scriptTomato juice can kill typhoid fever bacteria, finds new study | टमाटर का रस मार सकता है टाइफाइड बुखार का बैक्टीरिया! शोध में बड़ा खुलासा | Patrika News

टमाटर का रस मार सकता है टाइफाइड बुखार का बैक्टीरिया! शोध में बड़ा खुलासा

locationजयपुरPublished: Feb 01, 2024 12:40:56 pm

Submitted by:

Manoj Kumar

टमाटर सबसे आसानी से मिलने वाली और सस्ती सब्जियों में से एक है, जो अपने एंटीऑक्सिडेंट और रोगाणुनाशक गुणों के कारण कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। हाल ही में हुए एक अध्ययन में, वैज्ञानिकों ने टमाटर के रस के स्वास्थ्य लाभों पर गहराई से विचार किया: यह साल्मोनेला टाइफी और पाचन और मूत्र मार्ग को प्रभावित करने वाले अन्य हानिकारक जीवाणुओं से लड़ सकता है।

tomato-juice.jpg
Tomato juice can kill typhoid fever bacteria
टमाटर एक सस्ती और आसानी से मिलने वाली सब्जी है, जो न सिर्फ स्वादिष्ट होती है बल्कि कई स्वास्थ्य लाभ भी देती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और रोगाणु नाशक तत्व पाए जाते हैं। हाल ही में हुए एक शोध में वैज्ञानिकों ने खोजा है कि टमाटर का रस टाइफाइड बुखार पैदा करने वाले बैक्टीरिया (Salmonella Typhi) को खत्म कर सकता है। ये बैक्टीरिया हमारे पाचन और मूत्र मार्ग को भी नुकसान पहुंचाते हैं।
यह शोध अमेरिकन सोसायटी फॉर माइक्रोबायोलॉजी की पत्रिका "माइक्रोबायोलॉजी स्पेक्ट्रम" में प्रकाशित हुआ है। शोधकर्ताओं ने पाया कि टमाटर का रस सैल्मोनेला टाइफी को खत्म कर सकता है। यह बैक्टीरिया खासतौर पर इंसानों को ही नुकसान पहुंचाता है और टाइफाइड बुखार पैदा करता है।
शोध के प्रमुख लेखक डॉ. जियोंगमिन सॉन्ग ने बताया, "हमारा मुख्य लक्ष्य टमाटर और टमाटर के रस के रोगाणु नाशक गुणों को आंतों के रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया, खासतौर पर सैल्मोनेला टाइफी के खिलाफ जांचना था। साथ ही, हम यह भी जानना चाहते थे कि ये गुण किन खास चीजों की वजह से मौजूद हैं।"
शुरुआती प्रयोगों में पाया गया कि टमाटर का रस सचमुच ही सैल्मोनेला टाइफी को खत्म कर सकता है। इसके बाद, शोधकर्ताओं ने टमाटर के जीनोम का अध्ययन किया और पाया कि इसमें रोगाणु नाशक पेप्टाइड्स मौजूद हैं। ये छोटे प्रोटीन बैक्टीरिया की सुरक्षा कवच जैसी झिल्ली को नष्ट कर देते हैं, जिससे बैक्टीरिया कमजोर होकर मर जाते हैं। चार संभावित रोगाणु नाशक पेप्टाइड्स में से दो को सैल्मोनेला टाइफी के खिलाफ कारगर पाया गया।
अंत में, शोधकर्ताओं ने टमाटर के रस की क्षमता का परीक्षण पाचन और मूत्र मार्ग को नुकसान पहुंचाने वाले अन्य बैक्टीरिया के खिलाफ भी किया।

इस शोध से पता चलता है कि टमाटर का रस न सिर्फ सैल्मोनेला टाइफी बल्कि उसके खतरनाक रूपों और पाचन व मूत्र मार्ग को नुकसान पहुंचाने वाले अन्य बैक्टीरिया को भी खत्म कर सकता है। टमाटर के रस में पाए जाने वाले रोगाणु नाशक पेप्टाइड्स बैक्टीरिया की सुरक्षा झिल्ली को नष्ट करके यह काम करते हैं।
शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि इस खोज से लोगों, खासकर बच्चों और किशोरों में टमाटर और अन्य फल-सब्जियों का सेवन बढ़ेगा। इससे उनका स्वास्थ्य बेहतर होगा और रोगाणुओं से होने वाली बीमारियों का खतरा कम होगा।

ट्रेंडिंग वीडियो