script हर 9वें व्यक्ति में हो रही कैंसर होने की आशंका, थर्ड स्टेज में भी हो सकता है ठीक ? | Every 9th person is likely to get cancer | Patrika News

हर 9वें व्यक्ति में हो रही कैंसर होने की आशंका, थर्ड स्टेज में भी हो सकता है ठीक ?

locationइंदौरPublished: Feb 05, 2024 02:32:38 pm

Submitted by:

Ashtha Awasthi

-धूम्रपान 13, मोटापा 12 प्रकार के कैंसर का कारण
-कुल मौतों में 27% तंबाकू-शराब से हुए कैंसर से
-आईएमए कैंसर एवं तंबाकू नियंत्रण समिति के राष्ट्रीय चेयरमैन ने दी जानकारी

2_3.jpg
cancer

इंदौर। भारत में हर 9वें व्यक्ति को अपने जीवनकाल में कैंसर होने की आशंका है। इसमें फेफड़े और स्तन कैंसर प्रमुख हैं। यह जीवनशैली की बीमारी भी कही जा सकती है, क्योंकि धूम्रपान से 13, शराब से 7 और मोटापे से 12 प्रकार के कैंसर का खतरा होता है। आईएमए ने 2030 तक सर्वाइकल कैंसर को खत्म करने के लिए डब्ल्यूएचओ के साथ मिलकर काम करने का संकल्प लिया है। आईएमए इंदौर भी इस विषय पर काम कर रहा है। यह बात आईएमए कैंसर एवं तंबाकू नियंत्रण समिति के राष्ट्रीय चेयरमैन डॉ. दिलीप आचार्य ने कही।

डॉ. आचार्य ने बताया, कैंसर से होने वाली कुल मौतों में से 27% तंबाकू व शराब के कारण हुए कैंसर से होती है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद राष्ट्रीय कैंसर रजिस्ट्री के अनुसार, वर्ष 2022 में भारत में लगभग 1461427 कैंसर मरीज पाए गए।

मतलब एक लाख लोगों में से 100.4 लोग कैंसर पीड़ित हैं। एक अनुमान के अनुसार, 2025 तक इसमें लगभग 12.8 % की वृद्धि होगी। उन्होंने बताया, 15 वर्ष से अधिक उम्र की बालिकाओं को एचपीवी टीका लगाया जाएगा। इससे सर्वाइकल कैंसर को नियंत्रित करने में मदद करने मिलेगी। आइएमए सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम व जांच के लिए अभियान भी चलाएगा।

थर्ड स्टेज में पता चला, सर्जरी और तीन कीमो में हो गया ठीक

सेंटपॉल स्कूल खंडवा की प्रिंसिपल अनीता पिल्लै को 61 साल की उम्र में पता चला कि उन्हें सर्वाइकल कैंसर है। इलाज से ठीक हो गईं। उनका कहना है कि कैंसर से घबराएं नहीं, इलाज से ठीक हो जाता है। अनीता कहती हैं कि मैं महापौर के चुनाव का प्रचार कर रही थी, अचानक पेट में दर्द उठा। इंदौर में जांच कराई तो पता चला कि ओवरियन कार्सिनोमा (सर्वाइकल अंडाशय का कैंसर) नाम का कैंसर है। थर्ड स्टेट पर पहुंच गया है।

फरवरी 2022 में इलाज के लिए बॉम्बे गई। चिकित्सकों ने गठान की सर्जरी की। तीन बार कीमो किया। पहली बार जांच में कैंसर 89.5 पाइंट पर था। इलाज के बाद 16.5 पर आ गया। नॉर्मल 35 पाइंट पर होता है। महिलाओं को संदेश देना चाहती हूं कि वह घबराएं नहीं, इलाज से ठीक हो जाता है। 30 साल की उम्र के बाद चेकअप कराते रहें। वजन संतुलित रखें। हाई प्रोटीन युक्त आहार में हरी सब्जी पत्तेदार सब्जियों का उपयोग करेें। कैंसर से डरना बिल्कुल भी नहीं। मेरे पति ओम पिल्लै ने सेवाएं दी। परिवार व दोस्तों के सहयोग से ठीक हो गई हूं।

करें बचाव

● शुद्ध व ताजा भोजन करें।

● एक जगह बैठे रहने के बजाय सक्रिय रहें।

● धूम्रपान, तंबाकू का उपयोग बंद करें।

● शराब का सेवन बंद करें।

● कीटनाशकों सहित हानिकारक रसायनों से बचें।

● साबूत अनाज, सब्जियां, फलों का सेवन।

● फास्ट फूड, मांस, चीनी व मीठे पेय पदार्थों का कम सेवन करें।

● कैंसर के लक्षण मिलने पर डॉक्टर को दिखाएं।

ट्रेंडिंग वीडियो