scriptIt is okay to be serious on UFOs, do not underestimate the market | यूएफओ पर गंभीर होना ठीक, बाजार को भी कम न समझें | Patrika News

यूएफओ पर गंभीर होना ठीक, बाजार को भी कम न समझें

इंसानों की अनुकूलन क्षमता की तरह बाजारों की क्षमता को भी कम नहीं आंकना चाहिए, 'एलियन' के साथ भी वॉल स्ट्रीट पर बिजनेस जारी रहेगा ।
अधिकांश लोग भरोसा नहीं करते, पर एलियन के विचार के आदी हैं।

नई दिल्ली

Published: May 12, 2021 07:52:51 am

टाइलर कोवेन, स्तम्भकार

अंतरिक्ष और पृथ्वी के बीच क्या कहीं एलियन का अस्तित्व है? सदियों से अनसुलझे इस सवाल को अमरीकी रक्षा विभाग पेंटागन हाल ही तब सुर्खियों में ले आया जब उसकी ओर से पुष्टि की गई कि यूएफओ यानी 'अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट' के हाल ही लीक हुए फोटो व वीडियो 2019 में नौसेना पायलटों ने ही खींचे थे। अब जबकि पेंटागन यूएफओ को गंभीरता से ले रहा है तो जरूरी है कि इस कहीं ऐसा तो नहीं कि अमरीका इस अज्ञात अद्भुत खगोलीय विषय के कुछ और सांसारिक पहलुओं पर भी विचार किया जाए - जैसे कि, बाजार के लिए इसके क्या मायने होंगे।

यूएफओ पर गंभीर होना ठीक, बाजार को भी कम न समझें
यूएफओ पर गंभीर होना ठीक, बाजार को भी कम न समझें

एलियन और यूएफओ से संबंधित आंकड़ों से कोई निष्कर्ष निकले, ऐसा संभवत: नहीं होगा, पर यदि एलियन-यूएफओ संबंधी घटनाएं घटती रहीं तो कौन-सी कीमतें बदलेंगी? या, बाजार की शब्दावली में सवाल होना चाहिए - अल्फा तारामंडल में अल्फा कहां है? मान लेते हैं कि अमरीकी सरकार अपने वादे के मुताबिक यूएफओ के बारे में जानकारी साझा करने का निर्णय करे और कई सीनेटर प्रेस कांफ्रेंस कर कहें कि एलियन की मौजूदगी से इनकार नहीं किया जा सकता। ऐसा होना बहुत मुश्किल है। हो सकता है इससे और कुछ हो न हो, वीआइएक्स (अस्थिरता सूचकांक) बढ़ सकता है, क्योंकि सटोरिये मान सकते हैं कि इस घोषणा के पीछे और बहुत कुछ है। लेकिन जैसे ही निवेशकों को अहसास होगा कि कहीं कोई 'हरित प्राणी' यानी एलियन मौजूद नहीं है और सीनेटर भ्रमित हैं तो वीआइएक्स संभवत: सामान्य स्तर पर लौट आएगा।

अगर सच में एलियन हमारे बीच हैं तो वे दुनिया में घट रही घटनाओं पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाने या उन्हें प्रभावित नहीं करने को लेकर दृढ़ प्रतीत होते हैं। वे न तो हमें कोई क्षति पहुंचाते हैं, न ही हमारी रक्षा करते हैं, जैसे कि कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का इलाज नहीं सुझाते, विश्व शांति में कोई योगदान नहीं देते या गणित की जटिल पहेली गोल्डबाक्स कनजेक्चर को सिद्ध नहीं करते। अगर एलियन हैं और उनके वाहन भी हैं तो नौसेना के पायलटों के नजदीक आने पर वे गायब हो जाते हैं। निस्संदेह निवेशक इस बात से अनजान हैं कि ये एलियन ड्रोन शायद ही उन पर हमेशा नजर रखने वाले हों। अगर इन पर हमारी सैन्य प्रकृति, टीवी शोज का जरा भी असर पड़ता तो वे हमें भूल-भुलैया में उलझा देते। इससे उबरने में सोना या बिटकॉइन आपके काम नहीं आएंगे बल्कि मेरा प्रमुख अनुमान है कि एलियन यूएफओ अमरीकी डॉलर के लिए बुलिश यानी अमरीकी डॉलर की कीमत बाजार में बढ़ाने वाले साबित होंगे। कारण चाहे जो हो, अमरीकी सरकार यूएफओ के अद्भुत विषय से सबसे नजदीक से संबद्ध है।

हो सकता है निकट भविष्य में एलियन के वजूद पर ही विभिन्न मिनी-मार्केट पैदा हो जाएं। ऐसा भी हो सकता है उनके नाम पर धर्म गढ़ दिया जाए, उनकी पूजा होने लगे और एलियन टी-शर्ट पहने लोग आपको अपने आस-पास घूमते नजर आ जाएं। एलियन के नाम पर पर्यटन स्थल विकसित कर लिए जाएं, जहां लोगों को उनकी एक झलक की उम्मीद हो! एलियन के अस्तित्व को मजबूती देने वाले और नॉन-फंगिबल टोकन (ब्लॉकचेन पर क्रिप्टो टोकन) बाजार में आ जाएं तो क्या कह सकते हैं? हो सकता है हॉलीवुड एलियंस पर नई अंतरिक्ष फिल्में बना डाले। इन्हें देखना दिलचस्प होगा, वे हमारे दिलो-दिमाग पर छाएंगे भी, पर साथ ही हमारी दुनिया, हमारी रोजमर्रा की चिंताओं से अलग दुनिया में रहते हुए। हम में से ज्यादातर एलियन की मौजूदगी के विचार के आदी हैं, बिना इनके अस्तित्व पर भरोसा किए। ऐसा ही अमरीकियों के साथ भी है। स्पेस प्रोग्राम और साइंस फिक्शन में ये रुचि तो पैदा करते हैं, पर न तो जीवन के अधिकांश पहलू इससे प्रभावित होते हैं और न ही बाजार।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Sharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावSchool Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीSatna: कलेक्टर की क्लास में मिलेगी UPSC की निःशुल्क कोचिंगकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशDwane Bravo ने 'पुष्पा' गाने पर दी डेविड वॉर्नर को टक्कर, खुद को कमेंट करने से रोक नहीं पाए अल्लू अर्जुन

बड़ी खबरें

RRB-NTPC Result : गुस्साए छात्रों का बवाल जारी, गया में पैसेंजर ट्रेन में आग लगाई और स्टेशन पर किया पथरावRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्ररेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितकिरन रिजिजू का बड़ा बयान, अरुणाचल प्रदेश से लापता युवा को जल्द रिहा करेगा चीनUP Assembly Elections 2022 : आरपीएन सिंह-जितिन प्रसाद पर जमकर बरसे अजय लल्लू, कहा ऐशोआराम करने वालों की कांग्रेस को जरूरत नहींIPL 2022: शिखर धवन को खरीद सकती हैं ये 3 टीमें, मिल सकते हैं करोड़ों रुपए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.