scriptRajwada became the favorite place of foreigners | विदेशियों की फेवरेट जगह बनी भारत की ये विरासत, रोज आ रहे हैं 1200 टूरिस्ट | Patrika News

विदेशियों की फेवरेट जगह बनी भारत की ये विरासत, रोज आ रहे हैं 1200 टूरिस्ट

locationइंदौरPublished: Feb 12, 2024 10:04:49 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi

इंदौर। शहर का हृदय स्थल राजबाड़ा शहरवासियों या फिर यूं कहें कि देशवासियों के मन ही नहीं, बल्कि विदेशियों के मन भी बसा है। यहां बड़ी संख्या में विदेशी नागरिक इस धरोहर को देखने आते हैं।

unnamed.jpg
rajwada

राजबाड़े की सुंदर छवि को अपने मोबाइल के कैमरे में कैद करते हैं। जगह-जहग सेल्फी लेते और पिक्चर क्लिक कराते हैं। पिछले 5 महीनों में लाखों की संख्या में भारतीय नागरिकों और करीब 200 विदेशियों ने राजाबाड़ा और लाल किला का भ्रमण किया है।

राजबाड़ा के डिप्टी डायरेक्टर प्रकाश परांजपे ने बताया, हर दिन 1 हजार से 1200 के बीच में पर्यटक राजबाड़ा का भ्रमण करने आते हैं। लालबाग में रिनोवेशन का काम होने के कारण अभी वहां जाने वाले पर्यटकों की संख्या कम है। लालबाग पैलेस में काम कराने के लिए करीब 9.45 लाख रुपए मंजूर हुए थे, जिसमें करीब 7 करोड़ रुपए के काम हो चुके हैं। बची राशि होल्ड पर रखी गई, जिससे क्षतिग्रस्त बाउंड्रीवॉल के अलावा भी और काम किए जाएंगे।

राजबाड़े पर नहीं है गाइड की सुविधा

डायरेक्टर ने माना कि पर्यटकों को गाइड करने की व्यवस्था नहीं है। लालबाग में ऑडियो गाइड स्टाल हो चुका है। राजबाड़े पर भी इस सिस्टम को लागू करने की योजना बनाई जा रही है। राजबाड़े का कुछ ही हिस्सा खोला गया है। पूरा तैयार होने के बाद इसे पूरा खोला जाएगा। विकलांगों के लिए लिफ्ट जैसी सुविधाएं हो जाएंगी। इसके बाद पर्यटकों को स्कैन करके गाइड की सुविधा मिलेगी। यदि विभाग ने गाइडों की नियुक्ति की तो वो सुविधा भी मिलेगी।

पिछले 5 महीने के राजबाड़ा घूमने आए पर्यटकों के आंकड़े

माह भारतीय नागरिक विदेशी नागरिक
सितंबर-23 30,159 27
अक्टूबर-23 28,435 23
नवंबर-23 26,357 40
दिसंबर-23 48,531 56
जनवरी-24 41,733 53

पुरानी धरोहर को संजोकर रखना बड़ी बात

हरियाणा से आए अभिषेक चौहान ने बताया, फैमली के साथ बाबा महाकाल के दर्शन करने उज्जैन आए थे। जिस होटल में ठहरे थे वहां से बताया गया कि राजबाड़ा और 56 दुकान विजिट जरूर कीजिए। रात को 56 दुकान घूमने गए और इसके बाद रविवार को राजबाड़ा घूमने आए हैं। यहां का दृश्य बहुत ही अच्छा है। यहां पुरानी धरोहर को संजोकर रखा गया है, यह बड़ी बात है।

शहरवासियों का बहुत सहयोग मिला, दूसरे राज्यों में करते हैं मिस गाइड

गौरव शर्मा ने इंदौर और यहां के लोगों की तारीफ करते हुए बताया, शहर और यहां के लोग बहुत अच्छे हैं। अधिकांश शहरों में होता है कि बाहर से आने वाले लोगों को मिसगाइड किया जाता है। ऑटो चालक हो या रिक्शा चालक, सब अधिक पैसे बताते हैं, लेकिन यहां के जितने भी लोग हैं, सभी ने बहुत अच्छा सहयोग किया है। हमें कहीं पर भी ऐसा नहीं लगा कि हम दूसरे शहर में हैं।

यहां जैसी स्वच्छता और कहीं नहीं

विशाखा शर्मा ने 56 दुकान और स्वच्छता को लेकर तारीफ करते हुए कहा, ऐसी स्वच्छता हमें किसी और शहर में देखने को नहीं मिलती है। यहां के लोग स्वच्छता के प्रति बहुत जागरूक हैं। 56 दुकान में खाने के बाद टिशू पेपर मांगा तो नहीं मिला, यह कहकर मना कर दिया गया कि जगह-जगह यूज करके इसे फेंकेंगे तो गंदगी फैलेगी। पहली बार ही हम लोग इंदौर आए हैं।

मन में स्वच्छता को लेकर जा रहे, अपने राज्य को भी स्वच्छ बनाने की करेंगे कोशिश

आरती ने बताया, फैमली के साथ उज्जैन घूमने आए थे। ट्रेन दो घंटे बाद होने के कारण गूगल में सर्च किया तो उसमें राजबाड़ा और कांच मंदिर के बारे में जानकारी मिली। हमने देखा तो यह बहुत अच्छी जगहे हैं। यहां की स्वच्छता का तो कोई जवाब ही नहीं है। हम सभी लोग यहां से अपने मन में स्वच्छता को लेकर जा रहे हैं। अपने कोशिश करेंगे कि ऐसा ही हमारा राज्य भी क्लीन हो।

ट्रेंडिंग वीडियो