scriptबच्चों में दांतों की कैविटी का सबसे अच्छा इलाज करने के घरेलू उपाय | Home Remedies to Treat Tooth Cavity in Children | Patrika News
स्वास्थ्य

बच्चों में दांतों की कैविटी का सबसे अच्छा इलाज करने के घरेलू उपाय

Home Remedies to Treat Tooth Cavity in Children : दांतों में कैविटी, जिसे डेंटल कैविटी या दांत निकलना के नाम से भी जाना जाता है, बच्चों में एक आम समस्या है। बच्चों के दांतों में कैविटी होने का एक मुख्य कारण उनका टॉफी, चॉकलेट, कैंडी और बबल गम जैसी मीठी चीजों का लगातार सेवन करना है।

Aug 15, 2023 / 04:14 pm

Manoj Kumar

tooth-cavity-in-children.jpg

Health News : Home Remedies to Treat Tooth Cavity in Children

Home Remedies to Treat Tooth Cavity in Children : दांतों में कैविटी, जिसे डेंटल कैविटी या दांत निकलना के नाम से भी जाना जाता है, बच्चों में एक आम समस्या है। बच्चों के दांतों में कैविटी होने का एक मुख्य कारण उनका टॉफी, चॉकलेट, कैंडी और बबल गम जैसी मीठी चीजों का लगातार सेवन करना है। कैविटी दांतों पर काले धब्बे या छेद के रूप में दिखाई देती है, जो क्षय का संकेत देती है। यदि आपके बच्चे के दांतों में कैविटी हो रही है, तो ऐसे कई घरेलू उपचार हैं जो समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। इस लेख में, हम बच्चों में दांतों की कैविटी से छुटकारा पाने के प्रभावी और प्राकृतिक तरीकों का पता लगाएंगे।
यह भी पढ़ें

दो-तिहाई लोग आवेश में करते हैं आत्महत्या, जब तनाव हो तो सबसे पहले करें ये काम



Salt Water Rinse नमक के पानी से कुल्ला करें

दांतों की कैविटी से निपटने का एक सरल और प्रभावी उपाय नमक के पानी से कुल्ला करना है। नमक के पानी में रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो मुंह में हानिकारक बैक्टीरिया के विकास को कम करने में मदद कर सकते हैं। कुल्ला तैयार करने के लिए एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच नमक मिलाएं। अपने बच्चे को निर्देश दें कि घोल को मुँह में डालें और थूक दें। नियमित रूप से सुबह और शाम नमक के पानी से कुल्ला करने से दांतों की सड़न को कम करने में मदद मिल सकती है।
“नमक पानी से कुल्ला करना मौखिक स्वच्छता बनाए रखने और दांतों में कैविटी को दूर रखने का एक प्राकृतिक और किफायती तरीका है।”

यह भी पढ़ें

Risk of heart attack : कमर की बढ़ती चर्बी से बढ़ सकती है हार्ट अटैक की आशंका



Garlic Paste for Tooth Cavity लहसुन का पेस्ट

लहसुन, जो अपने एंटीफंगल और जीवाणुरोधी गुणों के लिए जाना जाता है, का उपयोग दांतों की कैविटी को कम करने के लिए किया जा सकता है। लहसुन की एक कली को कुचलकर उसका पेस्ट प्रभावित दांत पर लगाएं। अपने बच्चे का मुँह पानी से धोने से पहले इसे कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। लहसुन का पेस्ट कैविटी पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने और मौखिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

Clove Oil for Tooth Cavity लौंग का तेल

दांतों की कैविटी के लिए लौंग का तेल एक और प्रभावी उपाय है। इसमें प्राकृतिक एनाल्जेसिक और जीवाणुरोधी गुण हैं जो दर्द को कम करने और कैविटी पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में मदद कर सकते हैं। लौंग के तेल में रुई डुबोकर प्रभावित दांत पर कुछ मिनट के लिए रखें। वैकल्पिक रूप से, आप लौंग को पीसकर पेस्ट बनाकर कैविटी पर लगा सकते हैं। लौंग का तेल अस्थायी राहत प्रदान करता है और आगे क्षय को रोकने में मदद करता है।
यह भी पढ़ें

पैरों की नसों में ब्लॉकेज से होता है कूल्हे, जांघ या पिंडली में दर्द



Neem Twig for Tooth Cavity नीम की टहनी

नीम, जिसे इंडियन लाइलैक के नाम से भी जाना जाता है, का उपयोग मौखिक देखभाल के लिए पारंपरिक चिकित्सा में सदियों से किया जाता रहा है। नीम की टहनियों में प्राकृतिक जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो दांतों की सड़न को कम करने में मदद कर सकते हैं। अपने बच्चे को प्रतिदिन कुछ मिनट के लिए नीम की एक टहनी चबाने का निर्देश दें। नीम में मौजूद रोगाणुरोधी यौगिक कैविटी पैदा करने वाले बैक्टीरिया से निपटने और स्वस्थ दांतों को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं।

Green Tea for Tooth Cavity हरी चाय

ग्रीन टी मौखिक स्वास्थ्य सहित अपने कई स्वास्थ्य लाभों के लिए जानी जाती है। इसमें कैटेचिन नामक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जिनमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं। अपने बच्चे को प्रतिदिन एक कप ग्रीन टी पीने के लिए प्रोत्साहित करें या इसे पीने के बाद माउथवॉश के रूप में उपयोग करें। ग्रीन टी दांतों में कैविटी पैदा करने वाले बैक्टीरिया के विकास को रोकने और समग्र मौखिक स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद कर सकती है।
यह भी पढ़ें

दांत के दर्द को न करें नजरअंदाज, बन सकता है कैंसर का कारण



Turmeric Paste for Tooth Cavity हल्दी का पेस्ट

हल्दी एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक और सूजन रोधी मसाला है जिसका उपयोग दांतों की कैविटी के इलाज के लिए किया जा सकता है। हल्दी पाउडर को पानी में मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें और इसे प्रभावित दांत पर लगाएं। पानी से धोने से पहले इसे कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। हल्दी के रोगाणुरोधी गुण बैक्टीरिया से लड़ने और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं, जिससे प्रभावित दांत में उपचार को बढ़ावा मिलता है।

Oil Pulling for Tooth Cavity तेल निकालना

ऑयल पुलिंग एक पारंपरिक आयुर्वेदिक अभ्यास है जिसमें बैक्टीरिया को दूर करने और मौखिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए मुंह में तेल डालना शामिल है। नारियल तेल का उपयोग आमतौर पर इसके रोगाणुरोधी गुणों के कारण तेल खींचने के लिए किया जाता है। अपने बच्चे को एक बड़ा चम्मच नारियल तेल मुंह में 10-15 मिनट तक घुमाने और फिर थूक देने का निर्देश दें। तेल खींचने से मुंह में बैक्टीरिया का भार कम करने में मदद मिल सकती है, जिससे दांतों की सड़न और कैविटी को रोका जा सकता है।
यह भी पढ़ें

माइग्रेन की है दिक्कत तो भूलकर भी ना करें ये काम , ऐसे करें बचाव



Calcium Rich Foods कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ

दांतों को मजबूत बनाए रखने और उनमें कैविटी को रोकने के लिए कैल्शियम से भरपूर आहार आवश्यक है। अपने बच्चे को दूध, दही, पनीर और पत्तेदार हरी सब्जियों जैसे कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ खाने के लिए प्रोत्साहित करें। कैल्शियम दांतों के इनेमल को मजबूत करने और दांतों को फिर से खनिजयुक्त बनाने में मदद करता है, जिससे वे सड़न के प्रति अधिक प्रतिरोधी बन जाते हैं। स्वस्थ दांतों को बढ़ावा देने और उनमें कैविटी को रोकने के लिए अपने बच्चे के आहार में इन खाद्य पदार्थों को शामिल करें।

Limit Sugary Foods चीनीयुक्त भोजन सीमित करें

दांतों में कैविटी को रोकने के लिए शर्करा युक्त खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों का सेवन कम करना महत्वपूर्ण है। चीनी मुंह में बैक्टीरिया को भोजन प्रदान करती है, जिससे एसिड उत्पादन और दांतों में सड़न होती है। अपने बच्चे के लिए कैंडी, चॉकलेट, सोडा और अन्य मीठी चीज़ों का सेवन सीमित करें। इसके बजाय उन्हें फल, सब्जियाँ और नट्स जैसे स्वास्थ्यवर्धक स्नैक्स चुनने के लिए प्रोत्साहित करें।
यह भी पढ़ें

छिपकलियों से बचाव के उपाय: इन प्राकृतिक उपायों से दुबारा घर में नहीं आएंगी छिपकलियां



Regular Dental Check-ups दांतों की नियमित जांच

जबकि घरेलू उपचार दांतों की कैविटी के प्रबंधन में प्रभावी हो सकते हैं, पेशेवर दंत चिकित्सा देखभाल की तलाश करना महत्वपूर्ण है। मौखिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए नियमित दंत जांच और सफाई आवश्यक है। दंत चिकित्सक शुरुआती चरण में कैविटी की पहचान कर सकते हैं और उचित उपचार प्रदान कर सकते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके बच्चे के दांत स्वस्थ और कैविटी-मुक्त हैं, दंत चिकित्सक के पास नियमित रूप से जाने का समय निर्धारित करें।
“याद रखें, रोकथाम हमेशा इलाज से बेहतर होती है। बच्चों में दांतों में कैविटी को रोकने के लिए अच्छी मौखिक स्वच्छता प्रथाओं और स्वस्थ आहार को प्रोत्साहित करें।”


बच्चों में दांतों की कैविटी को प्राकृतिक और घरेलू उपचारों की मदद से प्रभावी ढंग से प्रबंधित किया जा सकता है। नमक का पानी का कुल्ला, लहसुन का पेस्ट, लौंग का तेल, नीम की टहनियाँ, हरी चाय, हल्दी का पेस्ट, ऑयल पुलिंग, कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ, शर्करा वाले खाद्य पदार्थों को सीमित करना, और नियमित दंत जांच ये सभी कैविटी को रोकने और इलाज करने के लिए मूल्यवान दृष्टिकोण हैं। इन उपायों को अपने बच्चे की मौखिक देखभाल की दिनचर्या में शामिल करके, आप स्वस्थ दांतों और कैविटी-मुक्त मुस्कान को बढ़ावा दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें

अगर कम उम्र में हो रहे हैं बाल सफेद तो ये वजह हो सकती है, करें ये उपाय



डिसक्लेमरः इस लेख में दी गई जानकारी का उद्देश्य केवल रोगों और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के प्रति जागरूकता लाना है। यह किसी क्वालीफाइड मेडिकल ऑपिनियन का विकल्प नहीं है। इसलिए पाठकों को सलाह दी जाती है कि वह कोई भी दवा, उपचार या नुस्खे को अपनी मर्जी से ना आजमाएं बल्कि इस बारे में उस चिकित्सा पैथी से संबंधित एक्सपर्ट या डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें।

Hindi News/ Health / बच्चों में दांतों की कैविटी का सबसे अच्छा इलाज करने के घरेलू उपाय

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो