पुलिस वालों युवक को इतना परेशान की उसने भरे बाजार लगा ली खुद को आग, वीडियो में देखें क्या हुआ आगे

50 फीसदी झुलसे युवक को जिला अस्पताल लाया गया, जहां उसने मीडिया के सामने देहात थाने में पदस्थ तीन पुलिसकर्मियों पर प्रताडऩा के आरोप लगाए।

By: Gaurav Sen

Published: 10 Feb 2018, 04:08 PM IST

शिवपुरी। देहात थाना क्षेत्र के छोटा लुहारपुरा में रहने वाले एक युवक ने शुक्रवार को अपने ही घर में खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। 50 फीसदी झुलसे युवक को जिला अस्पताल लाया गया, जहां उसने मीडिया के सामने देहात थाने में पदस्थ तीन पुलिसकर्मियों पर प्रताडऩा के आरोप लगाए। अस्पताल में युवक के कथन लिए बिना ही उसे ग्वालियर रैफर कर दिया। वहीं दूसरी ओर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उक्त युवक देहात थाने का हिस्ट्रीशीटर है तथा चोरी के एक मामले में संदेही है। महत्वपूर्ण बात यह है कि जिन तीन पुलिसकर्मियों पर उसने आरोप लगाया है, उनमें से दो का ट्रांसफर पूर्व में ही दूसरे थानों में हो चुका है।

 

यह भी पढ़ें: टल गया बड़ा ट्रेन हादसा, रेलगाड़ी से जा टकराया कैदियों से भरा पुलिस वाहन

छोटा लुहारपुरा में रहने वाले विक्की (23) पुत्र कमल सिंह यादव ने शुक्रवार की दोपहर डेढ़ बजे अपने ही घर में खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली। विक्की को गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया, जहां उसने मीडिया से चर्चा में बताया कि मुझे देहात थाने में पदस्थ हवलदार अमृतलाल, महेश शर्मा उर्फ बिल्डिंग व नरेश यादव ने दो दिन पहले इतना प्रताडि़त किया कि मैं यह कदम उठाने को मजबूर हुआ।

 

बड़ी खबर: 150 की स्पीड से दौड़ रहा था ट्रक जो आया सामने रौंद दिया,कमजोर दिल वाले न देखें वीडियो

विक्की की बयानी के वीडियो में वो देहात थाने के टीआई को क्लीन चिट दे रहा है, लेकिन उक्त तीनों पुलिसकर्मियों पर प्रताडऩा के आरोप लगा रहा है। इस घटना में विक्की का चेहरा व छाती सहित लगभग 50 फीसदी शरीर आग में झुलस गया। जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद युवक को ग्वालियर रैफर कर दिया गया। बताते हैं कि विक्की के परिवार में कोई नहीं है और एक चाचा अस्पताल तो आया, लेकिन जब ग्वालियर रैफर की बात हुई तो वो भी वहां से निकल लिया। इसलिए पुलिस आरक्षक के साथ उसे उपचार के लिए ग्वालियर भेजा गया।


दो पुलिसकर्मियों का हो चुका तबादला
जिन तीन पुलिसकर्मियों पर प्रताडऩा का आरोप विक्की लगा रहा है, उनमें से हवलदार अमृतलाल का एक माह पूर्व सतनबाड़ा थाने ट्रांसफर हो गया तथा वहां उन्होंने ज्वाइनिंग भी दे दी। वहीं नरेश यादव का भी कई माह पूर्व कोतवाली में ट्रांसफर कर दिया गया। विक्की पर पुलिस को अभी हाल ही में हुई भैरो बाबा मंदिर की चोरी में संदेह है तथा उसके संबंध में ही पूछताछ के लिए 6 फरवरी को उसे थाने पर बुलाया गया था।

 

थाना प्रभारी ने बताया नया मामला
देहात थाना प्रभारी सतीश चौहान का कहना है कि भैरो बाबा मंदिर में हुई चोरी के मामले में विक्की 99 प्रतिशत संदेही है। उसी चोरी के संबंध में 6 फरवरी को उसे महज 10 मिनिट के लिए थाने पर पूछताछ के लिए बुलवाया। चौहान का कहना है कि यह बात सही है कि अमृतलाल व नरेश यादव का ट्रांसफर हो गया, लेकिन यह दोनों काम के लोग हैं, इसलिए जब भी कोई मामला टे्रस करना होता है, तो उन्हें हम बुला लेते हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि नरेश यादव तो 6 फरवरी की सुबह ही पीएसआई (महिला अधिकारी) के साथ मुंबई के लिए रवाना हो गया था, वहां से एक लड़की को बरामद करके लाना है। यह समझ नहीं आ रहा कि वो इनके नाम क्यों ले रहा है।


हिस्ट्रीशीटर से पूछताछ जरूरी
उस युवक पर 9 केस पहले से ही दर्ज हैं, जिसमें मूर्ति चोरी सहित कई चोरियों के मामले भी हैं। चूंकि वो थाने का हिस्ट्रीशीटर है, इसलिए जब भी कोई केस संबंधित थाना क्षेत्र में होता है तो हिस्ट्रीशीटर से पूछताछ जरूर की जाती है। इस मामले की हम जांच करवाएंगे।
सुनील कुमार पांडेय, एसपी

Show More
Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned