बाइक टैक्सी रेपीडो को इसलिए किया प्रतिबंध

आरटीओ ने जारी किया ओला, उबर सहित 6 कंपनियों को नोटिस

इंदौर. न्यूज टुडे. इंदौर आरटीओ ने एप बेस्ड बाइक व टैक्सी सेवाएं देने वाली कंपनियों को नोटिस जारी कर तलब किया है। दरअसल इन ये कंपनियां उन नियमों का पालन नहीं कर रही हैं जिन नियमों के हवाला देकर स्वीकृति प्रदान की गई थी। इस संबंध में शहर की आम जनता द्वारा लगातार आरटीओ अफसरों को शिकायत की जा रही थी। इधर, इन एप बेस्ड सेवाओं के विरोध में मंगलवार को ऑटो चालकों ने कलेक्टर और एसएसपी कार्यालय में ज्ञापन सौंपा था। इस ज्ञापन के बाद आरटीओ ने कल शाम को ओला केब्स, ऊबर इंडिया टेक्नोलॉजी प्रालि, जुगनू, एनबीए टैक सोल्यूशन प्रालि, टे्रवल लिंक और रेपीडो बाइक टैक्सी को नोटिस जारी कर आरटीओ तलब किया है।

आरटीओ जितेंद्र सिंह रघुवंशी ने अपने नोटिस में कहा है कि एप बेस्ड टैक्सी व बाइक राइड आदि सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। इन सेवाओं के एवज में आम यात्रियों से जो शुल्क लिया जा रहा है वह आरटीओ द्वारा शुल्क निर्धारण से अलग है। जिसका पालन नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में आम जनता द्वारा लगातार शिकायतें आ रही हैं।

स्कीम ही बदल दी

रेपीडो जैसी सेवाओं के अंतर्गत यात्रियों को यहां से वहां छोडऩे की सेवाएं दी जा रही हैं। जिसमें चालक द्वारा बाइक पर यात्री को यहां से वहां छोड़ा जाता है। नोटिस में कहा गया है कि रेंट ए मोटरसाइकिल स्कीम के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति निर्धारित नियमों का पालन कर प्रचालक से बाइक व स्कूटर किराए पर ले सकता है और स्वयं चला सकता है, लेकिन रेपीडो व इसी तरह अन्य कंपनियों ने स्कीम को ही बदल दिया। नोटिस में इस सेवा को तत्काल बंद करने के लिए कहा गया है। आरटीओ जितेंद्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि अगर इस संबंध में नियमों पालन नही ंकिया जाता है तो ट्रेड सर्टिफिकेट निरस्त कर दिया जाएगा।

Sanjay Rajak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned