ी में आए सांसद, दिखाए काले झंडे, देखें वीडियो

 

पोल खुलने पर नाटकीय ढंग से निकलना चाहता था फर्जी आइपीएस

जब फर्जी आइपीएस एसके सोनी को अहसास हुआ कि वह फंस गया है तो उसने नाटकीय ढंग से यह कहते हुए निकलने का प्रयास किया कि ठीक है टीआई साहब अब हम निकलते हैं आप देख लेना। इस पर टीआई ने कहा साहब अब तो आप तभी निकल पाओगे जब हम आपका पूरा काम कर देंगे। इस दौरान अखिलेशपुरी गोस्वामी ने एसपी रूडोल्फ अल्वारेस व एएसपी गुरकरन सिंह को मामले से अवगत कराने के बाद उसकी कार तथा अन्य साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया ।

 

यह भी पढ़ें : तालाब की मोरी फूटी, खेतों में भरा पानी, तिली की फसल हो गई खराब, देखें वीडियो

 

भोपाल से किराये पर लाई गई थी सायरन युक्त कार
पुलिस द्वारा जब्त की गई फर्जी आईपीएस की लालबत्ती तथा सायरनयुक्त कार को उसने होशंगाबाद रोड रतनपुर भोपाल निवासी दुर्गाप्रसाद परमार से किराये पर लेकर आया था। आरटीओ की वेबसाइट के अनुसार कार का सितंबर २००८ से बीमा ही नहीं है ।

 

सेंवढ़ा स्थित ससुराल में बना रखी थी धाक

आरोपी संजय कुमार सोनी की सेंवढ़ा स्थित ससुराल में आइपीएस अफसर के रूप में धाक जमी हुई थी। उसके पकड़े जाने की खबर जैसे ही सेंवढ़ा के थाना प्रभारी को लगी तो उन्होंने टीआई अखिलेशपुरी को कॉल कर कहा कि इसे तो वे कई बार शेल्यूट कर चुके हैं। दामाद आइपीएस अफसर है इसलिए उसकी ससुराल वालों से पुलिस के अलावा अन्य लोग भी अदब से बात करते थे ।

Ad Block is Banned