नंदू के डेरा में पानी ने मचाई तबाई,कईं घर डूबे,देखे वीडियो

नंदू के डेरा में पानी ने मचाई तबाई,कईं घर डूबे,देखे वीडियो

Gaurav Sen | Publish: Sep, 05 2018 02:51:48 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 03:08:13 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

रामगढ़ नाला के उस पार रहने वाले 30 घरों के लोग घर में हुए कैद, पांच फीट तक भरा है पानी

ग्‍वालियर/डबरा । रामगढ़ नाला में उफान आने से नगर पालिका के वार्ड क्रं. ८ और वार्ड क्रं. १३ में नंदू का डेरा क्षेत्र में हालात बिगड़े हैं। खास बात यह है कि तीन दिन से नंदू का डेरा क्षेत्र में ३ से ५ फीट तक पानी भरा है और करीब ५० मकान डूब में है बावजूद इसके प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है और पानी निकास व्यवस्था नहीं कराए जाने से वार्ड क्रं. ८ में नाला के उस पार बने करीब २५ मकानों में रहने वाले लोग घरों में कैद हो गए हैं, क्योंकि वहां पर पांच फीट तक पानी भरा है। नगर पालिका सीएमओ पीके सिंह का कहना है कि पानी निकास के लिए पांच सदस्यी टीम बनाई गई है पर टीम कहीं भी नहीं पहुंच रही है ।

 

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : मुरैना से अगरा जा रही बस पलटी, तीन यात्री घायल

 

नंदू का डेरा वार्ड क्रं. ८ और वार्ड क्रं. १३ की सीमा में आता है और वहां से कुछ दूर रामगढ़ नाला निकला है इन दिनों बारिश के कारण रामगढ़ नाला में उफान आने से करीब ५० मकान डूब में आ गए हैं। वहां के लोगों ने बताया कि मंगलवार को जल स्तर और बढ़ गया है नगर पालिका को बताया गया है फिर भी अभी तक कोई राहत कार्य शुरू नहीं कराया गया है। महेश सेंगर, कमलकिशोर, कमलसिंह, गुल्ली जाट, बनवारी गौड़, शंकर, गुड्डीबाई, शिवशंकर, बलवीर भदौरिया, रामकिशोर, मीरा रजक, बेतालसिंह, अमरसिंह, हरीश गोस्वामी, पीटर चौरसिया, रामचरण कुशवाह, राजू बोहरे और किसानलाल आदि के मकान डूब में हैं और इन लोगों को घर से निकलने में काफी मश्क्कत करना पड़ रही है ।

 

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : बदमाशों व ग्रामीणों के बीच फायरिंग, गांव में डर का माहौल

 

पॉलीथिन में पेंट रखकर निकल रहे

पत्रिका ने वहां पहुंचकर नजारा देखा तो घुटने के ऊपर तक पानी भरे होने के कारण लोग घरों के अंदर कैद थे और कुछ छज्जे व छत से नजारा देख रहे थे। इधर घुटने के ऊपर तक पानी भरे होने के कारण जिसे बाजार या नौकरी में जाना है वे पॉलीथिन में पेंट रखकर पानी में से निकल रहे हैं और बाद में सुरक्षित स्थान पर पहुंचकर पेंट पहनते हैं। रामप्रकाश शर्मा ने बताया कि तीन दिन से वह बाजार में दुकान जाने के लिए ऐसा ही कर रहे हैं। इसी प्रकार बनवारी गौड़ जो निर्वाचन शाखा में कर्मचारी हैं और ड्यूटी में जाने के लिए घर से पेंट कांधे में टंगकर भरे पानी में से निकले और बाद में सुरक्षित स्थान पहुंचकर पेंट पहनी ।

 

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : श्योपुर-कोटा मार्ग बंद, सरारी और जमूदा के उफान में डूबा ट्रैक, लौटाई ट्रेन, देखें वीडियो

 

भरे पानी में से अर्थी लेकर निकले

वहां के रहवासियों ने बताया कि दो दिन पहले दामोदर श्रीवास्तव की मां शांतिबाई का निधन हो गया था जिनके अंतिम संस्कार के लिए लोग पानी में से निकले और अर्थी को भी पानी के बीच में से निकाला गया इस दौरान चार की जगह ८ लोगों ने कांधा दिया ।

 

इस संबंध में सीएमओ को बोला जाएगा जल्द वहां पानी निकास की व्यवस्था कराई जाए ।
आरती मौर्य, अध्यक्ष, नगर पालिका डबरा

Ad Block is Banned