पहली बैठक में सिंधिया को हराने वाले नवनिर्वाचित सांसद यादव ने दी चेतावनी, अधिकारियों में खलबली

पहली बैठक में सिंधिया को हराने वाले नवनिर्वाचित सांसद यादव ने दी चेतावनी, अधिकारियों में खलबली

monu sahu | Updated: 12 Jun 2019, 06:22:56 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

असंमजस में रहे अधिकारी, विधायक की सुनें या सांसद की, यादव के चेहरे पर रघुवंशी ने ली बैठक

ग्वालियर। गुना-शिवपुरी के नवनिर्वाचित सांसद डॉ. केपी यादव ने कलेक्ट्रेट में प्रशासनिक अधिकारियों की परिचय बैठक लेने के साथ ही सभी विभागों में चल रही गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंने चेतावनी दी, यदि अच्छा काम करेंगे तो मैं आपकी तरीफ करूंगा,लेकिन लापरवाही पर आपको बेइज्जती महसूस हो सकती है। चना बेचने के एक साल बाद भी 103 किसानों का भुगतान न होने की शिकायत पर सांसद ने खाद्य विभाग व सहकारी बैंक के प्रबंधक से कहा,यदि उनका भुगतान नहीं हुआ तो मैं जिम्मेदारों पर एफआईआर कराऊंगा। बैठक में उपस्थित अधिकारी असमंजस में रहे कि वे कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी की सुनें या सांसद की, क्योंकि बैठक भले ही सांसद ने ली, लेकिन अधिकांश सवाल-जवाब रघुवंशी ने ही किए।

 

मंगलवार दोपहर 1.15 बजे से कलेक्ट्रेट में सांसद केपी यादव की बैठक में मायनिंग को छोडकऱ अन्य विभागों के प्रमुख व अधीनस्थ के अलावा प्रभारी कलेक्टर एचपी वर्मा, एसडीओपी शिवपुरी शिवसिंह भदौरिया उपस्थित रहे। बैठक में पेयजल संकट पर कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने पीएचई ईई एसएल बाथम से कहा,आप लोग खराब हैंडपंप ठीक नहीं कर रहे, हर 15 दिन में ठेकेदार बदल देते हो, जनता हमसे कहती है कि हैंडपंप सुधरवा दो, लेकिन हम वो भी नहीं करवा पा रहे। इसलिए मैंने यह मुद्दा विधानसभा में भी लगाया है, वहां तो जानकारी भेजोगे। उन्होंने पीएचई ईई से कहा, हम आपसे मोटर मांगते हैं तो एक-दो मोटर ही उपलब्ध कराई जाती है।

 

प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के जीएम परवेज हुसैन ने सांसद से कहा, बदरवास-रिजौदी मार्ग पर एनएचएआई के ओवरलोड डंपर निकल रहे हैं, जिससे सडक़ क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। एनएचएआई के अधिकारियों से कई बार कह चुके हैं, लेकिन वे नहीं सुनते। सांसद ने कहा कि आप लोग कॉर्डीनेशन से काम करें। जिला शिक्षा अधिकारी हरिओम चतुर्वेदी से सांसद ने पूछा कि क्या सभी स्कूलों में टॉयलेट, पानी व फर्नीचर है?, तो डीईओ ने कहा कि टॉयलेट तो सभी जगह हैं, लेकिन पानी व फर्नीचर की सभी जगह उपलब्धता नहीं है। सांसद ने पूछा कि इसके लिए आपने क्या प्रयास किए?, तो डीईओ जवाब नहीं दे पाए। प्राइवेट स्कूलों में आरटीई के तहत गरीब बच्चों को एडमिशन दिए जाने की जानकारी चाही तो डीईओ ने बताया, पिछले वर्ष 70 फीसदी टारगेट अचीव हुआ था, इस बार भी प्रक्रिया चल रही है।


फिर आया किसानों का मुद्दा
सांसद ने कहा, शिकायत आई है कि कई किसानों ने पिछले साल अपना चना बेचा था, लेकिन अभी तक उसका भुगतान नहीं हुआ, इसके पीछे क्या वजह है?। फूड अधिकारी ने कहा, सोसायटी के बैलेंस में चना कम हो गया है, इसलिए वो भुगतान रुका हुआ है। केंद्रीय सहकारी बैंक के प्रबंधक वायके सिंह ने कहा, ऐसे 200 किसान थे, जिनमें से हमने कुछ किसानों का सोसायटियों के कमीशन से भुगतान करवा दिया है, अब 103 किसान शेष रह गए हैं, जिनका प्रस्ताव हमने भेज दिया है। सांसद ने कहा कि मैं खुद किसान हूं और किसान की परेशानी समझता हूं। आपकी गलतियों की सजा किसान क्यों भुगतेगा?।

 

वेयर हाउस संचालक के पक्ष में आए विधायक
पिछले दिनों चने में कंकड़-पत्थर मिलाने के आरोप में सहकारिता विभाग द्वारा श्रीजी वेयर हाउस कोलारस के संचालक पर एफआईआर दर्ज की गई। सांसद की बैठक में कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने सहकारी बैंक प्रबंधक से कहा कि वेयर हाउस संचालक को गलत आरोपी बनाया गया, उनका कहना था कि गोदाम संचालक की इसमें कोई भूमिका ही नहीं है।

 

पिछोर में हो रही खाद्यान्न की कालाबाजारी
सांसद ने फूड विभाग से पूछा, उचित मूल्य की दुकानों पर राशन कैसे पहुंचाते हैं?, तो फूड अधिकारी ने बताया, नागरिक आपूर्ति निगम के माध्यम से खाद्यान्न जाता है। 8 -10 दुकानों का एक ही मालिक हो सकता है क्या?, तो फूड अधिकारी ने कहा, सोसायटी इन दुकानों का संचालन करती है। सांसद ने कहा, वहां पर किसके पास कितनी दुकानें हैं, यह जानकारी मुझे दी जाए, क्योंकि वहां पर कई गांव से यह शिकायतें मिली हैं कि उन्हें कभी दो महीने तो कभी तीन महीने तक राशन नहीं मिलता।

 

बीपीएल सूची से अपात्रों के नाम काट दो
बैठक में विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने कहा, जब भी हम किसी गांव में जाते हैं तो जरूरतमंद गरीब परिवार अपनी झोपड़ी दिखाकर कहते हैं कि हमारा बीपीएल कार्ड नहीं बना, जबकि अपात्रों के थोकबंद बीपीएल बन गए हैं। उन्होंने अधिकारियों से कहा, हमारे ऊपर तो वोट का दवाब रहता है, लेकिन आप लोगों पर कोई दवाब नहीं है। आप लोग तो सर्वे करवाकर अपात्रों के नाम काट दें, ताकि जरूरतमंदों के कार्ड बन सकें और हमारे गांव के रास्ते खुल सकें।

 

नजर आएगा बदलाव
शिवपुरी शहर में चल रही जलावर्धन योजना का काम शीघ्र पूरा हो, यह हमारा प्रयास रहेगा। शिवपुरी के लिए एक्शन प्लान के सवाल पर वे बोले कि अभी तो मेरी अधिकारियों से परिचय बैठक थी, लेकिन अब बदलाव आपको नजर आएगा। उन्होंने कहा कि यदि किसानों को भुगतान नहीं हुआ तो मैं एफआईआर करवाऊंगा। कानून व्यवस्था व नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए मैं पुलिस अधिकारियों की अलग से बैठक लूंगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned