भाजपा नेता सुमन ने मालवीय नगर थाना घेरा, तो कांग्रेस नेता अर्चना ने कमिश्नरेट

मालवीय नगर में आग की राजनीतिक लपटें दूसरे दिन भी सुलगती रही, अब भाजपा सोमवार सुबह 11 बजे कमिश्नरेट का घेराव करेगी, उधर, अर्चना शर्मा के पक्ष ने भी दर्ज मारपीट और धमकी देने की कराई रिपोर्ट

मुकेश शर्मा / जयपुर। मालवीय नगर ( Malviya Nagar ) में आधा दर्जन कियोस्कों में लगी आग की राजनीतिक लपटें दूसरे दिन शुक्रवार को भी सुलगती रही। भाजपा नेता और कार्यकर्ता सुबह दस बजे मालवीय नगर थाने पर जुटने शुरू हो गए। सुमन शर्मा ( Suman Sharma ) के नेतृत्व में मालवीय नगर थाना परिसर में एसएचओ को निलम्बित करने की मांग को ले धरने पर बैठ गए। एडिशनल पुलिस कमिश्नर अशोक गुप्ता मौके पर पहुंचे। उन्होंने भाजपा नेताओं से बातचीत की, लेकिन भाजपा नेता एसएचओ को निलम्बित करने की मांग पर अड़े रहे। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने निलम्बित जैसी घटना नहीं होने का हवाला दे इनकार कर दिया।

मालवीय नगर भाजपा के मीडिया प्रभारी जगदीश खत्री ने बताया कि करीब सवा दो बजे भाजपा नेताओं ने आगे की रणनीति बनाने और सोमवार सुबह 11 बजे पुलिस कमिश्नरेट कार्यालय का घेराव करने की चेतावनी दे धरना समाप्त कर दिया। एडिशनल पुलिस कमिश्नर अशोक गुप्ता ने बताया कि थाने पर प्रदर्शन करने वालों को आश्वासन दिया कि दर्ज मुकदमे की निष्पक्ष जांच होगी। हालांकि लोग एसएचओ के निलम्बन की मांग पर अड़े थे। बाद में प्रदर्शन करने वाले लोग धरना समाप्त कर चले गए।

इधर, पुलिस कमिश्नर से मिले कांग्रेसी

भाजपा नेता मालवीय नगर थाने पर धरना दे रहे थे, तभी कांग्रेस नेता अर्चना शर्मा ( Archana Sharma ) बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस कमिश्नरेट पहुंची। पुलिस कमिश्नर ( Police Commissioner ) आनंद श्रीवास्तव ( Anand Srivastava ) से मुलाकात कर फेसबुक पर उनको दी गई धमकी की जानकारी दी। साथ में कुछ कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की। कमिश्नर श्रीवास्तव ने अर्चना शर्मा व कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को निष्पक्ष कार्रवाई का अश्वासन दिया। अर्चना शर्मा ने कहा कि खुलेआम सोशल मीडिया पर उनको धमकी दी जा रही है। भाजपा नेता प्रतिद्वंद्वी राजनीति नहीं कर दुश्मनी वाली राजनीति कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : विधानसभा में गूंजा मालवीय नगर लाठीचार्ज मामला, दोषी पुलिस अधिकारियों के निलंबन की मांग

Show More
pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned