नरकंकाल के बाद इंदौर के अस्पताल में एक और गंभीर मामला, चूहाें ने कुतरा बुजुर्ग का शव

कलेक्टर मनीष सिंह ने शव के साथ हुई अमानवीय घटना पर मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं जांच एडीएम अजय देव शर्मा करेंगे।

By: Faiz

Updated: 22 Sep 2020, 05:30 PM IST

इंदौर/ मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर स्थित प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी एमवाय अस्पताल की मर्चुरी में अंतिम संस्कार के इंतजार में नरकंकाल बने शव और बॉक्स में बच्ची का शव मिलने का मामला अभी थमा भी नहीं था कि, शहर के ही एक अन्य कोविड अस्पताल से मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। शहर के अन्नापूर्णा क्षेत्र स्थित यूनिक अस्पताल में तीन दिन पहले एक 87 वर्षीय बुजुर्ग इलाज के लिए भर्ती हुए थे, रविवार की रात उनकी मौत हो गई। सोमवार को शव लेने पहुंचे परिवार ने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगाया कि, अस्पताल द्वारा लापरवाहीपूर्वक शव को रखे जाने के चलते कई जगह से चूंहों ने कुतर दिया।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP By-Election : उपचुनाव में होगी सचिन पायलट की एंट्री, सिंधिया के गढ़ में करेंगे चुनाव प्रचार


कलेक्टर ने दिये मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

मामले को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर मनीष सिंह ने शव के साथ हुई अमानवीय घटना पर मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए हैं। मामले की जांच एडीएम अजय देव शर्मा को सौंपी गई हैं। हालांकि, ये बात जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगी कि, आखिर कार बुजुर्ग के शव के साथ हुआ क्या है। हालांकि, सामने से देखने पर शव चूहों द्वारा कुतरा गया ही मालूम होता है। लेकिन, पत्रिका स्वयं इसकी पुष्टि नहीं करता।

 

पढ़ें ये खास खबर- बेकाबू हुआ कोरोना : 24 घंटे में सामने आए 393 नए प़जिटिव, अब तक 499 की मौत


परिवार ने की चूहों के कुतरने की पुष्टि

शहर के इतवारिया बाजार में रहने वाले 87 वर्षीय नवीन चंद जैन को सांस लेने में तकलीफ थी, जिसके चलते उन्हें 17 सितंबर को शहर के यूनिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। परिजन का कहना है कि, बुजुर्ग का इलाज कोविड वार्ड में भर्ती करके किया जा रहा था। रविवार देर रात करीब 3 बजे अस्पताल से सूचना दी गई कि उनकी मौत हो गई है। हमें बताया गया कि, निगम की गाड़ी उन्हें अंतिम संस्कार के लिए ले जाएगी। इसके बाद हम दोपहर 12 बजे अस्पताल पहुंचे तो हमने देखा कि, शव को जगह-जगह चूहों द्वारा कुतरा हुआ है। इसपर परिवार ने अस्पताल प्रबंधन से इसपर बात की तो, उन्होंने अपनी गलती कबूल की।

 

पढ़ें ये खास खबर- पाबंदी के बावजूद पिकनिक मनाने वाटर फॉल जा रहे युवा नाले के तेज बहाव में फंसे, वीडियो में देखें कैसे बची जान


थमा दिया 1 लाख का बिल, शव पर गंभीर घाव थे

मृतक की परिजन प्राची जैन के मुताबिक, जब हम अस्पताल पहुंचे तो अस्पताल द्वारा हमें एक लाख रुपये का बिल थमाकर जमा करने को कहा, जब हमारी ओर से रकम जमा की गई, इसके बाद हमें शव सौंप दिया गया। लेकिन, शव की हालत देखकर हमारे होश उड़ गए। शव के चेहरे और पैर पर गंभीर घाव थे। अस्पताल प्रबंधन ने शव को कहीं ऐसी जगह पटक दिया था, जहां चूहों ने उसे कुतर दिया। प्राची के मुताबिक, शव की आंखे बुरी तरह कुतरी हुई थीं।

 

पढ़ें ये खास खबर- आदेश : शहर में रात साढ़े 10 से सुबह 6 बजे तक घर से बाहर निकलने पर प्रतिबंध, रात 8 बजे बंद होंगी ये दुकानें


आक्रोशित परिवार ने किया हंगामा

अपने घर के बड़े बुजुर्ग के शव की ये हालत देखकर आक्रोशित हुए परिजन ने शव को अस्पताल के बाहर रखकर हंगामा कर दिया। इस दौरान पुलिस भी मौके पर पहुंच गई, जिसने काफी देर मृतक के परिजन को समझाइश देने का प्रयास किया, लेकिन परिवार ने पुलिस के समक्ष सवाल रखा कि, उन्हें बताया जाए कि, आखिरकार इस गलती का जिम्मेदार कौन है। हालांकि, इस दौरान काफी देर बीत जाने के बावजूद भी अस्पताल की ओर से किसी जिम्मेदार ने आकर परिजन को इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी।

 

पढ़ें ये खास खबर- एक बार फिर CM हाउस और राजभवन में कोरोना की दस्तक, रविवार को राजधानी में मिले कोरोना के 274 पॉजिटिव

नरकंकाल के बाद इंदौर के अस्पताल में एक और गंभीर मामला, चूहाें ने कुतरा बुजुर्ग का शव

शाम को हमारी बात हुई बहुत ठीक थे पर चंद घंटों में ऐसा क्या हो गया- परिजन

परिवार के एक अन्य सदस्य के मुताबिक, अस्पताल द्वारा मरीज को भर्ती करने के बाद हमें उनसे मिलने नहीं दिया गया। रविवार शाम 4 से 5 के बीच तो हमारी उनसे फोन पर बात हुई, इस दौरान वो बहुत स्वस्थ लहजे में बात कर रहे थे और रिकवर होने का भी बता रहे थे, लेकिन रात करीब 8 बजे अस्पताल द्वारा हमें बुलाकर कहा गया कि, उनकी हालत गंभीर है और हमसे एक कागज पर साइन भी करवा लिए। इसके बाद देर रात करीब 3 बजे हमें उनकी मौत की सूचना दी गई। परिवार का कहना है कि, अगर अस्पताल की ओर शव रात में ही ले जाने दिया जाता तो ये घटना नहीं घटती। चार घंटे में ऐसा कैसे हो सकता है कि, चूहा इस तरह से बॉडी कुतर दे। इसमें अस्पताल की गंभीर लापरवाही है।

 

चूहों के बॉडी कुतरने वाले मामले में वीडियो वायरल, यहां देखें...

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned